विकास के नए-नए कीर्तिमान स्थापित कर रहा है जशपुर जिला : डॉ. रमन सिंह

विकास के नए-नए कीर्तिमान स्थापित कर रहा है जशपुर जिला : डॉ. रमन सिंह

Anil Kumar Srivas | Publish: Sep, 07 2018 07:29:03 PM (IST) Jashpur Nagar, Chhattisgarh, India

प्रवास: अटल विकास यात्रा के दूसरे चरण के दूसरे दिन जशपुर के बगीचा पहुंचे मुख्यमंत्री

जशपुुरनगर/बगीचा. अटल विकास यात्रा के दूसरे चरण के दूसरे दिन अपने निर्धारित समय से ठीक एक घंटे विलंब से दोपहर 12:10 बजे जशपुर जिले के आदिवासी और कोरवा आहुल्य क्षेत्र बगीचा पहुंचे मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह ने कहा है कि कभी प्रदेश के पिछड़े जिले में शुमार जशपुर ने पिछले कुछ सालों में जशपुर जिला विकास के नए-नए कीर्तिमान स्थापित कर रहा है जिसमें बगीचा क्षेत्र का महत्वपूर्ण योगदान रहा है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि शिक्षा और आधारभूत सेवाओं में जिले में सराहनीय कार्य हुए हैं तेजी से विकास के दम पर जशपुर प्रदेश और देश भर में अपनी अलग पहचान बनाने में सफल हुआ है, जशपुर तेजी से आगे बढा है आज जिले के गांव गांव तक सडक़ और बिजली पहुंचाने का काम किया जा रहा है, अकेले उज्जवला योजना के तहत जिले की 1 लाख 30 हजार हितग्राही महिलाओं को गैस सिलेण्डर प्रदान किया गया है जिले में आवास योजना के तहत 36 हजार लोगों को घर प्रदान किया गया है। जशपुर जिले ने लोगों को रोजगार से जोडऩे के लिए कौशल उन्नयन के मामले में एक कीर्तिमान स्थापित किया है जशपुर में अपनी प्राकृतिक संसाधन और क्षमता है कि और जिला तेजी से आगे बढ रहा है।
प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने यह विचार गुरूवार को जिले के जनपद पंचायत मुख्यालय बगीचा के खेल मैदान में आयोजित ’अटल विकास यात्रा’ में व्यक्त किए। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर जिले को 138 करोड़ 23 लाख रुपए से अधिक के विकास कार्या की सौगात दी। इनमें 65 करोड़ 98 लाख की लागत के 61 विभिन्न निमार्ण कार्यों का भूमिपूजन एवं 56 करोड़ 4 लाख की लागत के 284 विभिन्न निर्माण कार्यों का लोकार्पण और विभिन्न योजनाओं के तहत 46 हजार 911 हितग्राहियों को 16 करोड़ 20 लाख रुपए की राशि की सामग्री वितरित की गई।
जशपुर ने शिक्षा में लगाई ऊंची छलांग
सीएम रमन सिंह ने कहा कि कभी विकास में पीछे कहे जाने वाला जशपुर जिला आज विकास के अनेक क्षेत्रों में आगे हैं। जशपुर जिले के बच्चों ने भी अपनी प्रतिभा का परिचय दिया है, जिससे वे मेडिकल कॉलेज, आईआई.टी और एनआईटी में अध्ययन कर रहें हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि जशपुर जिले के बच्चों ने कौशल उन्नयन के क्षेत्र में भी अच्छा कार्य किया है जिससे वे देश के अन्य राज्यों में भी रोजगार प्राप्त कर रहें हैं। उन्होंने कहा कि जशपुर जिले में कुपोषण दर कम करने की दिशा में भी अच्छा कार्य किया गया है और कुपोषण दर जो पहले 43 प्रतिशत था वह अब घटकर 27 प्रतिशत हो गया है। इसी तरह टीकाकरण और संस्थागत प्रसव के क्षेत्र में भी अच्छा कार्य हुआ है।
एकलबत्ती का 100 रुपए प्रतिमाह बिल
उन्होंने बताया कि 40 यूनिट से अधिक बिजली खर्च करने वाले 12 लाख लोगों को राहत देने का निर्णय लिया गया है, जिससे उन्हें अब केवल 100 रुपए प्रतिमाह बिजली का भुगतान करना होगा। उन्होंने बताया कि 2500 से अधिक सोलर पंप स्थापित करने वाला जशपुर जिला है।

लोगों को मिलेगा सौभाग्य योजना का लाभ
मुख्यमंत्री डॉ.सिंह ने कहा कि सौभाग्य योजना के तहत प्रदेश के 7 लाख 40 हजार घरों में बिजली पहुंचाई जाएगी और कोई मजरा-टोला तथा पारे विद्युत विहीन नहीं रहेंगे। उन्होंने कहा कि सौभाग्य योजना का सबसे ज्यादा लाभ जशपुर जैसे पहाड़ी क्षेत्र के लोगों को मिलेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि तेंदूपत्ता का संग्रहण दर पहले 450 रूपये था उसे बढ़ाकर 2500 रूपये कर दिया गया हैं। तेंदूपत्ता संग्राहकों को बोनस भी दिया जाता है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा इस वर्ष धान का समर्थन मूल्य 200 प्रति क्विंटल बढ़ाया गया है। जिससे धान का समर्थन मूल्य 1700 से अधिक हो गया है तथा 300 रुपए बोनस प्रति क्विंटल दिया जाएगा। मुख्यमंत्री डॉ.सिंह ने कहा कि आगामी 1 अक्टूबर से समर्थन मूल्य पर धान की खरीदी पूरी हो जायेगी और इसके साथ ही और धान बोनस भी किसानों को मिलना शूरू हो जाएगा।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned