उदयपुर में मिलीं जशपुर से हीरोइन बनने निकली नाबालिग बच्चियां, ऑटो चालक ने पुलिस को दिया सटीक सुराग

सीतापुर से इन बच्चियों की एक सहेली ने उनके घर वालों को इन नाबालिग बच्चियों के दिल्ली से बस के द्वारा मुंबई की यात्रा पर निकल जाने की सूचना दी। बगीचा पुलिस ने सीतापुर की उस सहेली से संपर्क किया जिस नंबर से नाबालिग बच्चियों ने सीतापुर संपर्क किया था।

By: Karunakant Chaubey

Updated: 28 Dec 2020, 11:19 PM IST

जशपुरनगर. जिले के बगीचा थाना क्षेत्र से 24 दिसंबर की शाम से लापता 11 और 14 साल की नाबालिग बच्चियों को राजस्थान के उदयपुर में सुरक्षित रूप से अभिरक्षा लेने में पुलिस को सफलता मिली। घटना की जानकारी देते हुए बगीचा थाना प्रभारी भास्कर शर्मा ने बताया कि सोमवार को बैंक खुलने के बाद लापता बच्चियों के द्वारा जिस बैंक अकाउंट में एक बार 10000 और एक बार 3000 की रकम डाली गई थी, उस सुराग पर बगीचा पुलिस काम कर रही थी।

सीतापुर से इन बच्चियों की एक सहेली ने उनके घर वालों को इन नाबालिग बच्चियों के दिल्ली से बस के द्वारा मुंबई की यात्रा पर निकल जाने की सूचना दी। बगीचा पुलिस ने सीतापुर की उस सहेली से संपर्क किया जिस नंबर से नाबालिग बच्चियों ने सीतापुर संपर्क किया था।

ऑटो चालक ने पुलिस को दिया सटीक सुराग

जांच में वह नंबर एक ऑटो चालक का निकला जो दिल्ली के आनंद विहार क्षेत्र में ऑटो चलाता है। इस ऑटो चालक से संपर्क करने पर उसने जशपुर पुलिस को बताया कि उसने दोनों नाबालिग बच्चियों को आनंद विहार से मुंबई जाने वाली अशोका ट्रेवल्स की किसी बस में बिठाया था।

इस सूचना पर त्वरित रूप से काम करते हुए बगीचा पुलिस ने अशोका ट्रेवल्स के मालिकों से संपर्क किया। अशोका ट्रेवल्स के मालिकों ने मुंबई जा रहे बस के स्टाफ से संपर्क किया और फिर इस दौरान इस बस को राजस्थान में उदयपुर राजस्थान के उदयपुर में रोककर बच्चियों को बरामद करने की रणनीति बनाई।

Karunakant Chaubey Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned