स्टूडेंट्स ने प्रिंसिपल को सड़क पर दौड़ा-दौड़ाकर पीटा, वजह जानकार रह गए सब हैरान

- जशपुर: प्रयास स्कूल के प्राचार्य पर छात्रा से छेड़छाड़ का आरोप
- प्राचार्य बोले- मोबाइल जमा करने कहा, इसलिए लगाए झूठे आरोप

By: Ashish Gupta

Published: 06 Mar 2021, 06:23 PM IST

जशपुर. छत्तीसगढ़ के जशपुर जिले के प्रयास आवासीय विद्यालय के प्राचार्य मनोज सोनी पर छात्रा के साथ छेड़छाड़ का आरोप लगा है। इसे लेकर छात्र-छात्राओं ने प्राचार्य को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा। इस मामले में प्राचार्य ने कहा, ऑनलाइन क्लास खत्म हो गई हैं, इसलिए मैंने सबको मोबाइल जमा करने को कहा है, इस कारण छात्र मुझ पर झूठे आरोप लगा रहे हैं। इस विषय पर जांच के आदेश दे दिए गए हैं। बता दें कि पूर्व में भी मनोज सोनी को स्थानीय लोखंड़ी हायर सेकंडरी स्कूल से इसी तरह के गंभीर आरोपों के चलते हटाया जा चुका है।

आदिमजाति और जनजाति छात्र-छात्राओं को बेहतर स्कूली शिक्षा के साथ मेडिकल, इंजीनियरिंग और अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए कक्षा 9वीं से आदिवासी विकास विभाग के द्वारा संचालित जशपुर के प्रयास आवासीय विद्यालय में गुरुवार शाम को जमकर हंगामा हुआ। घटना से भड़के हुए छात्रों ने प्राचार्य कक्ष और स्कूल के सीसीटीवी कैमरों को भी तोड़ दिया।

लॉकडाउन के बाद आर्थिक तंगी से जूझने लगा तो पुलिस की वर्दी पहनकर करने लगा अवैध वसूली

दीवार फांदकर भागना पड़ा
जानकारी के अनुसार प्राचार्य मनोज सोनी छात्रावास में निरीक्षण के लिए पहुंचे थे। छात्रों का आरोप है कि प्राचार्य ने छात्रावास की छात्रा से छेडख़ानी करते हुए उसे जबरदस्ती अपने कक्ष में ले जाने की कोशिश की। इस बीच छात्रा के शोर मचाने से मौके पर छात्र-छात्राएं जमा हो गए और छात्रा की बात सुनकर उन्होंने प्राचार्य पर हमला कर दिया।

प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक प्राचार्य ने बचने के लिए स्कूल की चहारदीवारी फांद कर भागने का प्रयास किया, लेकिन उन्हें छात्रों ने पकड़ कर पीटना शुरू दिया। किसी वहां से निकलकर प्राचार्य हाईवे की ओर भागे लेकिन छात्रों ने यहां भी उनका पीछा नहीं छोड़ा वहां मौजूद ढाबे तक उन्हें पीटते रहे। वहां बड़ी संख्या में स्थानीय लोग भी जमा हो गए जिन्होंने किसी तरह प्राचार्य को वहां से निकाला और कोतवाली पुलिस को सूचना दी।

रेप के आरोपी को पकड़ने और सजा दिलाने में 57 पुलिस कर्मियों ने दिन रात किया एक, मिला ये सम्मान

जशपुर के प्रयास आवासीय विद्यालय के प्राचार्य मनोज सोनी ने कहा, ऑनलाइन क्लास खत्म होने पर छात्र-छात्राओं को मोबाइल जमा करने का निर्देश दिया गया था। मोबाइल मांगे जाने से भड़के छात्रों ने पहले भृत्य पर हमला किया, फिर छेड़खानी का झूठा आरोप लगा कर, मुझसे मारपीट की। मुझ पर लगाए गए सभी आरोप गलत हैं।

जशपुर के कलेक्टर महादेव कावरे ने कहा, मोबाइल जमा करने को लेकर बच्चों और भृत्य के बीच हुए विवाद के बाद यह घटना हुई है। पूरे मामले की जांच चल रही है।

Show More
Ashish Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned