डोकलाम से आक्रोशित विद्यार्थियों ने चीनी सामानों का किया बहिष्कार

Amil Shrivas

Publish: Sep, 17 2017 02:05:47 (IST)

Jashpur Nagar, Chhattisgarh, India
डोकलाम से आक्रोशित विद्यार्थियों ने चीनी सामानों का किया बहिष्कार

देशी स्वीकारने और विदेशी का बष्किार करने की अपील

जशपुरनगर. शनिवार को चीन निर्मित समान के बहिष्कार के लिए शहर के विभिन्न शैक्षणिक संस्थाओं के विद्यार्थी एकजुट हुए। इन छात्रों ने रैली निकाल कर नारेबाजी करते हुए जिलेवासियों से आने वाले त्यौहार के दौरान चीन निर्मित सामग्री के बहिष्कार करने की अपील की। स्वदेशी जागरण मंच के आह्नान पर आयोजित इस कार्यक्रम में शहर के सरस्वती शिशु मंदिर, डीपीएस उमा विद्यालय सहित कई स्कूलों के सैकड़ों छात्र-छात्राएं शामिल हुए। अपने-अपने स्कूलों से रैली के रूप में निकल कर चीन निर्मित वस्तुओं का बहिष्कार करने की अपील करते हुए नारे लगा रहे थे। छात्रों ने अपने हाथों में इससे संबंधित बैनर और पोस्टर में थामा हुआ था। एकजुट हुए छात्र सबसे पहले शहर के हृदय स्थल महाराजा चौक पहुंचे।

 

डोकलाम विवाद को लेकर आक्रोश : सैकड़ों की संख्या में जमा हुए छात्रों ने पिछले दिनो डोकलाम विवाद को लेकर चीन के रवैये पर नाराजगी जाहिर करते हुए जमकर चीन विरोधी नारेबाजी की। छात्रों की रैली बस स्टैण्ड पहुंची। यहां जमा हुए छात्रों को संबोधित करते हुए जिला भाजपा अध्यक्ष ओम प्रकाश सिन्हा सहित अन्य वक्ताओं ने कहा कि चीन भारत का सबसे बड़ा पड़ोसी है, लेकिन उसने अपने पड़ोसी धर्म का कभी पालन नहीं किया। चीन 1962 से लेकर आज तक भारत के साथ सिर्फ दगाबाजी करता आ रहा है। लेकिन अब भारत की जनता और सरकार चीन के किसी भी दु:साहस और चुनौती का सामना करने के लिए पूरी तरह से तैयार है। प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी ने स्पष्ट कर दिया है कि भारत चीन की धमकी के आगे नहीं झुकेगा। उन्होने कहा कि डोकलाम विवाद में भारत सरकार के बेहतर नीति की वजह से अंर्तराष्ट्रीय मंच पर चीन को भारत के हाथों मुंह की खानी पड़ी। अब हम सब लोागों का कत्र्तव्य है कि चीन को इस बात का अहसास दिलाया जाए कि भारत के साथ अच्छा संबंध बनाए रखना उसके लिये कितना जरूरी है। अंर्तराष्ट्रीय नियम व संधियों की वजह से सरकार चीन निर्मित वस्तुओं के आयात को प्रतिबंधित नहीं कर सकती लेकिन हम सब चाइनीज वस्तुओं के बहिष्कार का संकल्प कर इस काम को संभव कर सकते हैं।

चीनी में भारत का बड़ा योगदान: वक्ताओं ने कहा कि चीन के अर्थ व्यवस्था में भारत का खासा योगदान है। भारत के पैसे से हथियार खरीद कर चीन भारत को ही आंख दिखा रहा है। अगर हम चीन की वस्तुओं का बहिष्कार कर देगें तो उसकी अर्थ व्यवस्था औधे मुंह गिरेगी और चीन को भारत के ताकत का अहसास हो सकेगा। वक्ताओं ने इस बात पर भी नाराजगी जाहिर किया कि चीन पाकिस्तान के संरक्षण में भारत पर हो रहे आतंकी हमले की हकीकत जानते हुए पाकिस्तान का ही साथ दे रहा है।

दशहरा में बहिष्कार करने की अपील: बहिष्कार के लिए एकजुट हुए छात्र-छात्राओं ने जिलेवासियों से अपील किया कि वे आने वाले दशहरा, दीपावली और क्रिसमस जैसे त्यौहारों में चीन निर्मित किसी भी वस्तुओं की खरीददारी ना करें। कार्यक्रम में छग महिला आयोग की सदस्य रायमुनि भगत, जिला सरपंच संघ के अध्यक्ष राजकपूर भगत, भाजयुमो के जिलाध्यक्ष विक्रांत सिंह, भाजपा जशपुर शहर मंडल के अध्यक्ष संतोष सिंह, उपाध्यक्ष सज्जू खान, स्मिता जैन, भाजयुमों के कार्यकर्ता व नगरवासी उपस्थित थे।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned