आदिवासी नाबालिग को बंधक बनाकर किया अनाचार फिर ले गया गर्भपात कराने अस्पताल, फिर हुआ कुछ ऐसा..

आदिवासी नाबालिग को बंधक बनाकर किया अनाचार फिर ले गया गर्भपात कराने अस्पताल, फिर हुआ कुछ ऐसा..

Bhupesh Tripathi | Updated: 13 Aug 2019, 08:25:33 PM (IST) Jashpur, Jashpur, Chhattisgarh, India

गर्भपात करने वाले डॉक्टर व आरोपी की जमानत अर्जी लगी, हाईकोर्ट ने मंगाई केस डायरी बिलासपुर।

चिरमिरी। शहर में माहौल गरमाया हुआ है। कुछ रोज पहले एक आदिवासी नाबालिग से अनाचार के बाद जबरन गर्भपात कराने का मामला सामने आया था जिसमे पीड़िता के शिकायत पर पुलिस ने कार्रवाही की। वर्त्तमान में पीड़िता की शिकायत के बाद अपराध दर्ज कर आरोपी और डॉक्टर दोनों के खिलाफ विवेचना चल रही है।

क्या है पूरा मामला
आरोपी कॉलरी कर्मी अंबिकेश्वर सिंह ने आदिवासी नाबालिग बालिका को बंधक बनाकर अनाचार की घटना को अंजाम दिया था। बलात्कार करने के बाद आरोपी नाबालिग को एक निजी अस्पताल में गर्वपात कराने लेकर गया था। पीड़िता ने निजी अस्पताल में जबरन गर्भपात करने का आरोप लगाया है। मामले में आरोपी व एक महिला सह आरोपी के विरूद्ध अपराध दर्ज कर जेल भेज दिया गया है।

वहीं दूसरी ओर चिरमिरी पुलिस मामले की जांच के लिए जुलाई महीने के अंतिम सप्ताह में गर्भपात कराने वाले अस्पताल पहुंची थी।अस्पताल में लगे सीसीटीवी के फुटेज, दस्तावेज सहित अन्य रेकार्ड जांच करने के बाद जब्त कर लिया गया है।

पुलिस टीम ने पीड़िता की मौजूदगी में अस्पताल के मेडिकल स्टाफ की पहचान भी कराई थी। हालांकि पुलिस निजी अस्पताल के डॉक्टर को गिरफ्तार नहीं की है। जिससे शहर में चर्चा है कि गर्भपात करने वाला डॉक्टर फरार है। मामले में जानकारी मिली है कि अवैध तरीके से गर्भपात करने वाले डॉक्टर हाईकोर्ट में अग्रिम जमानत के लिए पहुंचे हैं। जिससे हाईकोर्ट ने पुलिस को केस डायरी प्रस्तुत करने के निर्देश दिए हैं।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned