फ्रांस की राजकुमारी से पुरस्कार लेकर लौटे प्रमोद के लिये जौनपुर में निकाली गयी 16 किमी लम्बी तिरंगा यात्रा

शिक्षा के क्षेत्र में सराहनीय कार्य करने के लिये बैंकाक से सम्मान लेकर लौटे प्रमोद के लिये निकली 16 किमी लम्बी तिरंगा यात्रा।

जौनपुर. बैंकाक में गोल्ड मेडल से सम्मानित होने के बाद सुजानगंज स्थित प्रणवम स्कूल आफ चिल्ड्रेन आर्ट्स के संस्थापक प्रमोद के सिंह का मंगलवार को कई स्थानों पर स्वागत किया गया। ग्रामीण क्षेत्र में प्राथमिक स्तर पर उच्चस्तरीय आधुनिक शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए विश्व स्तर पर विभिन्न क्षेत्रों में उल्लेखनीय कार्य के लिए उन्हें चुना गया था। बीते फरवरी को फ्रांस की राजकुमारी इशाबल्ले लफोरगु की अध्यक्षता में सम्मान दिया गया।


वहां से सम्मानित होकर लौटे तो समर्थकों ने महराजगंज से सुजानगंज तक 21 किमी लंबी तिरंगा यात्रा निकाली। महराजगंज स्थित चिल्ड्रेन स्कूल पर पहंुचते ही बैंड-बाजे व फूलों से स्वागत किया गया। खुली जीप पर तिरंगे झंडे संग निकले वाहनों का जगह-जगह स्वागत किया गया। काफिला सुजानगंज स्थित प्रणवम स्कूल पहुंचा तो वहां भी छात्रों व विद्यालय परिवार ने स्वागत किया। स्वागत व देश भक्ति गीत प्रस्तुत किया। प्रमोद के सिंह ने कहा कि यह विश्व स्तरीय सम्मान उनको नहीं जनपद को मिला है। क्षेत्र और जिले का नाम विश्व पटल पर पहुंचाने के लिए गर्व महसूस कर रहा हूं। सिल्जा प्रमोद, अभिषेक शुक्ल, सौरभ तिवारी, आलोक कुमार गुप्त, कुलदीप पांडेय, रोहित कुमार, खुशबू, सुनीता, आरती आदि उपस्थित रहे।


ऑनलाइन जनसुनवाई समीक्षा बैठक में नहीं पहुंचे तो डीएम ने रोक दिया आठ अधिकारियों वेतन
डीएम अरविंद मलप्पा बंगारी ने सोमवार की देर शाम हुई आनलाइन जनसुनवाई समीक्षा बैठक में गैरहाजिर रहने वाले अधिकारियों को वेतन रोकने का आदेश दिया है। ये भी चेतावनी दी कि डिफाल्टर शिकायतों की संख्या बढ़ी तो भी वेतन रोक दिया जाएगा। उन्होंने विभागवार समीक्षा बैठक के लिए सभी को कलेक्टेªट सभागार में बुलाया गया था। इस दौरान कई अधिकारियों को फटकार और चेतावनी मिली।


बैठक शुरू होते ही डीएम ने एक-एक अधिकारियों से उनके विभाग से संबंधित आनलाइन जनशिकायतों के बारे में जाना। निबटाए गए और लंबित शिकायतों की स्थिति जांची। कई विभागों में समय रहते निस्तारण न होने पर शिकायतें डिफाल्टर सूची में चली गई थीं, इसे देख उन्होंने नाराजगी जाहिर की। सचेत किया कि हर हाल में समयावधि के भीतर ही गुणवत्तापूर्ण निस्तारण करें। ऐसा न करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। डीएम ने सभागार में ही अधिकारियों से उनके मोबाइल में आइजीआरएस एप इंस्टाल करवाया। उनको अपने विभाग से संबंधित शिकायतों को निस्तारित करने के लिए कहा।

 

बुलाए जाने के बाद भी बैठक में नहीं पहुंचने वाले गन्ना विकास अधिकारी, जिला कृषि अधिकारी, भूमि संरक्षण अधिकारी, उपनिदेशक कृषि, सहायक आयुक्त निबंधक सहकारिता, सीएमएस, एआरटीओ, एक्सईएन निर्माण खंड का वेतन रोकने का आदेश दिया। अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व आरपी मिश्र ने बताया कि जिले में कुल 2066 जन शिकायत प्राप्त हुई हैं। इसमें 353 शिकायतें डिफाल्टर हो गईं। बैठक में एडीएम आरपी मिश्रा, रामआसरे सिंह, सीएमओ ओपी सिंह, जिला सेवायोजन अधिकारी राजीव सिंह आदि अधिकारी उपस्थित रहे।
by Javed Ahmad

Show More
रफतउद्दीन फरीद Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned