खाकी का तांडव, जौनपुर में दलित परिवार की महिलाओं को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा, पुलिस बोली हमपर हुआ हमला

यूपी के जौनपुर में एक दलित परिवार की महिलाओं और लड़कियों को पुलिस द्वारा दौड़ा-दौड़ाकर पिटायी का मामला सामने आया है। हालांकि पुलिस का दावा है कि परिवार ने ही पुलिस वालों पर हमला किया, जिसमें चार पुलिसकर्मी घायल हो गए। वीडियो सोशल मीडिया पर भी वायरल हा गया है।

जौनपुर.

यूपी के जौनपुर में पुलिस वालों ने दलित परिवार की महिलाओं और लड़कियों को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा, किसी का सिर फूटा तो किसी को हड्डी में चोट आयी। लड़कियों का आरोप है कि अवैध वसूली का विरोध करने पर उन्हें लाठियों से पीटा गया। उधर दूसरी ओर पुलिस का दावा है कि बंदी के दिन मांस बेचने से मना करने गई टीम पर हमला हुआ, जिसमें चार पुलिस वाले घायल हो गए। पुलिसिया पिटाई का वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है।

 

Beaten by Jaunpur Police

 

जौनपुर के नेवढ़िया थानांतर्गत सीतमसराय गांव में एक परिवार सूअर का मांस बेचने का काम करता है। परिवार का आरोप है कि रविवार को पुलिस टीम उसके घर आई और पैसे की मांग करने लगी। मना करने पर उनको लाठी से पीटा गया। इसमें कई को गंभीर चोट लगी। मारपीट का ये वीडियो परिवार वालों ने ही सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया है। इसके बाद घायलों के साथ ज़िला मुख्यालय डीएम और एसपी से शिकायत करने पहुंच गए।

वहीं दूसरी ओर इस पूरे मामले में पुलिस की अपनी अलग कहानी है। एएसपी ग्रामीण त्रिभुवन सिंह ने बताया कि मोहर्रम के दिन और लॉकडाउन को देखते हुए मांस की बिक्री से मना किया गया था। इसके बाद भी खुलेआम सूअर का मांस बेचा जा रहा था। सीतमसराय चौकी की टीम मना करने पहुंची थी तो परिवार के लोग हमलावर हो गए। उनकी तरफ से हुए हमले में चौकी इंचार्ज समेत चार लोग घायल हुए हैं।

By Javed Ahmad

रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned