जौनपुर के छात्रों का कमाल, स्लीप एपनिया और हृदय की धड़कन पर नजर रखने के लिये बनाया उपकरण

बेंगलूरु में आयोजित इंडिया इनोवेशन चैलेंज डिजाइन कंटेस्ट-2016 में छात्रों को किया गया सम्मानित

जौनपुर.  भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने साल 2016 में स्टार्टअप इंडिया अभियान की शुरूआत की थी,  अभियान की शुरूआत के बाद से ही देश में स्टार्ट अप को लेकर रोजाना नये नये आइडिया सामने आ रहे हैं। इसी कड़ी में उत्तर प्रदेश के जौनपुर जिले के ऐसे ही दो युवाओं ने स्टार्ट अप के क्षेत्र में अपने हुनर का लोहा मनवाया है।


आईआईएम बेंगलूरु में आयोजित इंडिया इनोवेशन चैलेंज डिजाइन कंटेस्ट-2016 में इनयुवाओं ने अपनी काबिल सोच से इनवेस्टर को उनकेप्रोजेक्ट में इनवेस्ट करने के लिए मजबूर कर दिया। आईआईटी खड़गपुर के छात्रों ने नींद की गुणवत्ताको मापने और शरीर में विसंगतियों का पता लगाने के लिए एक उपकरण बनाया है।


यह भी पढ़ें:
सुरक्षा को लेकर सीएजी रिपोर्ट चिंताजनक, आधुनिक हथियारों से अपरिचित है यूपी पुलिस


छात्र सत्यपाल ने पत्रिका को बताया कि हमाराडिवाइस नींद के पैटर्न का
पूराविश्लेषण प्रदान करता है, जिसमें हृदय की धड़कन कीनिगरानी और स्लीप एपनिया जैसी श्वसन समस्याएं भी शामिल हैं। यह टीमप्रोफेसर अरविंदो रॉउत्रे की देखरेखमें काम कर रही है। इस टीम में लक्ष्मीकांत तिवारी के अलावा सत्यपाल गुप्ता, पवन यादव, पवन कंडूरी, नितीश अरोरासक्रिय सदस्य हैं। छात्र सत्यपाल जौनपुर जिले के शाहगंज थाना क्षेत्र के विशुनपुर जबकि लक्ष्मीकांत तिवारी बदलापुर के रहने वाले हैं।




इंडिया इनोवेशन चैलेंज डिजाइन कंटेस्ट-2016 में  खड़गपुर की टीम को बेस्ट इनकूबेटी और फर्स्ट रनर अप अवार्ड सेनवाजा गया है। इतना ही नहीं ये टीम इससे पहले भीआईआईटी मुंबई में आयोजित स्टार्टअप समिट में बेस्ट अवार्डजीत चुके हैं। आईआईटी खड़गपुर ने बेस्ट स्टार्ट अप घोषित कर चुकी है।आईआईएम बेंगलूरू में आयोजित इंडिया इनोवेशन चैलेंज डिजाइन कंटेस्ट-2016 का आयोजनस्टार्ट अप इंडिया, मेक इन इंडिया और टेक्सास इंस्ट्रूमेंट के सौजन्य से किया गया, जिसे माइगव परप्रकाशित भी ​​किया गया है।

Show More
अखिलेश त्रिपाठी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned