अवैध पटाखा फैक्ट्री का भांडाफोड़, 200 किलो माल बरामद

Jyoti Mini

Publish: Oct, 12 2017 06:03:41 PM (IST)

Jaunpur, Uttar Pradesh, India
अवैध पटाखा फैक्ट्री का भांडाफोड़, 200 किलो माल बरामद

रिहायशी इलाके में चल रहा था कारखाना, सात माह पहले जा चुकी हैं दो जानें

जौनपुर. कोतवाली पुलिस ने अवैध पटाखा बनाने की फैक्ट्री के भांडाफोड़ का दावा किया है। बुधवार को कटघरा के रिहायशी क्षेत्र से दो आरोपियों, 200 किलो निर्मित पटाखा व बारूद बरामद किया गया। पुलिस का कहना है कि दीवाली में इसको बेचने के लिए जुटाया जा रहा था।


कोतवाल ने गुरूवार को बताया कि कटघरा मोहल्ले में पटाखा बनाया जाता है। मुखबिर की सूचना पर वहां छापा मारा गया तो दो लोगों को फैक्ट्री में निर्माण करते पकड़ा गया। इनके पास से 17 किलो बारूद, दो कुंतल निर्मित पटाखा, दो बोरा सुतली व निर्माण की अन्य सामग्री बरामद हुई। पकड़े गए आरोपियों ने अपना नाम मोहम्मद अब्बास और अब्दुल जब्बर बताया। कारोबार से संबंधित कागजात मांगने पर नहीं दिखा सके। सात माह पूर्व कटघरा में ही विस्फोट होने से दो लोगों की मौत भी हो चुकी है। इतने बड़े पैमाने पर पटाखा इकट्ठा करने से फिर कोई हादसा हो सकता था। छापेमारी से आसपास के पटाखा व्यसाइयों में हड़कंप मचा रहा। कई तो घर व दुकान छोड़ कर भाग निकले। टीम में शशिभूषण राय, भानुप्रताप सिंह, सगीर अहमद, जयराम तिवारी, राजेश सिंह, हरेंद्र सिंह आदि उपस्थित रहे।

रंगदारी मांगने वाले दो बदमाश गिरफ्तार
रंगदारी मांगने और न देने पर जान से मारने की धमकी देने के दो आरोपियों को पुलिस ने बुधवार को बदलापुर पड़ाव से गिरफ्तार कर लिया। दोनों ने फूलपुर वाराणसी के एक व्यक्ति से ढाई लाख रूपये मांगे थे। नहीं मिला तो उसकी पिटाई कर दी।


वाराणसी के फूलपुर थाना क्षेत्र के स्थानीय निवासी दुर्गाप्रसाद बिंद से गौराबादशाहपुर थाना क्षेत्र के कस्बा निवासी जगदीश गुप्ता व आजमगढ़ के दीदारगंज थानांतर्गत औरंगाबाद खुटहन निवासी संजीव सिंह ने फोन कर धमकी दी थी कि ढाई लाख रूपये रंगदारी चाहिए। उन्होंने देने में असमर्थता जताई तो बुधवार को ही बदमाशों ने पालीटेक्निक के पास उनकी पिटाई कर दी। शिकायत मिलते ही पुलिस सक्रिय हुई। मुखबिर की सूचना पर देर रात दोनों को गिरफ्तार कर लिया गया। इन पर गौराबादशापुर, लाइन बाजार, केराकत, मुंगराबादशाहपुर, वाराणसी के आदमपुर थाने में कई मुकदमें दर्ज हैं।

input-जावेद अहमद

 

Ad Block is Banned