पम्पोर आतंकी हमले में शहीद हुआ जौनपुर का लाल

पम्पोर आतंकी हमले में शहीद हुआ जौनपुर का लाल
militent attack

सीआरपीएफ जवानों की बस पर पम्पोर में हुए हमले में आठ जवान शहीद

जौनपुर. जौनपुर. फायरिंग अभ्यास के बाद लौट रहे सीआरपीएफ जवानों की बस पर पम्पोर में हुए आतंकवादी हमले ने जहां पूरे देश केा हिलाकर रख दिया, वहीं जौनपुर के लोगों के लिये यह दोहरी क्षति साबित हुई हैं। आतंकी हमले में शहीद होने वाले जवानों में से एक लाल जौनपुर का भी है। आतंकी हमले में जो आठ जवान शहीद हुए हैं उनमं से एक जौनपुर के केराकत थानाक्षेत्र के लाल भौरा गांव निवासी शहीद संजय सिंह भी हैं।

हमला उस समय हुआ जब सीआरपीएफ की 161वीं वाहनी के जवानों को लेकर वाहनों का काफिला पुरा पुलवामा स्थित कमांडों ट्रेनिंग सेंटर से फायरिंग अभ्यास कर वापस आ रहा था। पांपोर के फ्रिस्तबल इलाके में जैसे ही काफिला पहुंचा वहां पहले से ही घात लगाए बैठे आतंकियों ने बीच वाली बस पर ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी।

सीआरपीएफ के रिटायर्ड जवान श्याम नारायण सिंह के पुत्र संजय सिंह 40 वर्ष सीआरपीएफ की 116वीं वाहिनी में एसआई टेक के पद पर तैनात थे। घर वाले आतंकी हमले की घटना का समाचार टीवी पर देखकर अभी परेशान ही थे, कि संजय सिंह की शहादत की खबर ने उन्हें झकझोर कर रख दिया। घरवालों का रो-रो कर बुरा हाल है, जबकि अपनी माटी के लाल की शहादत की खबर से न सिर्फ गांव बल्कि पूरे जौनपुर के लोग गम में डूबे हैं। पूरे गांव में मातमी सन्नाटा पसर गया।

संजय सिंह 4 भाई बहनों में सबसे बड़े थे। दोनों छोटे भाई राजी सिंह व सुधीर कुमार सिंह बीएसएफ में जवान हैं तथा एक बहन रीनू सिंह हैं। पिता और माता बीना सिंह गांव में ही रहते हैं। जबकि पत्नी नीतू सिंह दो बच्चों नेहा 18 वर्ष और शिवम 10 वर्ष के साथ चंडीगढ़ में रहती हैं। शहीद संजय सिंह 6 माह पूर्व ही छुट्टियों में भौरा गांव आए थे।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक हाल के वर्षों में सुरक्षाबलों पर सबसे घातक हमला है। आतंकियों ने फायरिंग अभ्यास कर लौट रहे सीआरपीएफ के जवानों की बस पर पम्पोर में हमला किया। बस पर अंधाधुन गोलियां बरसाई। इस आतंकी हमले में आठ जवान शहीद हो गए, जबकि 21 अन्य गंभीर रूप से घायल हो गए। हमले के बाद आतंकी बस के अंदर घुस पाते इसके पहले ही सीआरपीएफ की रोड ओपनिंग पार्टी ने उन्हें मार गिराया।

गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने सीआरपीएफ जवानों की मौत पर गहरा दुख व्यक्त करते हुए ट्वीट किया है। ट्विट में उन्होंने कहा है कि उनकी संवेदनाएं मृत सीआरपीएफ जवानों के परिवारों के साथ है। साथ ही घायल जवान जल्द स्वस्थ हों ऐसी कामना है। याद रहे कि गत तीन सप्ताह में सुरक्षाकर्मियों को ले जा रही बस पर यह दूसरा हमला है। बीते तीन जून को आतंकवादियों ने बिजबेहरा में बीएसएफ कर्मियों को ले जा रही बस पर गोलियां चलाई थीं जिसमें दो जवान शहीद हो गए थे।
Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned