जौनपुर जिंदा जल गई मां और दो मासूम बेटे

यूपी के जौनपुर में दर्दनाक हादसा सामने आया है। यहां शाॅर्ट सर्किट से लगी आग के चलते कमरे में सो रही मां और दो मासूम बच्चे जिंदा जल गए। कहा जा रहा है कि शाॅर्ट सर्किट से आग पहले कूलर में लगी और फिर सारे कमरे में फैल गई।

जौनपुर. मड़ियाहूं कोतवाली अंतर्गत सोंईथा गांव में शनिवार की दोपहर बिजली के शार्ट सर्किट से घर में आग लग गई। चपेट में आने से महिला व उसके दो बेटे जिंदा जल गए। धुंआ देख आसपास के लोग मौके पर पहुंच गए। जानकारी होने पर प्रशासनिक अमला भी पहुंच गया। घटना से परिजन में कोहराम मचा है।

 

मड़ियाहूं कोतवाली के सोंईथा गांव निवासी मनोज कुमार कोटेदार हैं। दोपहर में पत्नी सविता देवी अपने नौ महीने के बेेटे दिग्विजय और देवांश (3) के साथ कमरे में सोने चली गई। मनोज भी खेत की तरफ चले गए। आशंका जताई जा रही है कि उसी दौरान बिजली के शार्ट सर्किट से कूलर में आग लग गई। धीरे-धीरे आग ने पूरे घर को अपनी चपेट में ले लिया। धुंए से ही तीनों के अचेत हो जाने कब कयास लगाए जा रहे हैं। अचेत होने के बाद तीनों वहीं झुलस गए। धुंआ उठता देख आसपास के लोग शोर मचाते मौके पर पहुँच गए। पलक झपकते ही आग ने भयावह रूप ले लिया था। लोगों ने किसी तरह आग पर काबू पाया।

 

 

 

भीतर जा कर देखा तो आग की चपेट में आने से सविता व उसके बड़े बेटे तीन वर्षीय देवांश की मौके पर ही मौत हो चुकी थी। गंभीर रूप से झुलसे दुधमुंहे दिग्विजय को सीएचसी ले जाया गया। हालत नाजुक देख उसे वहां से जिला अस्पताल रेफर किया गया। अस्पताल ले आते समय रास्ते में दिग्विजय ने भी दम तोड़ दिया। उसका शव लेकर परिजन घर लौट गए। इस हृदय विदारक घटना की खबर लगते ही मड़ियाहूं के उप जिलाधिकारी कौशलेश मिश्र, सीओ राजेंद्र प्रसाद व कोतवाली प्रभारी निरीक्षक पवन कुमार उपाध्याय घटनास्थल पहुंच गए। एक सात तीन मौत से गांव में कोहराम मच गया है। एसडीएम कौशलेंद्र मिश्र ने बताया कि शार्ट सर्किट से आग लगी होगी। तीन लोगों की मौत हुई है। घटना की जांच की जा रही है।

By Javed Ahmad

रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned