पीएचडी प्रवेश परीक्षा में धांधली का आरोप, रिक्शा चलाकर जताया कुलपति का विरोध

पीएचडी प्रवेश परीक्षा में धांधली का आरोप, रिक्शा चलाकर जताया कुलपति का विरोध
नगर के रोडवेज तिराहे से लेकर अम्बेडकर तिराहे तक रिक्शा चलाकर व विश्विद्यालय प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करते हुए विरोध जताया

Ashish Kumar Shukla | Updated: 11 Oct 2019, 08:48:59 PM (IST) Jaunpur, Jaunpur, Uttar Pradesh, India

नगर के रोडवेज तिराहे से लेकर अम्बेडकर तिराहे तक रिक्शा चलाकर व विश्विद्यालय प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करते हुए विरोध जताया

जौनपुर. पूर्वांचल विश्वविद्यालय की पीएचडी प्रवेश परीक्षा में धांधली का आरोप लगाते हुए उसकी निष्पक्ष जांच कराये जाने कि मांग को लेकर पीएचडी संघर्ष मोर्चा लगातार आंदोलनरत शुक्रवार को नगर के रोडवेज तिराहे से लेकर अम्बेडकर तिराहे तक रिक्शा चलाकर व विश्विद्यालय प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करते हुए विरोध जताया।

मोर्चा के प्रतिनिधित्वकर्ता दिव्यप्रकाश सिंह ने कहा कि 24 सितम्बर को विश्वविद्यालय में 2750 अभ्यर्थी पीएचडी प्रवेश परीक्षा में सम्मिलित हुए 25 सितम्बर 9 को आये परीक्षा परिणाम में सफल हुए अभ्यर्थीयों को एक सप्ताह बाद संसोधित परीक्षा परिणाम का हवाला देते हुए विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा असफल घोषित कर दिया गया। परिणाम की न्यायिक व निष्पक्ष जांच कराने की मांग राज्यपाल उत्तर प्रदेश से की है।

उन्होंने कहा कि जब तक पीएचडी प्रवेश परीक्षा की न्यायिक जांच का आदेश नहीं होगा तब तक आंदोलन जारी रखेंगे। अतुल सिंह व अधिवक्ता विकास तिवारी गौरव सिंह चंचल,संजय सोनकर गोपाल,विजय प्रताप, शिवम सिंह, अमित श्रीवास्तव,नीरज यादव, सचिन यादव, मोनू,चंद्रपाल, संदीप, अनुश्री,प्रियंका यादव,रामबचन यादव,शशांक मिश्र,अभय,अमन,रूपेंद्र सोनकर,गौरव समेत इत्यादि पीड़ित अभ्यर्थी उपस्थित रहे।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned