दलितों को पीटने वाले प्रधान को बचा रही पुलिस

दलितों को पीटने वाले प्रधान को बचा रही पुलिस

Ashish Shukla | Publish: Sep, 03 2018 08:25:01 PM (IST) Jaunpur, Uttar Pradesh, India

प्रधान व अन्य 13 व्यक्तियों के खिलाफ धारा 147, 352, 323, 504 507, 379 के तहत पुलिस ने किया था मामला दर्ज

जौनपुर. जन सूचना के तहत सूचना मांगने पर मडियाहू कोतवाली क्षेत्र के भुसेहरा गांव के प्रधान कमलेश राजभर ने अपने परिजनों के साथ गांव के ही दलित संजय कुमार पुत्र बनवारी लाल व राम आसरे पुत्र बलजोर को जातिसूचक शब्दों का प्रयोग करते हुए बुरी तरह पीटकर घायल कर दिया। भुक्तभोगियों की तहरीर पर पुलिस ने मेडिकल कराकर ग्राम प्रधान व अन्य 13 व्यक्तियों के खिलाफ धारा 147, 352, 323, 504 507, 379 एवं अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के तहत मुकदमा दर्ज किया।

लेकिन मामले में लीपा पोती कर आरोपियोें को पुलिस बचा रही और गिरफ्तारी नहीं कर रही है। जांच के दौरान वहां उपस्थित दो अन्य लोगों ने जांच अधिकारी के समक्ष प्रधान कमलेश राजभर द्वारा संजय कुमार व राम आसरे को पुष्टि की गई और उनका भी बयान भी दर्ज किया गया । पीड़ित संजय कुमार एवं राम आसरे का आरोप है कि प्रधान के खिलाफ क्षेत्राधिकारी मडियाहूं ने जांच करने के उपरांत प्रधान से अकेले में 1 घंटे तक बात किया तथा प्रधान की मिलीभगत से विवेचना में धाराओं की लीपापोती करने की कोशिश में लगे हुए हैं ,गांव के लोगों के हलफनामा देने के बाद भी जांच अधिकारी द्वारा किसी तरह की कार्यवाही न करना पुलिस की मनमानी का प्रमाण है 10 दिन बाद भी आरोपियों को गिरफ्तार नहीं किया गया है ।

युवक की हत्या कर लाश कुंए में फेकी

रामपुर थाना क्षेत्र के गोपालापुर बसगोतान् गांव निवासी 35 वर्षीय अखिलेश सिंह पुत्र द्वारका प्रसाद सिंह गुरुवार को शाम बाजार गया था। वापस न लौटने पर परिजनों को चिंता होने लगी तो परिजन खोजबीन करने लगे लेकिन उसका कहीं पता नहीं चला। काफी खोजबीन के बाद परिजनों ने इसकी सूचना थाने पर दिया। सोमवार को सुबह घर से महज सौ मीटर की दूर कुएं में युवक की लाश दिखाई पड़ी। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुँच गई और जब युवक का लाश कुएं से निकलवाया गया तो उसके दोनों हाथ पैर तार से बंधे थे। युवक का गला रेतकर हत्या की गई थी। सूचना पर परिजनों सहित समूचे गांव में हड़कंप मच गया। इस मौके पर पहुंचे एसडीएम मड़ियाहूं, सीओ मड़ियाहूं सहित रामपुर, सुरेरी, नेवढ़िया आदि थाने की पुलिस फोर्स मौजूद रही।

Ad Block is Banned