जौनपुर जिला जेलः बंदी का आरोप, महीना न देने पर होती है बेरहमी से पिटाई

जौनपुर जिला जेलः बंदी का आरोप, महीना न देने पर होती है बेरहमी से पिटाई
Prisoner allegation on Jail Administration

न्यायालय में चोट दिखा रो पड़ा बंदी, न्यायाधीश ने जेल अधीक्षक से किया जवाब तलब

जौनपुर. जिला जेल में दरिंदगी की सारी हदें पार की जा रही हैं। बंदियों से हर महीने मोटी वसूली की जाती है और जो नहीं देता उसे जानवरों की तरह पीटा जाता है। यह आरोप है दहेज हत्या के एक बंदी का। बंदी, गुरूवार को कोर्ट में न्यायाधीश के सामने ही शर्ट उतारकर अपने जेल से मिले जख्मों को दिखाया। इसके बाद न्यायाधीश ने जेल अधीक्षक से जवाब तलब कर लिया। साथ ही आदेश दिया कि पुलिस अभिरक्षा में बंदी को जिला चिकित्सालय ले जाकर मेडिकल बोर्ड द्वारा परीक्षण कराया जाए।





जलालपुर थाना क्षेत्र के ऊदपुर निवासी संदीप गुप्ता दहेज हत्या के आरोप में जेल में बंद है। उसके पिता पन्ना लाल ने कोर्ट में दरख्वास्त दी कि जेल में दस हजार रूपये महीना मांगा जा रहा है। नहीं देने पर जेलर, बंदी रक्षक व बंदी सनी लाठी-डंडे और लात-घूसों से उसके बेटे की पिटाई करते हैं। रूपये नहीं पहुंचाए जाने पर पिटाई करने के साथ ही जान की धमकी भी फोन पर दी गई है। गुरूवार को संदीप गुप्ता कोर्ट में पेश हुआ तो अपनी चोटें दिखा कर वहीं रोने लगा। उसके जिस्म पर बरसी एक-एक लाठी को बयान करती चोट को देख अपर सत्र न्यायाधीश एफटीसी द्वितीय ने जेल अधीक्षक से जवाब तलब किया है। सीएमएस को आदेश दिया है कि पुलिस अभिरंक्षा में बंदी को जिला अस्पताल ले जाकर मेडिकल बोर्ड द्वारा उसका परीक्षण कराया जाए। 


खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned