सपा के गढ़ में नहीं चली धनंजय सिंह की धाक, पिता की सीट जीते लकी यादव

  • मल्हनी उपचुनाव में भी धनंजय सिंह को मिली हार
  • विधानसभा चुनाव में पिता से उपचुनाव में बेटे से हारे
  • भाजपा तीसरे नंबर पर, लेकिन 2017 से भी कम वोट मिले

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

जौनपुर. समाजवादी पार्टी के गढ़ में बाहुबली धनंजय सिंह को एक बार फिर हार का सामना करना पड़ा है। मल्हनी उपचुनाव 2020 में धनंजय सिंह पूर्व मंत्री स्व. पारसनाथ यादव के बेटे लकी यादव से 4604 वोटों से हार गए हैं। हालांकि धनंजय सिंह ने निर्दलीय होने के बावजूद समाजवादी पार्टी को कड़ी टक्कर दी, परिणाम समाजवादी पार्टी के पक्ष में रहा। धनंजय सिंह को जहां 68,780 वोट मिले वहीं लकी यादव ने 73,384 हासिल कर जीत दर्ज की। भाजपा को तीसरे नंबर पर संतोष करना पड़ा। भाजपा प्रत्याशी मनोज सिंह को पिछले बार से कम 28,803 वोट मिले, जबकि बसपा पांचवें और कांग्रेस छठें नंबर पर ही सिमट गई।

इसे भी पढ़ें- सपा के लिये मल्हनी विधानसभा सीट से खुशखबरी, पीछे चल रहे लकी यादव ने बनायी बढ़त

सुबह ठीक आठ बजे वोटों की काउंटिंग शुरू हुई और आधे घंटे चली। 8.30 बजे से ईवीएम के वोटों की गिनती आरम्भ हुई तो पहले लकी यादव ने मामूली लीड ले ली। पर उसके बाद अगले ही राउंड में धनंजय सिंह करीब 1000 वोटों से उनसे आगे निकल गए। इसके बाद हर राउंड में धनंजय सिंह कभी 1000, कभी 500 तो कभी 1500 जैसे आंकड़ों के साथ लकी यादव पर अपनी लीड मजबूत करते रहे। हालांकि छठें राउंड के बाद लकी यादव भी बढ़ने लगे। 12वें राउंड तक आगे चलते रहे और 397 वोटों से लीड बनाए रखी।

 

 

13वें राउंड में अचानक लकी यादव ने 1600 से अधिक वोटों से धनंजय सिंह को पीछे छोड़ दिया। 14वें राउंड में तो लकी यादव धनंजय सिंह से 7078 वोटों से आगे निकल गए। पर इसके बाद धनंजय भी रिकवर कर अंतर कम करते रहे, हालांकि लकी यादव की लीड बनी रही। सभी राउंड की मतगणना पूरी होने के बाद जब फाइनल रिजल्ट आया तो धनंजय सिंह लकी यादव से 4,604 वोटों से हार चुके थे।

 

भाजपा, बसपा और कांग्रेस जैसी पार्टियां मैदान में भले थीं लेकिन लड़ाई में कहीं नहीं दिखीं। भाजपा प्रत्याशी मनोज सिंह लगातार तीसरे नंबर पर बने रहे। हालांकि एक बार बसपा के जेपी दुबे उन्हें पछाड़कर तीसरे नंबर पर पहुंचे, लेकिन उसके बाद फिर बसपा जब चौथे नंबर पर खिसकी तो वहां से आगे नहीं बढ़ पायी। कांग्रेस इन सबके पीछे ही रही। बात करें प्रत्याशियों की तो सपा के लकी यादव सुबह से मतगणना स्थल पर जमे रहे, लेकिन धनंजय सिंह नहीं पहुंचे। वहीं भाजपा के मनोज सिंह भी कुछ समर्थकों के साथ बैठे दिखे। कांग्रेस प्रत्याशी भी मतगणना स्थल पहुंचे।

 

बताते चलें कि 2017 के यूपी विधानसभा चुनाव में मल्हनी विधानसभा सीट से मिनी मुख्यमंत्री कहे जाने वाले कद्दावर सपा नेता और पूर्व मंत्री रहे स्व. पारसनाथ यादव जीते थे। उस चुनाव में धनंजय सिंह निषाद पार्टी के सिंबल पर मैदान में थे और दूसरे नंबर पर रहे थे। पारसनाथ यादव को जहां 69,351 वोट मिले थे वहीं धनंजय सिंह 48,141 वोट पाकर दूसरे नंबर पर रहे थे।

 

इस चुनाव में बसपा और भाजपा ने भी उपचुनाव से बेहतर प्रदर्शन किया था। बसपा के बसपा के विवेक यादव 46,011 वोट पाकर तीसरे तो चौथे नंबर पर रहे भाजपा प्रत्याशी सतीश कुमार सिंह को 38,966 वोट मिले। जबकि उपचुनाव में भाजपा 28803 और बसपा 25126 वोटों पर सिमट गई।

 

मल्हनी उपचुनाव 2020 के नतीजे

समाजवादी पार्टीः लकी यादव- 73384 (जीते)

निर्दलीयः धनन्जय सिंह- 68780

भाजपाः मनोज सिंह- 28803

बसपाः जय प्रकाश दुबे- 25126

कांग्रेसः राकेश मिश्रा 'मंगला गुरू’- 2871

एनसीपीः सतीश चन्द्र उपाध्याय- 857


मल्हनी विधानसभा चुनाव 2017 के नतीजे

समाजवादी पार्टीः पारसनाथ यादव- 69,351 (जीते)

निषाद पार्टीः धनंजय सिंह- 48,148

बसपाः विवेक यादव- 46,011

भाजपाः सतीश कुमार सिंह- 38,966

महाक्रांति दलः संदीप पाण्डेय- 1,707

By Javed Ahmad

Congress
रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned