जौनपुर में सपा नेता के दो बेटों को बदमाशों ने मारी गोली, भीड़ पर फेंके बम, 25 बाइक पर आए थे बदमाश

यूपी के जौनपुर में सपा नेता के दो बेटों को बदमाशों ने दिन-दहाड़े मारी गोली, ग्रामीणों ने दौड़ाकर एक बदमाश को जमकर पीटा, कई बाइक पत्थरों से कूंच दी।

जौनपुर. यूपी के जौनपुर में केराकत कोतवाली अन्तर्गत मुरलीपुर गांव के लोगों ने गुरूवार को कभी न भूल पाने वाला खौफनाक नजारा देखा। कानून-व्यवस्था की धज्जियां उड़ाते हुए बाइक पर सवार करीब 25 बेखौफ बदमाशों ने दिन दहाड़े पूर्व प्रधान के दो बेटों को गोली मार दी। ग्रामीण पकड़ने के लिए दौड़े तो उन पर बम फेंकने लगे। एक बदमाश को ग्रामीणों ने पकड़ कर पीट दिया। आपाधापी में छूटी 7 बाइकों को ईंट-पत्थर से कूंच दिया गया। इसके बाद आक्रोशित लोगों ने कोतवाली चैराहे पर जाम लगा दिया। वहां नारेबाजी और प्रदर्शन शुरू हो गया। किसी तरह लोगों को समझा-बुझा कर वहां से हटाया गया। घायलों को ट्रामा सेंटर भेजा गया है। खबर लगते ही एसपी केके चैधरी मौके पर पहुंच गए।

 

SP Leader Soon Shoots
जौनपुर में गोली लगने के बाद सपा नेता को अस्पताल ले जाते IMAGE CREDIT: Patrika

 

बाइक से आए बदमाश सबसे पहले सपा नेता लालता यादव के घर पहुंचे। बाइकों को खड़ा कर उनके घर में घुस गए। भीतर जाते ही तलाशी लेने लगे। गाली-गलौज करते हुए लाठी और असलहा लहराते वहां से निकल गए। यहां रामजीत उपाध्याय के कूएं के पास सर्वेश यादव नहाने जा रहा था। उसको देखते ही बदमाश टूट पड़े। तमंचे से उस पर ताबड़तोड़ कई राउंड फायर कर दिया जिससे वो वहीं खून से लथपथ होकर गिर पड़ा। शोर सुनकर उसका बड़ा भाई उमेश यादव घर से दौड़ कर मौके पर पहुंचा।

 

 

SP Leader Soon Shoots
घटना के बाद अस्पताल में IMAGE CREDIT: Patrika

 

बदमाशों ने उस पर भी गोली चला दी और वो वहीं गिर पड़ा। हमलावरों का दुस्साहस देख 50 से अधिक ग्रामीण लाठी लेकर उनकी तरफ दौड़ पड़े। उन पर पथराव भी शुरू कर दिया। खुद को घिरता देख बदमाश बमबाजी करते हुए भागने लगे। इतने में देवकली गांव निवासी आशीष यादव को पकड़ लिया गया। सभी ने उसकी धुनाई कर दी। मौके पर बदमाशों की बाइक दिखी तो उसे क्षतिग्रस्त कर दिया गया। कुछ लोगों ने आग लगाने की भी कोशिश की लेकिन सूचना पर पहुंची ने रोक लिया।

 

 

SP Leader Soon Shoots
अस्पताल मे सपा नेता के दोनों बेटों का इलाज IMAGE CREDIT: Patrika

 

कोतवाल प्रशांत श्रीवास्तव व एसओ चंदवक विश्वजीत प्रताप सिंह भी फोर्स के साथ पहुंच गए। ग्रामीणो ने मौके से बदमाश और सात कारतूस को कब्जे में ले लिया। थोड़ी ही देर बाद बड़ी संख्या में महिलाएं व पुरूष कोतवाली चैराहे पर पहुंच गए। वहां चक्काजाम शुरू कर दिया। करीब आधा घंटा बाद सभी को वहां से समझा कर हटाया गया। खबर लगी तो एसपी भी पहुंच गए। उन्होंने बताया कि टीम गठित कर दी गई है। सीओ मड़ियाहूं, एसओ चंदवक, गौराबादशाहपुर, केराकत कोतवाल, क्राइम ब्रांच को जिम्मा दिया गया है। हमले के कारणों का पता लगाया जा रहा है।

by JAVED AHMAD

Show More
रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned