जौनपुर में शिक्षण-प्रशिक्षण संस्थान में छात्रों का हंगामा, जमकर की तोड़फोड़

सुनहरे सपने दिखा कर रूपये ऐंठने का आरोप, कोतवाली में छात्रों की फीस वापस होने के बाद सुलझा मामला।

जौनपुर. नगर कोतवाली के उमरपुर पालीटेक्निक के पास स्थित एक शिक्षण-प्रशिक्षण संस्थान में बुधवार को जम कर हंगामा हुआ। आक्रोशित छात्रों ने संस्थान में तोड़फोड़ की। लैपटाप और पर्दों को भी नुकसान पहुंचाया। वहां एक स्टाफ को घसीटते हुए लाइन बाजार थाने ले गए। यहां से कोतवाली भेज दिया गया। छात्रों का आरोप था कि संस्थान ने सुनहरे सपने दिखा कर मोटी फीस वसूली लेकिन यहां ऐसा कुछ नहीं है।




पालीटेक्निक के पास एक शिक्षण-प्रशिक्षण संस्थान चलता है। इनका दावा है कि यहां से प्रशिक्षण पाने के बाद नौकरी पक्की हो जाती है। कई छात्रों ने इसी झांसे में आकर यहां प्रवेश ले लिया। इसके बदले मोटी फीस भी जमा की। मंगलवार को पढ़ाई शुरू हुई तो मड़ियाहूं की एक छात्रा बिफर गई। उसने आरोप लगाया कि जो वादे कर के प्रवेश दिया गया वो गुणवत्ता नहीं है। उसको यहां से ज्ञान नहीं लेना है। उसकी फीस वापस की जाए। संस्थान फीस वापस करने को राजी नहीं हुआ। इसको लेकर दोनांे ओर से काफी कहासुनी हुई।




दूसरे दिन छात्रा के साथ कुछ अन्य लोग भी संस्थान पहुंचे। सभी ने एक स्टाफ को घसीट कर पीटना शुरू कर दिया। अन्य छात्रों ने देखा तो उन्होंने भी संस्थान में तोड़फोड़ शुरू कर दी। लैपटाप और पर्दे तक नष्ट कर दिए गए। तोड़फोड़ होती देख अन्य स्टाफ फरार हो गए। बाहर लोगों की भीड़ भी जुट गई। काफभ् देर तक हंगामा चलता रहा।  इसके बाद सभी मिल कर उस स्टाफ को लाइन बाजार थाने ले गए। यहां एसओ ने बताया कि मामला कोतवाली का है तो सभी वहां पहुंचे। यहां कोतवाल अरविंद सिंह ने मामला सुना तो संस्थान के संचालक से छात्रों की फीस वापस करने को कहा। मामला बिगड़ता देख फीस वापस कर दी गई।
Show More
रफतउद्दीन फरीद Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned