यूपी के जौनपुर में दो गांवों में खूनी संघर्ष, भाजपा नेता समेत 21 घायल

पीएचसी में चल रहा घायलों को उपचार, गंभीर जिला अस्पताल रेफर

By: ज्योति मिनी

Published: 13 Nov 2017, 12:24 PM IST

जौनपुर. खेतासराय थाना क्षेत्र के दो गांवों में जमीन विवाद को लेकर खूनी संघर्ष हो गया। जमकर लाठी चलने से भाजपा नेता समेत 21 लोग घायल हो गए। सभी को उपचार के लिए प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र सोंधी में कराया गया। यहां से हालत नाजुक देख कुछ को जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया। पुलिस मुकदमा दर्ज कर जांच कर रही है।
सलारपुर गांव में दो पक्षों के बीच वर्षों से जमीन विवाद चला आ रहा है। एक पक्ष आज कब्जा करने गया तो दूसरे पक्ष ने विरोध शुरू कर किया। जिसे लेकर दोनों पक्षों में जमकर मारपीट हो गई। इसमें एक पक्ष से भाजपा नेता डा. रामसूरत, संगीता पत्नी रामकुमार बिंद, मुन्नी देवी पत्नी फूलचंद्र, अशोक, राम उजागिर, अजय बिंद, रिंकू बिंद, रमानंद तथा दूसरे पक्ष से मुन्नीलाल, भारत बिंद, लक्ष्मीना पत्नी महेंगू बिंद, फूलमत्ती पत्नी महेंद्र बिंद, इंद्रजीत बिंद, आरती पत्नी सभाजीत, मुंशी लाल घायल हो गए।

दूसरी तरफ अमरेथुआ गांव में एक पक्ष ट्रैक्टर से खेत की जुताई कर रहा था। इस दौरान खेत की मेड़ कट जाने से दूसरा पक्ष फावड़े से मेड़ बांधने लगा। एक पक्ष के विरोध करने पर मारपीट हो गई। जिसमें एक पक्ष से सुभाष, कुंजल, मनीषा, राजबहादुर तथा दूसरे पक्ष से महेंद्र, योगेंद्र घायल हो गए।

यह भी पढ़ें-

खुटहन उपद्रव में ग्राम प्रधान समेत तीन को जेल

खुटहन ब्लॉक प्रमुख के अविश्वास प्रस्ताव के मतदान के दौरान हुए उपद्रव में आरोपी खुटहन गांव के प्रधान समर बहादुर यादव समेत 3 लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। प्रधान को दबिश देकर शनिवार रात उनके घर से ही उठाया गया। उनकी गिरफ्तारी के बाद ग्रामीण आक्रोशित हुए गए हैं। उनका आरोप है कि, पुलिस निर्दोष लोगों को फंसा रही है।


बता दें कि, बीते 6 नवंबर को ब्लाक प्रमुख सरयू देई के खिलाफ नीलम सिंह द्वारा अविश्वास प्रस्ताव लाया गया था। मतदान के दौरान हुई फायरिंग, तोड़फोड़, व आगजनी मामले में पुलिस ने 11 नामजद सहित डेढ़ सौ से अधिक लोगों पर मुकदमा दर्ज किया। जिसमें आठ आरोपियों को पुलिस दूसरे दिन ही गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है।

INPUT- जावेद अहमद

Show More
ज्योति मिनी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned