जौनपुर से गिरफ्तार हुआ ' मि. नटवरलाल '  का बाप

जौनपुर से गिरफ्तार हुआ ' मि. नटवरलाल '  का बाप
vicious swindler arrerst

आईपीएस से लेकर कई पुलिस अधिकारियों से की थी ठगी, 40 से अधिक पुलिस कप्तानों से ठगी, बड़ी खबर बताने का झांसा देकर अकाउंट में मंगवाता था पैसा 

जौनपुर. 40 से अधिक पुलिस कप्तानों को ठगने वाले शातिर अपराधी को चंदवक पुलिस ने बुधवार को गिरफ्तार कर लिया। ये ठग अधिकारियों को बड़ी खबर बताने का झांसा देकर अपने खाते में पैसे मंगवा लेता। इसके बाद फरार हो जाता था। एसपी के अलावा करीब 150 अन्य पुलिसकर्मियों को भी ये अपना शिकार बना चुका है। पीलीभीत का रहने वाला आरोपी मादक पदार्थों की तस्करी में 12 साल जेल में भी रहा। इसके पास से गांजा, एटीएम कार्ड और सिम कार्ड भी बरामद हुआ है।


बीते 2 जुलाई को एसपी आवास स्थित कंट्रोल रूम में अंजान नंबर से फोन आया। फोन करने वाले ने संदेश दिया कि उसके पास बड़ी खबर है, स्वाट प्रभारी से इसी नंबर पर बात कराएं। पता चलते ही स्वाट प्रभारी ने उक्त व्यक्ति को फोन किया। उन्हें बताया गया कि क्राइम संबंधी बड़ी खबर उसके पास है। सफलता मिलते ही आउट आफ टर्न प्रमोशन पक्का है। खबर के लिए प्रभारी को वाहन खर्च के तौर पर 7 हजार रूपए खाते में जमा करना होगा। बड़ी खबर की लालच में स्वाट प्रभारी ने खाते में पैसा जमा कर दिया। व्यक्ति ने 10 जुलाई की सुबह 8 बजे जलालपुर रेलवे स्टेशन पर खबर देने का वादा किया। तय समय और स्थान पर पहुंचकर उसे फोन लगाया गया तो फोन नहीं लगा। स्वाट प्रभारी को तुरंत ज्ञात हो गया कि वो ठगी का शिकार हो गए हैं। उन्होंने जलालपुर थाने में तहरीर देते हुए एसपी रोहन पी कनय को भी अवगत कराया। सर्विलांस से पता चला कि आरोपी पीलीभीत के अमरीया थानांतर्गत उदयपुर गांव का रहने वाला है। 

एसओ जलालपुर ने दिए गए खाते के संचालक का पता लगाकर थाने पर बुलाया। यहां पहुंचकर व्यक्ति ने अपना नाम उदयपुर निवासी मोहम्मद आलम बताया। ये भी कहा कि उसके पड़ोसी मोहम्मद सईद ने जरूरी काम बताकर तीन महीने पहले उसका खाता नंबर और एटीएम ले लिया था। मोहम्मद सईद उसके साथ ही जौनपुर आया हुआ है। वो गांजे की तस्करी भी करता है। गांजा लेने के लिए ही गाजीपुर चला गया है। गांजे की तस्करी में वो 12 साल जेल में भी बिता चुका है। पुलिस के कहने पर आलम ने सईद को फोन किया तो उसने अपनी लोकेशन गाजीपुर के खानपुर बताया। कहा कि चंदवक से बस पकड़कर वाराणसी चला जाएगा। 

थोड़ी देर बाद सईद की लोकेशन चंदवक मिली तो एसओ जलालपुर ने एसओ चंदवक को घेराबंदी करने को कहा। इस पर सईद पकड़ लिया गया। उसके पास से 5 किलो गांजा, 2 एटीएम कार्ड, 1 मोबाइल और 2 सिम कार्ड बरामद हुआ। गुरूवार को एसपी रोहन पी कनय ने बताया कि आरोपी मुखबिरी करने के नाम पर 40 से अधिक एसपी, करीब 25 एएसपी और 80 थानाध्यक्षों के सीयूजी नंबर पर फोन कर ठग चुका है। सभी को ये बड़ी खबर और प्रमोशन का लालच देता।  
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned