सपा नेताओं ने दिखाई ताकत, विजय नाथ यादव से छीन ली ब्लॉक प्रमुख की कुर्सी

बैठक में 67 सदस्य हुए शामिल, अविश्वास प्रस्ताव के पक्ष में

By: ज्योति मिनी

Published: 04 Jan 2018, 06:40 PM IST

जौनपुर. सिकरारा ब्लॉक मुख्यालय के सभागार भवन में गुरुवार को कड़ी सुरक्षा के बीच ब्लॉक प्रमुख विजय यादव के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पारित हो गया। उपस्थित 67 बीडीसी सदस्यों में से सभी ने अविश्वास के पक्ष में मतदान किया। जबकि विपक्ष में एक भी मत नहीं पड़े। सदन मे बहुमत खो देने के बाद ब्लॉक प्रमुख की कुर्सी छिन गई। उधर नए प्रमुख के चुनाव हेतु भी सुगबुगाहट शुरू हो गया।


उपजिलाधिकारी सदर प्रियंका प्रियदर्शिनी के अध्यक्षता में दिन अविश्वास प्रस्ताव की खानापूर्ति हेतु सभागर भवन में बैठक शुरू हुआ। इसमें 67 बीडीसी सदस्य मौजूद हुए। उपस्थित सदस्यों को दो घंटे की परिचर्चा की मोहलत देने के बाद दिन में एक बजे से मतदान प्रारंभ हुआ। सभी ने पर्ची के माध्यम से मतदान किया। प्रमुख के अविश्वास प्रस्ताव के पक्ष व विपक्ष में बीडीसी सदस्यों ने मोहर लगा कर पर्ची बैलेट बाक्स में डाल दी।

लगभग दो घंटे चले मतदान के बाद बीडीसी सदस्यों के सामने ही उपजिलाधिकारी सदर, तहसीलदार सदर आशाराम वर्मा, एडीओ पंचायत राजेन्द्र सिंह के निगरानी में मतगणना शुरू हुई। सभी 67 मत बैध पाए गए। उपजिलाधिकारी सदर ने माइक से ज्यों ही अविश्वास प्रस्ताव का परिणाम घोषित किया सदन में बैठे बीडीसी सदस्य तालियां बजाने लगे। 7 फरवरी 2016 को हुए ब्लॉक प्रमुख चुनाव में विजय यादव ने पूर्व प्रमुख समरनाथ को हराकर कुर्सी हासिल की थी। वहीं सपा की तरफ से राजनाथ उम्मीदवार थे।

उनका कार्यकाल दो वर्ष भी पूरा नही हो सका था। उनके खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने के लिए पूर्व प्रमुख समरनाथ यादव ने 57 बीडीसी सदस्यों की सूची जिलाधिकारी को सौपी तो अविश्वास प्रस्ताव के लिए बैठक व मतदान के लिए गुरुवार का दिन तय किया गया। जो कड़ी सुरक्षा के बीच सकुशल सम्पन्न हुआ। इस दौरान अपर पुलिस अधीक्षक ग्रामीण संजय राय, क्षेत्राधिकारी सदर विनय द्विवेदी, एसओ बक्शा शिव शंकर सिंह, सिकरारा विमल प्रकाश राय, अरविंद पांडेय, विनोद यादव सहित पुलिस फोर्स तैनात थी।

input- जावेद अहमद

 

ज्योति मिनी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned