कृष्णा यादव के परिवार से मिला समाजवादी पार्टी प्रतिनिधि मंडल, हिरासत में मौत की जांच हाईकोर्ट के जज से कराने की मांग

राम गोविंद चाौधरी के नेतृत्व में मृतक कृष्णा यादव के परिवार से मिला समाजवादी पार्टी का जांच पैनल

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

जौनपुर. पुलिस कस्टडी में हुई कृष्णा यादव उर्फ 'पुजारी' की मौत के बाद समाजवादी पार्टी में भी अब इसमें कूद पड़ी है। राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव द्वारा इस मामले की जांच के लिये गठित समाजवादी पार्टी का पैनल नेता प्रतिपक्ष रामगोविंद चौधरी के साथ रविवार को कृष्णा यादव के घर गए। उनके साथ कई विधायक मौजूद थे। वहां सभी ने पीड़ित परिवार से बात की। शासन से मांग उठाई कि परिवार को 20 लाख रुपये मुआवज़ा और हाईकोर्ट के जज से मामले की जांच कराई जाए।


नेता प्रतिपक्ष रामगोविंद चौधरी के साथ शाहगंज विधायक शैलेंद्र यादव ललई, मल्हनी विधायक लकी यादव, मछली शहर विधायक जगदीश सोनकर के साथ कई पूर्व सांसद और पूर्व विधायक बक्शा थाना क्षेत्र के चक मिर्जापुर स्थित कृष्णा यादव के घर पहुंचे। यहां समाजवादी पार्टी के नेता कृष्णा यादव के परिवार से मिले। यह भी जानने की कोशिश किया कि घटना वाली रात क्या हुआ था। परिवार से मुलाकात व पूरी जानकारी लेने के बाद इसकी रिपोर्ट तैयार कर अखिलेश यादव को सौंपी जाएगी।


इस दौरान रामगोविंद चौधरी ने यूपी सरकार पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि योगी सरकार में पुलिस ठोको नीति पर चल रही है। जिसे पाती है ठोक देती है, चाहे वह आम इंसान हो, कोई नेता हो या कोई और। यहां कोई सुरक्षित नहीं है। प्रदेश की सत्ता मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से नहीं संभल रही है। ऐसे में उन्हें इस्तीफा दे देना चाहिए।


दरअसल पुलिस ने बीते गुरुवार की शाम कृष्णा उर्फ किशन उर्फ पुजारी को हिरासत में लिया था। उसे थाने ले जाकर घंटों पूछताछ की गई। आरोप है कि इस दौरान उसकी जमकर पिटाई की गई। जिससे उसकी हालत खराब हो गई। पुलिस कृष्णा को सीएचसी ले गई वहां हालत गंभीर देख डॉक्टरों ने उसे जिला अस्पताल रेफर कर दिया। इलाज के दौरान वहां उसकी मौत हो गई। खबर मिलते ही ग्रामीण उग्र हो गए और जिला अस्पताल की मोर्चरी के बाहर हंगामा करने लगे। यहां से काफी संख्या में लोग इलाहाबाद हाईवे स्थित पकड़ी के पास भी धरने पर बैठ गए। इस दौरान हुई पत्थरबाजी में कई पुलिसवाले घायल भी हुए थे।

Show More
रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned