जौनपुर में तलाक बना मौत का कारण

जौनपुर में तलाक बना मौत का कारण
suicide

मुंबई रह रहे पति ने फोन से पत्नी को दिया तलाक, पत्नी ने की आत्महत्या

जौनपुर. पंवारा थानांतर्गत रज्जूपुर गांव की विवाहिता को पति ने फोन पर तलाक दे दिया तो मंगलवार को उसने फांसी लगा ली। मृतका की शादी चार साल पहले प्रतापगढ़ में हुई थी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा दिया। परिजनों ने दहेज प्रताड़ना का आरोप तो लगाया लेकिन तहरीर नहीं दी है।

रज्जूपुर गांव निवासी मोहम्मद हुसैन अली की बेटी तस्लीमुन निशा की शादी प्रतापगढ़ के फतनपुर थानांतर्गत बहदौली गांव निवासी मोहम्मद नफीस से 2012 में हुई थी। मोहम्मद नफीस मुंबई में रहकर कामकाज करता है। शादी के बाद से ही तस्लीमुन निशा को ससुरालीजन दहेज के लिए प्रताड़ित किया करते थे। पति भी तस्लीमुन निशा से खुश नहीं था। 29 मई को मोहम्मद नफीस ने तस्लीमुन निशा को फोन किया तो बातों-बातों में उसे फोन पर ही तलाक दे दिया। 

पति के मुंह से तलाक शब्द सुनते ही तस्लीमुन निशा के पैरों तले जमीन खिसक गई। पति से उसने रो-रोकर लाख मिन्नतें की लेकिन उसकी एक न सुनी गई। हारकर तस्लीमुन निशा अपने घर चली आई। घर पहुंचकर उसने अपने परिजनों को सारी बात बताई तो यहां भी कोहराम मच गया। परिजनों ने मोहम्मद नफीस से फोन पर बात की लेकिन उनको भी टका सा जवाब मिल गया। रही सही कसर खत्म होते देख मंगलवार की शाम तस्लीमुन निशा ने खुद को कमरे में बंद कर लिया। 

कमरे की छत में लटक रहे चुल्ले से फंदा बनाकर उसने आत्महत्या कर ली। वहीं कमरे के बाहर तस्लीमुन निशा का छोटा भाई खेल रहा था। उसने कमरे का नजारा देखा तो चीख मारकर रोने लगा। शोर सुनकर परिजन और ग्रामीण भी वहां जुट गए। सूचना पुलिस को दी गई तो सीओ मछलीशहर हितेंद्र कृष्ण मयफोर्स मौके पर पहुंचे। वहां उन्होंने शव को उतरवाकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा। सीओ के सामने परिजनों ने ससुरालीजनों पर दहेज प्रताड़ना का आरोप लगाया। लेकिन तहरीर नहीं मिलने से मुकदमा दर्ज नहीं हो सका था। सीओ ने बताया कि तहरीर मिलने पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी। 
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned