३० रुपए पैकेट के दूध की ५० रुपए में हो रही थी बिक्री, तहसीलदार से शिकायत

कुछ लोगों के नहीं मानने पर प्रशासन ने सख्ती दिखाई, इसके बाद पूरा नगर बंद हुआ

By: kashiram jatav

Published: 24 Mar 2020, 12:43 AM IST

राणापुर. एक वाहन में करीब 7 यात्री आणंद से आ रहे थे। पुलिस के पूछने पर उन्होंने बताया कि वे जबलपुर अपने गुरुजी के दर्शन करने जा रहे हैं। तभी तहसीलदार रविंद्र चौहान ने समझाया कि जबलपुर व प्रदेश के कई जिलों की सीमाएं सील कर दी गई हैं, इसलिए आप आगे नहीं जा सकते। इसके बाद सभी को वापस गुजरात की ओर रवाना कर दिया। एक स्थान पर ३० रुपए पैकेट के दूध की ५० रुपए में बिक्री होने की शिकायत भी मिली।

तहसीलदार व पुलिस प्रशासन ने लोगों से आग्रह किया कि जरूरत पडऩे पर घर से बाहर निकलें। आप सभी अपनी सुरक्षा के लिए घरों में ही रहें और अपना समय व्यतीत करें। बैंक में भी सुनसान माहौल रहा। सुबह सब्जी की दुकानें और नगर के कई चौराहों पर भीड़ लगने लगी। इसको देखते हुए प्रशासन हरकत में आया और तहसीलदार रवींद्र चौहान ने पुलिस बल एवं नगर परिषद के अमले को तुरंत थाने पर बुलाया और टीम बनाकर नगर भ्रमण पर निकल पड़े। प्रशासन ने सुभाष मार्ग में मटकों की दुकानों को हटाया। कालिका मंदिर रोड पर कुछ दुकानें खुली थी, जिन्हें समझाइश देकर बंद कराया गया। बस स्टैंड पर फल की दुकानों को दूर-दूर कराया। कुछ लोगों के नहीं मानने पर प्रशासन ने सख्ती दिखाई। इसके बाद पूरा नगर पूर्णता बंद हुआ।

मछली की दुकानें हटाई, स्लाटर हाउस किया बंद : वार्ड पांच में भाई मोहल्ले में जो भ्रमण करते प्रशासन की टीम पहुंची तो वहां गंदगी और बदबू को देखकर तहसीलदार लोगों पर बिफर पड़े। उन्होंने यहां लगी मछली की दुकानों को बंद कराया। सीएमओ को निर्देश दिए कि बैठक बुलाकर सभी दुकानों को चिन्हित स्थान किया गया है वहां पर ही दुकानें लगाई जाए।

स्थानीय लोगों ने की शिकायत
तहसीलदार रविंद्र चौहान से लोगो ने शिकायत की दुकानदार 30 रुपए की दूध की थैली 50 में बेच रहे हैं। इस दौरान प्रशासन ने दुकानदार को बुलाया। दुकानदार ने बताया कि मैं खुद ऊंचे भाव में अमूल वाले के यहां से लेकर आ रहा हूं । इसलिए मैंने भी उच्च भाव में बेची है।
नगर परिषद करा रही थी निर्माण कार्य
एक तरफ कलेक्टर ने आदेश जारी किया कि सभी निर्माण कार्यों 25 मार्च तक बंद है। प्रशासन नगर में सभी निर्माण कार्य बंद करवा रहा था। वहीं इस प्रशासनिक अमले को बस स्टैंड पर नगर परिषद ने रोड के निर्माण कार्य का कार्य केदार द्वारा किया जा रहा था, जो दिखाई नहीं दिया। लोगों ने इसकी शिकायत की और विरोध करने लगे तब काम को बंद करवाया।

ताड़ी पी रहे लोगों को पुलिस भगाया
प्रशासनिक अमला कुंदनपुर पर पहुंचा तो वहां पर पेट्रोल पंप के सामने कुछ आदिवासी इक_ा होकर डीजे की आड़ ताड़ी पी रहे थे। प्रशासन तुरंत मौके पर पहुंचा जिसे देखकर सभी वहां से भाग गए। प्रशासन ने उन्हें दौड़ लगाकर पकड़ा और शक्ति से उन्हें उनके घर पहुंचाने के निर्देश दिए कि आप अपने घर जाइए। नहीं तो आप पर भी कार्रवाई की जाएगी।

kashiram jatav
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned