Farmers protest : नहर में पानी नहीं छोडऩे से फसल सूखी, आक्रोशित किसानों ने चक्काजाम की दी चेतावनी

कई दिन से नहर में पानी छोडऩे कर रहे थे मांग, सुनवाई नहीं हुई तो दिया धरना

By: tarunendra chauhan

Published: 25 Feb 2021, 01:54 AM IST

झाबुआ. माही जल संथा सारंगी और ग्राम बोडायता के किसानों ने माही विभाग के दोनों सबडिवीजन के एसडीओ आर जामोद और ए कुरैशी को मौके पर बुला कर सूख रही खड़ी फसल को दिखाया और नहर को चालू करवाने की मांग को लेकर खूब खरीखोटी सुनाई।

किसानों ने कहा कि सारंगी क्षेत्र में माही नहर का पानी 15 दिन बाद चलाया गया और अब नहर को बंद कर दिया है। जिससे फसल सूख रही है। किसान लगभग आठ दिनों से एसडीओ कुरैशी से फोन पर बात कर नहर चालू करवाने का अनुरोध कर रहे थे, लेकिन माही के एसडीओ और इंजीनियर किसानों को केवल आश्वासन दे रहे थे। जब किसानों से सूखती फसल नहीं देखी गई तो, समीपस्थ मोहनपुरा फाटे पर एकत्र होकर एसडीओ को मौके पर बुलाने की जिद पर अड़ गए।

धरना देकर तत्काल नहर खोलने की मांग पर अड़े
माही संथा के अध्यक्ष अग्निनारायण सिंह ने अधिकारियों की हठधर्मिता और किसानों के साथ हो रहे भेदभाव पर एसडीओ को खरी-खोटी सुनाई । एसडीओ जामोद और कुरैशी ने अपनी गलती स्वीकार की और लोगों को दो दिन में नहर खोलने का आश्वासन दिया। कुछ किसान मौके पर ही धरना देकर तत्काल नहर खोलने की मांग करने पर अड़े गए, लेकिन माही संथा के अध्यक्ष ने किसानों को समझाकर दो दिन और देखने की बात कही।

चक्काजाम करने की चेतावनी
किसानों ने कहा अगर अधिकारी के आश्वासन पर नहर चालू नहीं होती है तो दो दिनों बाद सारंगी और बोडायता क्षेत्र के किसानों द्वारा मुख्य हाइवे पर चक्काजाम किया जाएगा, जिसकी सभी जवाबदेही प्रशासन की रहेगी। मौके पर माही संस्था के अध्यक्ष अग्निनारायण सिंह , जनपद सदस्य योगेंद्र सिंह, माही संथा के सभी मेंबर और क्षेत्र के किसान उपस्थित थे।

Show More
tarunendra chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned