जिलेभर में हुआ ‘गृहे-गृहे’ गायत्री यज्ञ

कोरोना महामारी से मुक्ति के लिए गायत्री परिवार का आध्यात्मिक अभियान

By: kashiram jatav

Published: 31 May 2020, 10:56 PM IST

झाबुआ. अखिल विश्व गायत्री परिवार शातिकुंज हरिद्वार के आह्वान पर स्थानीय गायत्री शक्ति पीठ के पं. घनश्याम बैरागी एवं नलीनी बैरागी के मार्गदर्शन मे सम्पूर्ण जिले में गृहे-गृहे गायत्री यज्ञ में 7500 से अधिक परिवारों ने प्रात: 9 से शाम 5 बजे तक शास्त्रोक्त विधि से अपने-अपने घरों में श्रद्धा, भक्ति एव समर्पण भावना के साथ विश्व एवं भारत से कोरोना महामारी की मुक्ति के लिए हवन में आहुतियां दी।

नलिनी बैरागी ने बताया कि पूरे विश्व में 31 मई रविवार को सुबह 7 से शाम 5 बजे तक 15 करोड़ परिवारो में पृथक पृथक रूप से गायत्री यज्ञ किया। गृहे-गृहे गायत्री यज्ञ में प्रत्येक परिवार में पवित्रीकरण मंत्र के बाद चन्दन धारणम, रक्षा सूत्रम, गुरुपूजन, अग्नि स्थापना के साथ भगवत स्मरण करते हुए गायत्री मंत्र ओम् भूर्भुवस्व: तत्सवितुवरेण्यण् के साथ 24.24 आहूतियां यज्ञ में दी। इसके बाद मृत्युंजय महामत्र के साथ 5-5 आहूतियां यज्ञ में अर्पित की गई। इस आयोजन में प्रत्येक परिवार द्वारा मंत्रोच्चार के साथ आहुतियां देने का वृहद आयोजन पूरे जिले में इन घरों में पृथक पृथक एक साथ किया गया।
इसी कड़ी में कोरोना निर्मूलन के लिए शास्त्रोक्त मंत्रों द्वारा तीन-तीन आहुतियां दी। एवं देव दक्षिणा पूर्णाहुति मत्रोच्चार के साथ संपन्न हुई। तत्पश्चात विराजंन आरती, कर्पूर आरती के बाद शांतिपाठ किया गया। पूरे जिलेे में अखिल विश्व गायत्री परिवार के आह्वान पर बड़ी सख्या में श्रद्धालुओं ने लघु यज्ञ में आहुतियां देकर कोराना मुक्ति के लिए प्रार्थना आराधना का अभिनव आयोजन किया गया। घनश्याम बैरागी ने बताया कि झाबुआ जिले में शातिकुंज हरिद्वार की ओर से 2500 परिवारों में गृहे-गृहे गायत्री यज्ञ का लक्ष्य निर्धारित किया था। इसके विरुद्ध जिले में ही 7500 से अधिक परिवारों द्वारा यज्ञ में आहूतियां देने का कीर्तिमान स्थापित किया गया। उन्होंने बताया कि झाबुआ नगर में ही 2500 परिवार, थांदला में 1500, खवासा में 500, पेटलावद में 1500, रानापुर 250, मांडली नाथू में 100, मेघनगर अंचल में 650 परिवारों ने निर्धारित समय पर कोराना मुक्ति के लिए आहुतियां देकर कोरोना के निर्मूलन के लिए अनुष्ठान किए।

नलिनी बैरागी ने बताया कि 1 जून को माता गायत्री की जयन्ती पर गायत्री शक्तिपीठों पर दीप यज्ञ होगा। इसमें प्रत्येक परिवार द्वारा शाम 7 बजे अपने-अपने घरों पर 5-5 दीपक प्रज्ज्वलित किए जाएंगे तथा मां गायत्री की कृपा के लिए पूजा अर्चना वंदना की जाएगी।

कोरोना से मुक्ति व पर्यावरण संरक्षण के लिए यज्ञ
थांदला रोड. कोरोना से मुक्ति व पर्यावरण के संरक्षण के लिए घरों में गायत्री यज्ञ किया गया। गायत्री परिवार की ओर से आयोजित घर-घर गायत्री यज्ञ का मुख्य उद्देश्य मानव का कल्याण, पर्यावरण संरक्षण तथा कोरोना वायरस महामारी से मुक्ति था। लोगों ने सुबह 9 से 12 बजे के बीच में यज्ञ किया। इसमें उन्होंने 11 आहुति गायत्री मंत्र और 5 आहुति महामृत्युंजय मंत्र की आहुति यज्ञ भगवान को समर्पित की और सभी ने कोरोना की मुक्ति की कामना को लेकर घरों में शांति पूर्वक यज्ञ किया। थांदला रोड में नानालाल अमलियार, कांतिलाल परमार, कुंवर सिंह परमार, गोपाल खपेड़, मांगीलाल बसोड, जोखा भाई परमार, गायत्री मंदिर के पुजारी जय सिंह परमार एवं मुकेश सोनी के घरों में यज्ञ हुआ।

kashiram jatav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned