अजीत को मिला बेस्ट साउंड डिजाइनर का अवॉर्ड

पहले भी राष्ट्रपति पुरुस्कार व गुजरती फिल्म के लिए मिल चुका है पुरस्कार

झाबुआ. वेब इंटरटेनमेंट प्रोग्राम्स के लिए इस वर्ष से शुरू किए आईडब्ल्यूएम इंडियन वेब पीडिया डिजिटल अवॉड्र्स में झाबुआ के अजीत सिंह राठौर को टीवीएफ द वायरल फीवर की वेब सीरीज ह्यूमरसली योर्स के लिए बेस्ट साउंड डिजाइनर का अवार्ड दिया गया है। शो के डायरेक्टर अमित गोलानी है।

अवॉड्र्स फि़ल्म सिटी में आयोजित एक कार्यक्रम में दिए गए। यह वेब सीरीज यूट्यूब पर उपलब्ध है और काफी पसंद की गई। आज के दौर में मोबाइल फोन और लेपटोप के जरिए लोग एप्प्स पर प्रोग्राम देख रहे हैं। अजित एफटीआईआई से साउंड डिजाइन का कोर्स करने के बाद से मुंबई में रहते हैं। पहले भी अजित को गुजरती फिल्म के लिए राष्ट्रपति पुरुस्कार मिल चुका है।

इसके आलावा इनकी कई फिल्में वेनिस फिल्म फेस्टिवल एवं अन्य फिल्म फेस्टिवल्स में भी प्रदर्शित की गई। हाल ही में फि़ल्म अश्वत्थामा प्रोड्यूस करने के बाद अजित फि़ल्म प्रोड्यूसर बन चुके हैं। छोटे शहरों से बड़े सपने देखने वाले युवाओं के लिए अजीत का कहना हैकि सपनों को पूरा करने के लिए लगातार प्रयास करने होंगे। आधुनिक तकनीक का ज्ञान और कड़ी मेहनत करने वालों को निश्चित ही सफलता मिलती है।

बच्चों को पिलाई पोलियो की दवा
वार्ड 5 में जैन श्वेतांबर मंदिर बावन जिनालय परिसर में स्थित पोलियो बूथ पर 0-5 वर्ष तक के बच्चों को पोलियों की दवाई पिलाई गई। यहां दवाई पिलाने के कार्य में सहयोग रोटरेक्ट क्लब अध्यक्ष रिंकू रूनवाल द्वारा प्रदान किया गया। इस अवसर पर नगरपालिका अध्यक्ष मन्नूबेन डोडियार, श्वेतांबर जैन समाज की श्राविका चन्द्रकांताबेन कांठी, कविता मेहता एवं शकुंतला कोठारी ने भी उपस्थित होकर बच्चों को दिवाई पिलाने का कार्य किया। बुथ पर आंगनवाड़ी कार्यकर्ता विजेता कोठारी एवं जीएनएम ललिता ललिता गुंडिया आदि ने अपनी सेवाएं दी। उक्त बुथ पर शाम 5 बजे 100 से अधिक बच्चो ंको दवाई पिलाने का कार्य हुआ।

झाबुआ. महिलाओं ने होली से 10 दिन बाद आने वाले दशामाता पर्व पर पीपल के पेड़ की पूजा की। महिलाओं ने धागा बांधते हुए पीपल के पेड़ की परिक्रमा लगाई।सुबह 6 से दोपहर 4 बजे तक महिलाएं पीपल के पेड़ की पूजा करती रही। कुछ छांव में अपनी बारी के इंतज़ार के लिए खड़ी रही। सौभाग्य प्राप्ति के लिए महिलाओं ने दिनभर व्रत रखा। पूजन के बाद महिलाओं ने दशामाता की कथा सुनी। गोपाल कॉलोनी एवं कॉलेज मार्ग पर दशामाता पूजन के लिए महिलाओं की भीड़ रही।

 

अर्जुन रिछारिया Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned