एक दिन नीलामी के बाद मंडी बंद, 9 दिन से वीरान पड़ी, उपज बेचने किसान हो रहे परेशान

प्रशासन कह रहा मंडी परिसर में गोदाम नहीं, इसलिए नहीं हो रही नीलामी

थांदला. किसानों की सुनवाई न तो नेता कर रहे हैं और नाही अधिकारी। कभी सूखे तो कभी अतिवृष्टि में चौपट हुई फसल से चिंतित किसान को न मुआवजा मिलता है और नाही किसी तरह की कोई योजना का लाभ। प्राकृतिक आपदा के बाद बची खुची फसल मंडी में लाते हैं तो मंडी बंद मिलती है। मजबूरन किसानों को कम दामों पर बाजार में फसल बेचनी पड़ रही है।

थांदला मंडी में 11 नवंबर को विधायक वीर सिंह भूरिया के आतिथ्य में नई मंडी परिसर में सोयाबीन व कपास खरीदी का शुभारंभ हुआ था, परंतु मुहुर्त के बाद से मंडी परिसर वीरान हो गया है। यहां केवल शुभारंभ के दिन ही बोली लगी थी। इसके बाद व्यापारी मंडी में दुकान नहीं लगाते। इससेकिसान मंडी से लौट रहे हैं।
नियमानुसार व्यापारियोंं को मंडी परिसर में ही सोयाबीन एवं कपास की खरीदी करना है। प्रभारी मंडी सचिव का कहना है व्यवस्था इस प्रकार की गई है कि ज्यादा आवक मंडी में नीलाम होगी व छोटे मोटे किसानों से व्यापारी बाजार में ही अपनी निजी दुकानों पर माल खरीद सकेंगे। ऐसी व्यवस्था किए जाने का कारण नवीन मंडी परिसर में गोदाम न हो पाना बताया जा रहा है। जबकि बीते वर्षों में इसी मंडी परिसर में व्यापारियों द्वारा दुकानें लगाई गई थी, परंन्तु इस वर्ष प्रशासन की उदाशीनता के चलते मंडी वीरान है व कृषक अपनी फसल को लेकर बाजार में भटक रहा है। गम्भीर बात ये भी है कि मंडी प्रशासन ने किसानों की जगह व्यापारियों की सुविधा का ध्यान रखा है। किसानों को एक ही समय पर आने कहा है। वहीं व्यापारियों को समय दिया है। इस दौरान किसान नहीं आते हैें तो नीलामी नहीं होगी। इससे किसानों को बाजार में ही कम दामों पर फसल बेचनी पड़ेगी।

सुविधानुरूप समय तय कर दिया
&व्यापारियों की सुविधानुरूप समय तय कर दिया है। प्रात: 11 बजे एवं दोपहर 1 बजे व्यापारी एवं कृषक एकत्रित होंगे। उस समय एकत्रित सोयाबीन व कपास की नीलामी होगी।
-इस्माइल खान, प्रभारी मंडी सचिव

kashiram jatav
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned