विधायक बोली लोग कह रहे जब से कांग्रेस की सरकार आई बिजली जाने लगी, क्या जवाब दें

जोबट विधायक कलावती भूरिया ने बैठक में उठाया मुद्दा तो बिजली कंपनी के एमडी बोले-शहरी क्षेत्र के साथ ग्रामीण इलाकों में भी 24 घंटे बिजली सप्लाय का इंतजाम किया जा रहा है, कोशिश रहेगी की लाइन ट्रिप न करें

झाबुआ. मुख्यमंत्री कमलनाथ के झाबुआ दौरे से एक दिन बिजली सप्लाय की व्यवस्था की समीक्षा करने के लिए बिजली कंपनी के एमडी विकास नरवाल झाबुआ पहुंचे। इस दौरान झाबुआ-आलीराजपुर जिलों के विधायकों और जनप्रतिनिधियों के साथ उनकी बैठक हुई।

बैठक में जोबट विधायक कलावती भूरिया ने बार-बार बिजली बंद होने का मुद्दा उठाते हुए कहा-लोग हमें बोल रहे हैं कि जब से कांग्रेस की सरकार आई है तब से बिजली जाने लगी। हम उन्हें क्या जवाब दें। इस पर एमडी नरवाल ने कहा शहरी क्षेत्र में 24 घंटे सप्लाय मिल रही है। हमारा प्रयास रहेगा कि लाइन ट्रिप न करें। इसके अलावा ग्रामीण क्षेत्रों में भी निर्बाध रूप से बिजली सप्लाय होता रहे इसकी व्यवस्था की जा रही है। यहां थ्री फेस और सिंगल फेस वाला इश्यु है। जिसे दूर कर लिया जाएगा।

एमडी नरवाल ने बतायाकि पिछले साल की तुलना में इस साल सप्लाय की स्थिति बेहतर है। जो भी समस्या है उसे अगले 10-15 दिनों में दूर कर लेंगे। बिजली के कारण किसानों की फसल बर्बाद नहीं होने देंगे। झाबुआ विधायक कांतिलाल भूरिया ने बिजली कंपनी के ठेकेदारों की मनमानी की बात रखी। उन्होंने कहा जितने भी पुराने ठेकेदार हैं। उन्हें यहां से हटाया जाए और नए ठेकेदारों को काम दें। ताकि व्यवस्थाएं सुचारू हो सके। उन्होंने पेटी कॉन्ट्रेक्टर व्यवस्था को भी बंद करने की बात कही।

थांदला विधायक वीरसिंह भूरिया, पेटलावद विधायक वालसिंह मेड़ा और आलीराजपुर विधायक मुकेश पटेल ने भी अपने-अपने क्षेत्र की समस्या उठाई। युवक कांग्रेस नेता आशीष भूरिया ने बतायाकि बिजली कंपनी के अधिकारी-कर्मचारी ट्रांसफार्मर उठाने और लगाने के ग्रामीणों से रुपए लेते हैं। मथियास भूरिया ने राणापुर क्षेत्र के ग्राम थुवादरा से गुजर रही 11केवी लाइन में इस्तेमाल किए गए खराब बिजली पोल की तरफ ध्यान दिलाया तो एमडी ने उसे बदलने के निर्देश दिए। बैठक में डॉ. विक्रांत भूरिया, जिला कांग्रेस अध्यक्ष निर्मल मेहता, सुरेशचंद्र जैन, नपाध्यक्ष मन्नूबेन डोडियार, शहर कांग्रेस अध्यक्ष गौरव सक्सेना सहित बिजली कंपनी के अधिकारी-कर्मचारी मौजूद थे।

लक्ष्य से 2 प्रतिशत अधिक वसूली पर झाबुआ शहर के उपभोक्ताओं को सराहा-
बिजली का बिल समय पर जमा करने के मामले में झाबुआ शहर के उपभोक्ताओं ने सभी को पीछे छोड़ दिया है। यहां के 11 हजार 570 उपभोक्ता दर्ज है। अक्टूबर माह में राजस्व वसूली के निर्धारित लक्ष्य से 2 प्रतिशत अधिक वसूली हुई है। इस पर एमडी विकास नरवाल ने खुशी जाहिर करते हुए झाबुआ शहर के उपभोक्ताओं का आभार माना है। उन्होंने कहा जिस तरह से उपभोक्ताओं ने अपनी जिम्मेदारी निभाई है। उसके अनुरूप अब हमारा दायित्व भी बन जाता है कि उन्हें बेहतर सुविधा मुहैया कराएं।

24 घंटे में पोल बदलने के निर्देश
बैठक में वार्ड 7 के पार्षद रशीद कुरैशी ने एमडी के समक्ष अपने वार्ड में क्षतिग्रस्त हो रहे बिजली के पोल की समस्या रखी तो वे एई उमाशंकर पाटीदार पर उखड़ गए। उन्होंने कहाकि इतनी छोटी सी बात के लिए मुझे निर्देश देना पड़ रहे हैं तो फिर आपका यहां होने का क्या मतलब है। 24 घंटे में पोल बदलकर मुझे रिपोर्ट दीजिए। शहरी क्षेत्र में व्यवस्था चाक-चौबंद होनी चाहिए।

झाबुआ-आलीराजपुर को मिलेगी ये तीन सौगात-
1. झाबुआ जिले के मेघनगर के बाद अब आलीराजपुर जिला मुख्यालय पर भी एक डिपो बनाया जाएगा। जहां सारे जरूरी सामान उपलब्ध रहेंगे।
2. अतिरिक्त 50 नए ट्रांसफार्मर इंदौर से भेजे जा रहे हैं। जिनका जरूरत के अनुसार उपयोग किया जाएगा।
3. शहरी क्षेत्र में निर्बाध बिजली मिलती रहे इसके लिए फीडर सेपरशेन का काम होगा। ताकि फॉल्ट और लाइन ट्रिप होने की समस्या खत्म हो जाए।

इन कर्मचारियों पर होगी कार्रवाई-
बैठक में जनप्रतिनिधियों की शिकायत पर एमडी ने राणापुर के जेई मुकेश परमार, लाइनमेन रमेश गारी, सोंडवा के लाइनमेन केरला बालू व एक अन्य कर्मचारी गुलाबचंद पंवार पर कार्रवाई करने के निर्देश दे दिए। उन्होंने कहा मैं मंगलवार शाम तक यहां पर हूं। इस दौरान ग्रामीण क्षेत्रों में जाकर स्थिति देखूंगा। कहीं भी कोई शिकायत मिलती है तो संबंधित के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी।

kashiram jatav
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned