राणापुर में स्वच्छता सर्वेक्षण टीम के आने पर दिखाने के लिए नप कर्मचारी सफाई करने पहुंचे

स्वच्छता के नाम पर नपा कर रही होर्डिंग लगाकर प्रचार-प्रसार, धरातल पर स्वछता के हालात बद्तर

राणापुर. इतने दिनों से नगर परिषद को नगर की स्वच्छता के बारे में ध्यान नहीं आया ना ही धरातल पर किसी तरह की कोई एक्टिविटी देखी गई, लेकिन स्वच्छता सर्वेक्षण की टीम जब नगर में पहुंची तो नगर परिषद ने आनन-फानन में कर्मचारियों से जगह-जगह सफाई कराने में जुट गई। इससे स्वच्छता सर्वेक्षण की टीम को यह लगे कि नगर में स्वच्छता है। वह उनको नंबर ज्यादा मिल सके।

इस तरह की राजनीति करने में लगे हैं नगर परिषद अपने अंक बढ़ाने के लिए नगर वासियों के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं। जहां एक ओर पिछले कुछ वर्ष पूर्व में नगर की स्वच्छ्ता के मामले में जिले एक अनूठी मिसाल पेश की थी। इससे नगर का नाम जिले में रोशन हुआ था। कुछ समय पूर्व लगभग 2014 में तत्कालीन कलेक्टर द्वारा जिले में स्वच्छ्ता अभियान की शुरुआत राणापुर से ही की थी। उस समय स्वछता में नगर एक अलग छवि थी, लेकिन आज वह धूमिल होती नजर आ रहा है। एक तरफ़ तो नगर परिषद स्वछता के लिए लोगों को प्रेरित करने के लिए चौराहों पर पतरे के डस्टबिन, जगह -जगह बड़े होर्डिंग लगाए, लेकिन लोगों को प्रेरित कर रहे वही नपा खुद स्वच्छ्ता के लिए धरातल पर बोनी साबित हो रही है। पत्रिका ने स्वच्छ्ता की हकीकत जानने के लिए नगर घूमे पता चला स्वच्छ्ता तो केवल बातों पर चल रही है। धरातल पर कुछ नहीं है।

वर्षों से जहां नाली निर्माणक की मांग की जा रही है। वहां पर नाली का निर्माण किया, लेकिन नगर परिषद द्वारा कोई सुनवाई नहीं की जाती है। गंदा पानी सड़कों पर फैला रहा है। मच्छर पनप रहे हैं। इससे कई गंभीर बीमारियों आसपास के रहने वाले लोगों हो सकती है। नगर परिषद द्वारा नगर कचरे के लिए घर घर कचरा वाहन चलाया जा रहा है। ताकि कचरा रोड पर हो पाए, लेकिन जब सुबह नगर परिषद के कर्मचारी घरों एवं दुकानों के बाहर नाली में जमा कचरा निकाल कर दुकानो के सामने छोड़कर चले जाते हैे और शाम को आते उठाने। वहीे उस गीले कचरे से दिन भर के मच्छर पनपते वही दुकानदारों को परेशानी का सामना करना पड़ता है। वही अगर कोई दुकानदार कुछ कहता है तो पानी सूख जाने दो फिर उठा ले जाएंगे।

होटलों का कचरा राणा तालाब में-
नगर स्वछता की हालत खराब है। जिसे देखकर आप कह सकते क्या इस परिषद ने मोदी के स्वछता अभियान गंभीरता से ले रही है। राणातालाब में होटलों का कचरा जा रहा है। होटल के व्यवसाय द्वारा डस्टबीन कचरे भरा तालाब में डाल रहे हैं। फिर उसकी वही पर साफ -सफाई कर रहे हैं।
कई वार्डों में फैली गंदगी
नगर स्वछता की बात करें तो कई वार्डों में गंदगी फैली है। वार्ड नं 6 में पुलिस थाने के पीछे स्वच्छ्ता की ये हालत है। जगह-जगह गंदे पानी, कचरे का ढेर लगा है। झाबुआ रोड पर नालियों को गंदगी भरी है।
सफाई अभियान प्रतिदिन चलना चाहिए
वार्ड एक के रहवासी लोकेश दवे ने कहा कि स्वच्छता तब जोर शोर से की जाती जब कोई स्वच्छता की जांच के लिए टीम आती है। बाकी दिनों सब ठीक-ठाक तरीके से चलाते है, लेकिन जब कोई टीम जांच के लिए आती है उस समय नगर परिषद जो अभियान चलाती है। वह अभियान रोजाना चलना चाहिए। तभी नगर में पूर्ण रूप से स्वच्छ होगा।
वार्ड छह के रहवासी रामप्रताप चौहान ने कहा कि कच्ची नाली है। अभी तक नगर परिषद द्वारा नाली का निर्माण नही किया हमने कई बार नगर परिषद से कहा कोई सुनवाई नहीं हुई। मोनू पाटिल ने कहा कि नगर परिषद के कर्मचारी रोजाना रोड की झाड़ू लगाने तो आते हैं लेकिन साइडों में कचरे का ढेर पड़ा है। गंदगी फैली हुई है जिससे हमें परेशानी का सामना करना पड़ता है।

सफाई करा रहे हैं
नगर में स्वच्छता किस स्तर पर है यह स्वच्छता सर्वेक्षण की रैंकिंग आने पर पता चलेगा। अभी स्वच्छता सर्वेक्षण की टीम नगर में आई है। हम साफ -सफाई करा रहे हैं। सभी जगहों पर आपने हमें बताया कि वार्ड नंबर 6 मैं पुलिस थाने के पीछे बहुत गंदगी जमा है। वही झाबुआ रोड पर नालियों में गंदगी जमा है इसको हम दिखाते हैं।
-कमलेश गोले , नपा सीएमओ राणापुर।

kashiram jatav
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned