गांव लौटे ड्राइवर को लोगों ने समझ लिया कोरोना वायरस से संक्रमित, जांच में कुछ नहीं निकला, ऑब्जर्वेशन में रखा

झकनावदा स्वास्थ्य केंद्र पर भगवानसिंह की स्क्रीनिंग, कुछ नहीं निकला

By: kashiram jatav

Published: 27 Mar 2020, 11:16 PM IST

झाबुआ. एक कोरोना वायरस से संक्रमित के गांव में आने की अफवाह ने लोगों की नींद उड़ा दी। जब बात स्वास्थ्य विभाग तक पहुंची तो एक टीम जांच के लिए गांव में पहुंच गई। हालांकि संक्रमण जैसे कोई लक्षण नहीं पाए गए, लेकिन बाहर से आने की वजह से अब संबंधित व्यक्ति को 14 दिन तक ऑब्जर्वेशन में रखा जाएगा। मामला पेटलावद विकासखंड की ग्राम पंचायत पिपलीपाड़ा का है। बताया जाता है कि गांव का रहने वाला भगवानसिंह पिता गुलाबसिंह सीमावर्तीधार जिले के बेटमा में कैलाश बंजारा के यहां ड्राइवर है और आयशर चलाता है।

पिछले दिनों वह सामान लेकर अपने मालिक के साथ ही हैदराबाद गया था। चूंकि वर्तमान में कोरोना संक्रमण का अंदेशा बना हुआ है तो कैलाश और भगवानसिंह बेटमा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में जांच कराने पहुंचे थे। जहां सब कुछ सामान्य मिला, लेकिन उन्हें एहतियातन 14 दिन तक घर में ही रहने की सलाह दी। कैलाश ने अपने ड्राइवर भगवानसिंह को गुरुवार को उसके घर भेज दिया। जब वह घर पहुंचा तब तक अफवाह उड़ गई कि भगवानसिंह कोरोना संक्रमित है। इसके बाद रात में जिला अस्पताल के आरएमओ डॉ.एसएस चौहान ने पेटलावद बीएमओ डॉ.एमएल चौपड़ा से चर्चा की। इसके बाद एक टीम पिपलीपाड़ा पहुंची। शुक्रवार सुबह झकनावदा स्वास्थ्य केंद्र पर भगवानसिंह की स्क्रीनिंग की गई। जिसमें कुछ नहीं निकला। फिलहाल उसे पेटलावद स्वास्थ्य केंद्र में ऑब्जर्वेशन में रखा गया है।

अस्पताल में पहुंचने वाले मरीजों के लिए सोशल डिस्टेंसिंग फार्मूला
अस्पताल में पहुंचने वाले मरीजों के लिए सोशल डिस्टेंसिंग फ ार्मूले को अपनाया गया। इससे मरीजों की भीड़ अस्पताल परिसर के बाहर तक दिखाई दी। सभी डॉक्टर अपनी केबिन छोडक़र बाहर मरीजों के इंतजार करने की खुली जगह पर टेबल कुर्सी लगाकर मरीजों को देखते रहे। अस्पताल में रोजाना मरीजों की भीड़ रहती है। एक-दूसरे के संपर्क में आकर मरीजों से दूसरों को बीमारियां होने के खतरे को देखते हुए आरएमओ सावन सिंह चौहान ने अस्पताल परिसर में ओपीडी तक ऑयल पेंट सेट मार्किंग की। तीन 3 मीटर की दूरी पर मरीजों के खड़े रहने के लिए गोला बनाया गया। दूसरी तरफ से आने जाने वालों के लिए तीर के निशान बनाए गए जिससे कि लोग एक दूसरे के संपर्क में ना आए। अस्पताल में पहुंचने वाले मरीजों को गार्डों ने अपने अपने स्थान पर खड़े रखने में मदद की।

किसी तरह का संक्रमण नहीं निकला-
&यह सूचना मिली थी कि पिपलीपाड़ा का रहने वाला भगवानसिंह किसी कोरोना संक्रमित के संपर्क में आया है। इसके बाद झकनावदा स्वास्थ्य केंद्र पर उसकी स्क्रीनिंग की गई। ऐसे कोई लक्षण नजर नहीं आए हैं। एहतियातन उसे पेटलावद स्वास्थ्य केंद्र पर ऑब्जर्वेशन में रखा गया है।
- डॉ. एमएल चौपड़ा, बीएमओ, पेटलावद

kashiram jatav
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned