दो दिन की बारिश में ९ लाख की लागत से बना तालाब फूटा

निर्माण की गुणवत्ता पर उठे सवाल : ग्रामीणों का आरोप- भ्रष्टाचार के कारण निम्न गुणवत्ता का बनाया था, शिकायतों पर नहीं दिया ध्यान

बामनिया. इस बार मानसून की पहली बारिश ने ही अंचल में बन रहे तालाबों की गुणवत्ता पर सवाल खड़े कर दिए हैं। इसमें से भ्रष्ट्राचार झलक रहा है। स्थिति यह है कि पहली ही बारिश में तालाब फूट गया है। इसका निर्माण हाल ही में हुआ था।

ग्राम पंचायत बामनिया में मनरेगा में 9 लाख की लागत से एक तालाब बनने का कार्य शुरू हुआ था, अब यह तालाब वास्तविकता में पूरा बना या फिर अधूरा है, यह समझ से परे है। जबकि ग्रामीण जन दबे स्वर बताते हैं कि काम इतनी निम्न गुणवत्ता का था कि ये बहना तय था। किसकी बात में सच्चाई है यह गहन जांच का विषय है। कुछ भी हो लेकिन लाखों की लागत का तालाब हल्की बारिश भी नहीं झेल पाया तो जब झमाझम बारिश का दौर शुरू होगा तो हालात का अंदाजा लगाया जा सकता है। ये तालाब ग्राम पंचायत बामनिया द्वारा बनाया गया था। जो पंचायत द्वारा किया गया कार्य कितना निम्न गुणवत्ता का था ये उजागर कर रहा है। शासन की मंशा को पलीता लगाते हुए गुणवत्ताविहीन सामग्री से बनाया गया। अब देखना यह होगा कि क्या आला अधिकारियों की नींद खुलेगी या यह मामला भी फाइलों में उलझकर रह जाएगा।
तो कैसे फूट गया तालाब
ग्रामीण जन बताते हैं कि थोड़ी सी बारिश में ही हिस्सा बह गया। पानी का इतना अधिक बहाव भी नहीं था कि तालाब फूट जाए। लेकिन अब बड़ा सवाल यह है कि पूरा बनने से पहले ही तालाब का एक जगह का हिस्सा फूट गया। अगर तालाब पूर्णत: भरा जाता तो फिर वह दृश्य क्या होता। इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है। निश्चित तौर पर तालाब जब बनाया गया तब निर्माण की गुणवत्ता को किसी ने न तो परखा और न किसी अधिकारी ने निरीक्षण किया। नतीजा यह निकला कि तालाब अब फूट गया। पंचायत अभी उसकी पूरी राशि नही निकल पाने का रोना रो रही है। पंचायत को उसे पूरा करना है।
निर्माण में मशीनों से किया काम
ग्रामीणों ने कहा तालाब निर्माण में भी हमारा हक मारा गया। पंचायत को स्थानीय लोगों को रोजगार उपलब्ध करवाना था। पर पंचायत ने रात के अंधेरे में जेसीबी से कार्य कराया। इसके सबूत ग्रामीणों ने उपलब्ध करवाए। ग्रामीण आक्रोशित है कि इतनी बार अधिकारियों को शिकायत के बाद भी इतनी घटिया निर्माण सामग्री उपयोग की गई।

 

अर्जुन रिछारिया Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned