नही थम रहा फिल्म पद्मावत का विरोध

पदमावत फिल्म पर पूरे देश में रोक लगाने और आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग को आरक्षण की मांग

पत्रिका नेटवर्क
पेटलावद. राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना ने आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग को आरक्षण देने और पदमावत फिल्म का पूरे देश में इसके प्रदर्शन पर रोक लगाने की मांग करते हुए करवड़ में विशाल वाहन एकता रैली निकाली।
गंगाखेड़ी नागणेचा माता मंदिर से प्रारंभ हुई वाहन रैली में हजारों की संख्या में राजपूत सरदार शामिल हुए। जय भवानी के नारों के साथ रैली करवड़ स्कूल ग्राउंड तक पहुंची। इसके बाद पद यात्रा में परिवर्तित हो गई। जो करवड़ के मार्गों से होते हुए दख भवन पहुंची जहां सभा का आयोजन किया गया। रैली में मुख्य अतिथि प्रदेशाध्यक्ष जीवनसिंह शेरपुर, शैलेंद्र सिंह राठौर, संभाग महामंत्री दौलत सिंह, रतलाम जिलाध्यक्ष जितेंद्रसिंह बरखेड़ी, रतलाम मीडिया प्रभारी राहुल सिंह, इंदौर जिला उपाध्यक्ष अक्षय सिंह, सुरेंद्र सिंह कमलखेड़ा, धार जिलाध्यक्ष राजेंद्र सिंह सलवा, धार जिलासयोजक जितेंद्र सिंह, उज्जैन जिला उपाध्यक्ष लोकेंद्र सिंह मुंदेड़ी, खाचरौद अध्य्क्ष शक्तिसिंह सोनगरा, नगर अध्य्क्ष रतलाम गौरव सिंह पलसोड़ा, पिपलोदा तहसील अध्य्क्ष रविराज सिंह, विशेष रूप शामिल रहे। दख भवन में हुई सभा में सर्व प्रथम मां भारती, महाराणा प्रताप, शिवाजी महाराज, राजा बख्तावर सिंह, एवं राणा पूजा के चित्र पर माल्यापर्ण किया गया।
सभा का संबोधित करते हुए रतलाम जिला अध्य्क्ष ने कहा कि राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना अपने लिए आरक्षण नहीं मांग रही। आरक्षण हम उन लोगों की लड़ाई लड़ रहे हैं जो आर्थिक स्थिति से कमजोर हैं। जिसे आरक्षण की जरूरत है। हम किसी जाति समाज के खिलाफ नहीं है। हम उसकी पक्ष में जिन्हें सच मे आरक्षण की जरूरत है। झाबुआ जिलाध्यक्ष ने कहा कि हमें ऊंच नीच में बड़ा-छोटा सब छोड़ कर एक होना है और समाज के उत्थान के लिए हर हर संभव कार्य करना है। मुख्य अतिथि प्रदेशाध्यक्ष जीवन सिंह शेरपुर ने मीडिया से चर्चा करते हुए बताया कि हम छोटे छोटे स्तर से लेकर बड़े स्तर तक रैलिया निकाल कर समाज को एकजुट कर रहे हैं। इसके बाद हम अपनी मुख्य मांग आर्थिक आधार पर आरक्षण लागू किये जाने को लेकर भोपाल विधान सभा का घेराव करेंगे। उन्होंने कहा कि फिल्म पद्मावत को मुख्यमंत्री शिवराजमंत्री सिंह चौहान ने बेन किया है। इसका हम स्वागत करते हैं। यदि पूरे देश मे फिल्म के प्रदर्शन पर बेन लगाया तो उग्र आंदोलन किया जाएगा।

अर्जुन रिछारिया Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned