डीपी के वसूले 60 हजार, ३ माह से बिजली नहीं

डीपी के वसूले 60 हजार, ३ माह से बिजली नहीं

Arjun Richhariya | Publish: Sep, 08 2018 10:04:47 PM (IST) Jhabua, Madhya Pradesh, India

विद्युत वितरण कंपनी के कर्मचारी फॉल्ट सुधारने के भी ले रहे रुपए, सैकड़ों ग्रामीण अंधेरे में रह रहे

झाबुआ. मुख्यमंत्री चुनावी घोषणाओं में प्रदेश की जनता को कहीं राहत देने के लिए कह रहे हैं। धरातल पर 200 रुपए तक विद्युत बिल की बात तो दूर लोगों को 3 माह से बिजली तक नहीं प्रदाय की जा रही है। मुख्यमंत्री की मंशा पर अधिकारी कर्मचारी पानी फेरने पर तुले हुए हैं। ऐसा ही एक मामला प्रकाश में आया।

काकनवानी थाना अंतर्गत आने वाले गांव कुशलपुरा में बामनिया फलिया में रहने वाले सैकड़ों ग्रामीणों को 3 माह से विद्युत प्रदाय नहीं की जा रही। गांव वालों ने बताया कि कर्मचारियों ने लोगों से लाइन जोडऩे के लिए 2000 रुपए की मांग की है। कर्मचारियों को रुपए नहीं दिए जाने पर 3 माह से ग्रामीणों को अंधकार में रहना पड़ रहा है। गांव के लोगों पांगलिया मडिया, दीता झितरा, कालू मूनसिंह नाथू कलसिंह ने बताया कि अब तक इसी तरह अवैध रूप से गांव वालों से कर्मचारियों द्वारा 60 हजार से अधिक रुपए वसूल किए जा चुके हैं। गांव वालों को बार-बार हो रही समस्याओं को देखते हुए नई डीपी बदलने का लालच देकर 40 हजार की मांग करने वाले कर्मचारियों को गांव वालों ने 3 माह पहले पैसे एकत्रित कर जमा किए थे। इसके बाद सेकंड हैंड डीपी लगाई गई। इसके चलते यह समस्या अभी भी बरकरार है। ग्रामीणों द्वारा शॉर्ट सर्किट में टूटे तार जोडऩे के लिए 3 महीनों से लगातार मांग की जा रही है। इसके लिए बिजली ऑफिस के कार्यालय में उपस्थित बड़े अधिकारियों से लेकर सीएम हेल्पलाइन में भी इसकी शिकायत की जा चुकी है, लेकिन गांव वालों को उससे भी कोई राहत नहीं पहुंची। गांव वालों ने बताया कि कुशलपुरा के बामनिया फलिया में लोगों को पहुंचने के लिए 11 किलोमीटर मुख्य सडक़ से अंदर जाना पड़ता है। यह गांव काफी एक तरफ है। इसलिए कर्मचारी इस बात का फायदा उठा कर ग्रामीणों को परेशान कर रहे हैं।

शाम तक शिकायत दूर हो जाएगी
&इस बारे में जानकारी नहीं है। आपके बताने के बाद काकनवानी जेई श्रवण पारगी से बात की है। उन्होंने बताया 4 दिन पहले यह बिजली का तार टूटा था। तब से गांव में लाइट नहीं है। शाम तक फलिए की यह शिकायत दूर हो जाएगी।
-ब्रजेश कुमार यादव, मुख्य कार्यपालन यंत्री, विद्युत वितरण कंपनी।

Ad Block is Banned