अवैध शराब से भरी जीप पलटने से युवक की मौत के बाद किया हंगामा

पथराव करने पर 3 दर्जन से अधिक लोगों पर केस दर्ज

By: kashiram jatav

Published: 19 Mar 2020, 01:07 AM IST

पेटलावद. अवैध शराब से भरी जीप के पलटने से युवक की मौत के बाद मृतक के परिजन ने मंगलवार को सारंगी में हंगामा कर दिया। सुबह सारंगी चौकी क्षेत्र में शराब से भरी जीप दुर्घटनाग्रस्त हो गई थी। इसमें सुरेश नामक युवक की दबने से मौके पर ही मौत हो गई। जबकि जीप में सवार एक अन्य युवक घायल हो गया था। जिसे पेटलावद सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया। मामले को लेकर हुए हंगामे के बाद भीड़ ने पथराव कर दिया था। इसमें पुलिस के साथ तहसीलदार का वाहन क्षतिग्रस्त हो गया था।

पुलिस ने मौके से वाहनों को जब्त कर आंदोलनकारियों को खदेड़ा। पथराव करने पर 3 दर्जन से अधिक लोगों की नामजद रिपोर्ट दर्ज की गई है। इसमें 200 से अधिक अन्य नाम शामिल हैं। शराब से भरे वाहन पलटने से युवक की मौत के बाद ग्रामीणों ने शराब ठेकेदार पर हत्या का आरोप लगाते हुए हंगामा किया था। बुधवार को मृतक का अंतिम संस्कार किया गया। स्थिति सामान्य है। घटना की जानकारी लेने पहुंचे पुलिस अधीक्षक विनीत जैन ने घटनास्थल का मौका मुआयना किया और मृतक की अंत्येष्टि के पश्चात बाहर से आए दल बल को रवाना किया।

उपद्रव के 5 आरोपियों को जेल भेजा
सारंगी में हुए उपद्रव के बाद बुधवार को पुलिस ने 5 आरोपियों को कोर्ट में पेश किया। जहां से उन्हें न्यायाधीश ने जेल भेजने के आदेश दिए। पुलिस ने कई लोगों पर मामला दर्ज किया है। इसमें पांच आरोपी पवन पिता करण सिंह डामोर निवासी कसारबर्डी, जितेंद्र कटारा निवासी छावनी, मुकेश हरचन्द वसुनिया निवासी छोटी बोलासा, तेरसिंह वसुनिया निवासी उमेदपुरा, विष्णु पिता शम्भू को न्यायालय में पेश किया था। मीडिया सेल प्रभारी सुरेश जामोद ने बताया कि पूरे मामले में ज्यूडिशियल रिमांड के पक्ष में तर्क एडीपीओ प्यारेलाल चौहान ने प्रस्तुत किया था। जिससे सहमत होते हुए न्यायाधीश संजीव कटारे ने पांचों आरोपियों को जेल भेजने के आदेश दिए। अन्य आरोपी अभी फरार है। इन सभी के खिलाफ धारा 353, 332, 341, 147, 148, 427, 506 और सार्वजनिक संपत्ति नुकसान निवारण अधिनियम 198 4 की धारा 32 का के तहत मामला दर्ज किया था।

kashiram jatav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned