धमोई-गुलाबपुरा तालाब से शहर को गर्मी में मिलेगा पानी

धमोई-गुलाबपुरा तालाब से शहर को गर्मी में मिलेगा पानी

Arjun Richhariya | Publish: Oct, 13 2018 10:08:47 PM (IST) Jhabua, Madhya Pradesh, India

दोनों तालाबों में सिंचाई के अलावा प्रशासन ने शहर को सप्लाय करने के लिए पानी आरक्षित किया

झाबुआ. शहर को गर्मी में पेयजल संकट का सामना नहीं करना पड़ेगा। यहां की पेयजल व्यवस्था के मुख्य स्त्रोत पारा क्षेत्र के धमोई तालाब में 70 एमसीएफटी (1 अरब 98 करोड़ 21 लाख 79 हजार 26 1 लीटर) और राणापुर क्षेत्र के गुलाबपुरा तालाब में 15 एमसीएफटी (24 करोड़ 47 लाख 52 हजार 6 8 9 लीटर) पानी आरक्षित किया गया है। ताकि किसी भी तरह की स्थिति में शहर को पर्याप्त पानी मिलता रहे।
शहर की पेयजल योजना का मुख्य स्त्रोत अनास बैराज है। यहां से दिसंबर तक तक तो आपूर्ति हो जाती है। इसके बाद राणापुर क्षेत्र के गुलाबपुरा और पारा क्षेत्र के धमोईतालाब पर निर्भर रहना पड़ता है। एक बार गुलाबपुरा और दो से तीन बार जरूरत के हिसाब से धमोई तालाब से पानी लाना पड़ता है। जल संसाधन विभाग के इन दोनों ही तालाबों में फिलहाल पर्याप्त पानी उपलब्ध है। जिसे देखते हुए झाबुआ शहर की जरूरत के हिसाब से पानी आरक्षित किया गया है।

पर्याप्त पानी आरक्षित किया
&गर्मी के दिनों में झाबुआ शहर में पेयजल संकट की स्थिति नहीं बनेगी। धमोई व गुलाबपुरा तालाब में पर्याप्त मात्रा में पानी आरक्षित किया गया है। इससे आपूर्ति होती रहेगी।
नीलम मेड़ा, एसडीओ, जल संसाधन विभाग, झाबुआ
नहीं आएगी दिक्कत
&फिलहाल अनास नदी में पर्याप्त पानी है। अक्टूबत तक फ्लो बना रहेगा। इसके बाद बैराज में पानी रोककर शहर को सप्लाय किया जाएगा। गर्मी तक किसी प्रकार की परेशानी नहीं आएगी।
जितेंद्र मावी, ईई, पीएचई, झाबुआ
पानी बचाने के लिए ये उपाय होंगे कारगर
1. पानी की चोरी की तो पंप जब्त करेंगे- रबी सीजन के दौरान यदि तालाबों से अवैध रूप से सिंचाई के लिए पानी चोरी किया जाता है तो संबंधित किसानों के पंप जब्त किए जाएंगें। जल संसाधन विभाग की जल उपभोक्ता समितियां ऐसे स्थानों की सूचना सिंचाई विभाग और कृषि विभाग के अधिकारियों को देंगी जहां पर किसानों द्वारा नहर के पानी की चोरी की जाती है। ऐसे किसान जो सिंचाई के लिए पानी लेते है, उनसे सिंचाई शुल्क लिया जाएगा।
2. पानी लेने के लिए स्वीकृति पत्र जारी होंगे : ऐसे किसान जिनकी जमीन तालाब के कमांड एरिया में आती हैं, उन्हें तालाब या नहर से पानी लेने के लिए स्वीकृति पत्र जारी किए जाएंगे। जिन किसानों की जमीन कमांड एरिया में नहीं है। अधिकारी उन्हें बोवनी नहीं करने की समझाइश देंगे। ताकि पानी की चोरी की समस्या पैदा न हो।
दोनों तालाब एक नजर में
धमोई तालाब
27 किमी दूर है झाबुआ से दूरी
6 अरब 6 6 करोड़ लीटर है धमोई तालाब की जल संग्रहण क्षमता
1 अरब 98 करोड़ 21 लाख 79 हजार 261 लीटर पानी झाबुआ शहर के लिए आरक्षित किया है
गुलाबपुरा तालाब
18 किमी है झाबुआ से दूरी
3 अरब 79 करोड़ लीटर हैगुलाबपुरा तालाब की जल संग्रहण क्षमता
24 करोड़ 47 लाख 52 हजार 689 लीटर पानी झाबुआ के लिए आरक्षित रखा है

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned