4 साल बाद बना संयोग उजाड़ नदी खुद दौड़ी आई मुरलीमनोहर की शरण

4 साल बाद बना संयोग उजाड़ नदी खुद दौड़ी आई मुरलीमनोहर की शरण
4 साल बाद बना संयोग उजाड़ नदी खुद दौड़ी आई मुरलीमनोहर की शरण

Jagdish Paraliya | Updated: 10 Sep 2019, 07:59:25 AM (IST) Jhalawar, Jhalawar, Rajasthan, India

समूचे क्षेत्र में जोरदार मूसलाधार बारिश का दौर सोमवार तड़के शुरू हुआ जो मंगलवार देर रात तक जारी रहा । इसके चलते भीमसागर बांध के दो गेट खोलकर पानी निकासी जारी है। बांध के गेट खुले होने के कारण कस्बे में जलझूलनी एकादशी पर सोमवार को निकाली देवविमानों की शोभायात्रा दौरान उजाड़ नदी पुलिया पर करीब 7 फीट पानी बह रहा था । इस बार करीब 4 साल बाद संयोग बना की खुद उजाड़ नदी चलकर मुरलीमनोहर के चरण स्पर्श करने चली आई।

भीमसागर । समूचे क्षेत्र में जोरदार मूसलाधार बारिश का दौर सोमवार तड़के शुरू हुआ जो मंगलवार देर रात तक जारी रहा । इसके चलते भीमसागर बांध के दो गेट खोलकर पानी निकासी जारी है। बांध के गेट खुले होने के कारण कस्बे में जलझूलनी एकादशी पर सोमवार को निकाली देवविमानों की शोभायात्रा दौरान उजाड़ नदी पुलिया पर करीब 7 फीट पानी बह रहा था । इस बार करीब 4 साल बाद संयोग बना की खुद उजाड़ नदी चलकर मुरलीमनोहर के चरण स्पर्श करने चली आई। जी हां क्षेत्र में जारी बारिश के कारण बांध के गेट लगातार खुल रहे इसके चलते पुलिया पर पानी रहने के कारण भगवान जब नगर भृमण जाने के दौरान उजाड़ नदी तट स्नान करने पहुँचे तो भगवान के चरण स्पर्श करने खुद उजाड़ मैया आ गई। कस्बे में भव्य डोलयात्रा निकाली गई इस दौरान संत बजरंगदास त्यागी, समिति के बाबुलाल बसुनियाँ, बृजराज सिंह, सुरेन्द्र बसुनियाँ, रामचन्द सुमन, मांगीलाल सुमन, मुकेश राणा समेत बड़ी संख्या में ग्रामीण यात्रा में शामिल हुए । वही मऊ बोरदा में भी डोल उत्सव मनाया गया इसके दौरान विमानों की शोभायात्रा निकाली यह जानकारी नीरज शर्मा एवं शंकर सिंह ने दी। एवं बाघेर कस्बे में भी भव्य झांकियों के साथ देवविमानों कि शोभायात्रा निकाली गई यह जानकारी भूपेंद्र हाड़ा ने दी ।

2 गेट खोलकर जल निकासी जारी
भीमसागर । समूचे क्षेत्र में सोमवार तड़के हो रही जोरदार मूसलाधार बरसात के चलते भीमसागर बांध के दो गेट सुबह 7 बजे से खुल रहे है ।बांध के दो गेट 4 फीट खोलकर करीब 4 हजार क्यूसेक पानी प्रति सेकण्ड के हिसाब से छोड़ा जा रहा है । करीब 12 घण्टो में 2 करोड़ 72 लाख 80 हजार क्यूसेक पानी छोड़ा जा चुका है वही समाचार लिखे जाने तक बांध के दो गेट खुल रहे थे ।

कालीसिंध बांध के 8 गेट खोले
रीछवा@पत्रिका.
कस्बे समेत क्षेत्र में रविवार रात व सोमवार तड़के झमाझम मूसलाधार बारिश हुई। फिर से बरसात का दौर शुरू होने से लोगों की दिनचर्या प्रभावित हुई। साथ ही खरीफ की फसलों में नुकसान की आशंका बढ़ गई है। पडौसी राज्य मध्य प्रदेश में भी बारिश होने से सोमवार को कालीसिंध बांध के 8 गेट 30 मीटर तक खोलकर पानी की निकासी की गई है। जलसंसाधन विभाग के अधिशाषी अभियंता महेंद्र कुमार जैन ने बताया कि मध्यप्रदेश में भी बारिश हो रही है। जिससे बांध में पानी की आवक बढ़ गई है। सोमवार को बांध से 1 लाख 13 हजार 997 क्यूसेक पानी की निकासी की गई है। बांध की अधिकतम भराव क्षमता 316 मीटर होने के बावजूद सोमवार को बांध का जलस्तर 315.04 मीटर बनाए रखा।

(गोविन्द शर्मा पत्रिका संवाददाता भीमसागर )

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned