तारबंदी के लिए मिलेगा ५० फीसदी अनुदान

तारबंदी के लिए मिलेगा ५० फीसदी अनुदान

Jagdish Paraliya | Publish: Sep, 03 2018 04:26:45 PM (IST) Jhalawar, Rajasthan, India

जिले में ५७ हजार ८ सौ मीटर का लक्ष्य

झालावाड़. खेतों में लहलहाती फसल को पशुओं से बचाने के लिए कृषि विभाग तार पर अनुदान देगा, अब फसलों को जानवरों से बचाना आसान होगा। कृषि विभाग की ओर से तारबंदी योजना के तहत खेतों की तारबंदी के लिए किसानों को पचास फीसदी अनुदान दिया जाएगा।

पात्रों की सूची पोर्टल पर अपलोड़ होगी

खास बात यह है कि तारबंदी के लिए पात्र किसानों की सूची को वेब पोर्टल पर अपलोड किया जाएगा। इसके बाद आलाधिकारी इस सूची का मिलान करेंगे। इससे फर्जीवाड़े की संभावना भी समाप्त हो जाएगी।

यह होगी पात्रता

लाभ सभी श्रेणी के किसानों को ही मिलेगा। इसमें कम्युनिटी बेसिस योजना के तहत ऑनलाइन ही आवेदन किए जाएंगे। पांच किसानों के पास दस हैक्टेयर भूमि होना जरुरी है। योजना के तहत पहले आओ-पहले पाओ के आधार पर अनुदान दिया जाएगा। इसमें किसानों के पाय कृषि योग्या भूमि होना जरुरी होगा।

ऐसे मिलेंगा अनुदान

्रजिले के किसानों को योजना के तहत कांटेदार तारबंदी के लिए जिले में इसवर्ष के लक्ष्य आवंटित किए गए है। योजना के तहत एक किसान को अधिकतम ४०० मीटर तारबंदी के लिए अनुदान दिया जाएगा।

यानी ४० हजार रुपए तक का अनुदान दिया जाएगा। खेतों की तारबंदी करने से पूर्व कार्य पूर्ण होने के बाद जियो टेगिंग की जाएगी। तारबंदी का अनुदान किसानों के खातों में जमा कराया जाएगा। योजना के तहत संयुक्त रूप से ५-७ किसान एक साथ आवदेन कर सकते हैं। अनुदान अलग-अलग किसान के खाते में डाला जाएगा।

यह मिला लक्ष्य

इस बार झालावाड़ जिले को ५७ हजार ८ सौ मीटर तार अनुदान पर देने का लक्ष्य मिला है। खेतों की तारबंदी होने से आवारा पशु नील गायों से नुकसान नहीं होगा।

५७ हजार से अधिक का लक्ष्य मिला

जिले में ५७ हजार से अधिक का लक्ष्य मिला है। कोई भी किसान ऑनलाइन आवेदन कर सकता है। इसकी एक हॉर्ड कापी कार्यालय में जमा करानी होगी।

अतीश कुमार शर्मा, उपनिदेशक कृषि विस्तार, झालावाड़।

परिचालक से मांगे रुपए, मना करने पर शीशा तोड़ा

झालरापाटन. नेमीनगर लालबाग के सामने स्थित पेट्रोल पंप के पास रविवार शाम को बस परिचालक से जबरन रकम मांगने को लेकर विवाद हो गया। इसमें पुलिस ने एक जने को गिरफ्तार किया।

बस स्टैण्ड क्षेत्र निवासी फिरोज ने रविवार शाम को बस स्टैण्ड के बाहर खड़ी मध्यप्रदेश राज्य परिवहन निगम की अनुबंधित बस के परिचालक से रकम की मांग की, उसके इंकार करने पर युवक बाइक से पीछा करता हुआ पेट्रोल पंप के यहां पहुंचा और बस के आगे बाइक लगाकर उसे रोक दिया और परिचालक से झगडऩे लगा।

परिचालक-साथियों ने की युवक की पिटाई

विवाद बढऩे पर युवक ने पत्थर फेंककर बस का शीशा तोड़ दिया। इससे आक्रोशित हो परिचालक व साथियों ने युवक की पिटाई शुरू कर दी।

इस दौरान लोगों की भीड़ एकत्र हो गई। भीड़ में मौजूद लोगों ने बीच बचाव कर सूचना देकर पुलिस को मौके पर बुलाया। इस पर पुलिस फिरोज को पकड़ कर ले गई। थाना प्रभारी जगदीश प्रसाद ने बताया कि फि रोज को शांतिभंग करने के आरोप में गिरफ्तार किया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned