ऋषिराज जिंदल का हत्यारा इमरान मध्यप्रदेश से गिरफ्तार

Jagdish Paraliya

Publish: Aug, 08 2019 12:26:13 PM (IST)

Jhalawar, Jhalawar, Rajasthan, India

अभी मुख्य आरोपी इमरान के भाई खालिद व अनवर फरार
पिड़ावा (झालावाड़). पिड़ावा कस्बे में 5 अगस्त को गोली मारकर व्यापारी व बजरंग दल कार्यकर्ता ऋषिराज जिंदल की हत्या करने के आरोपी इमरान व उसके सहयोगी मंजला उर्फ मोहसिन को पुलिस ने बुधवार रात मध्यप्रदेश के बड़ौद से गिरफ्तार कर लिया। अभी मुख्य आरोपी इमरान के भाई खालिद व अनवर फरार हैं।
पुलिस अधीक्षक राममूर्ति जोशी के निर्देशन में वृत्ताधिकारी वृद्धिचंद गुर्जर व एसएचओ रामकिशन मेघवंशी द्वारा टीम गठित कर ऋषिराज हत्याकांड के मुख्य आरोपी व सहयोगी को मध्यप्रदेश के बड़ौद के बस स्टेशन से गिरफ्तार किया। वृत्ताधिकारी ने बताया कि 5 अगस्त रात को फरियादी कुलदीप अग्रवाल ने इमरान पुत्र अलीम, खालिद पुत्र अलीम, अनवर पुत्र अलीम, मंझला उफऱ् मोहसिन सहित अन्य 10 अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ उसके मौसेरे भाई ऋषिराज जिंदल की हत्या करने की रिपोर्ट दी थी। पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज किया था। वारदात के बाद से आरोपियों की लगातार तलाशी जारी थी। लोकेशन ट्रेस करने के बाद वृताधिकारी, सीआई सहित मय जाब्तालोकेशन पर पहुंचा व ऋषिराज हत्याकांड के मुख्य आरोपी इमरान व सहयोगी मंझला उफऱ् मोहसिन को मध्य प्रदेश के बड़ौद के बस स्टेशन से गिरफ्तार किया।
गौरतलब है कि 5 अगस्त को ऋषिराज अपने दोस्तों के साथ बर्थ डे पार्टी व कश्मीर से धारा 370 हटने की खुशी मना रहे थे। इस दौरान इमरान व उसके साथियों ने फायरिंग कर दी। इसमें ऋषिराज की गोली लगने से मौत हो गई।

सुनेल कस्बा बंद रहा
सुनेल. हत्या के आरोपियों को फांसी देने की मांग को लेकर गुरुवार को विश्व हिंदू परिषद, बजरंग दल सुनेल व सभी सर्व समाज के संयुक्त तत्वावधान में सुनेल कस्बा पूर्ण बंद रहा। इस दौरान सरकारी व गैर सरकारी स्कूलों की भी करा दी छुट्टी। कस्बे मे आधा दर्जन से अधिक थानो का पुलिस जप्ता मुस्तैद रहा।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned