बाहर आते ही ज्ञापन वालों के रुख से हुई रुबरु....

बाहर आते ही ज्ञापन वालों के रुख से हुई रुबरु....
-मुख्यमंत्री को डॉक बंगला के गेेट पर भारी भीड़ ने रोका

By: jitendra jakiy

Published: 16 May 2018, 05:06 PM IST

बाहर आते ही ज्ञापन वालों के रुख से हुई रुबरु....
-मुख्यमंत्री को डॉक बंगला के गेेट पर भारी भीड़ ने रोका
-जितेंद्र जैकी-
झालावाड़.मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे जैसे ही बुधवार दोपहर ठीक ११.५० मिनट पर डॉक बंगला के गेट से बाहर निकली कि उन्हे बड़ी संख्या में भारी भीड़ हाथों में सैंकड़ों ज्ञापन लिए उमड़ती नजर आई। मुख्यमंत्री ने कार के गेट पर खड़े होकर लोगों के हाथों से जल्दी जल्दी ज्ञापन बीनने शुरु कर दिए। चंद समय में ही उनके हाथों में सैंकड़ों ज्ञापन का पुलिंदा नजर आने लगा। सुरक्षाकर्मियों को भीड़ को रोकने के लिए कड़ी मशक्कत करनी पड़ी। इस दौरान लोग मुख्यमंत्री तक पहुंचने के लिए धक्कामुक्की करते नजर आए इससे थोड़ी देर के लिए वहां अफरा-तफरी मच गई। मुख्यमंत्री को डॉक बंगला में वैसे तो सैकड़ों लोगों, संगठनो व संस्थाओं अपनी विभिन्न मांगों को लेकर बड़ी मशक्कत कर ज्ञापन पहुंचा तो दिए। मुख्यमंत्री लोगों के हाथों से ज्ञापन लेकर तुरंत बिना पढ़े ही पीछ़े पकड़ाती जा रहा थी लेकिन लोगों को पूर्ण संतुष्ठी हो गई कि उनका काम तो हो गया।
-ज्ञापन देकर की मांगें
इस दौरान मुख्यमंत्री को राजस्थान विद्यार्थी मित्र शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष देवेंद्र नागर, झालरापाटन ब्लाक अध्यक्ष तंवर सिंह, दीपक रावल, रुपेश, जगदीश, बंशीलाल, संतोष व मनफूल की अगुवाई में पंचायत सहायकों ने विद्यार्थी मित्र शिक्षकों, पंखयत सहायकों को स्थाई करने की मांग की। शिक्षक संघर्ष समिति २०१२ के शिक्षकों ने मोहित, चेतन, हेमराज, ज्ञानेश, सुरेश व ओपी सेन की अगुवाई में ज्ञापन देकर स्ािाई करने की मांग की। अखिल राजस्थान पैराटीचर्स, शिक्षाकर्मी , मदरसा पैराटीचर्स संयुक्त संघर्ष समिति के जिलाध्यक्ष मोहम्मद रईस व उपाध्यक्ष मुकेश मोबिया की अगुवाई में पुन स्मरण पत्र देकर पैराटीचर्स, मदरसा पैराटीचर्स व शिक्षाकर्मियों को अनुभव व योग्यता के आधार पर राजकीय सेवा में नियमित करने की मांग की। रोडवेज के सेवानिवृत कर्मचारियों प्रवीण कुमार, फय्याज अली, मुरारी सिंह, कालू खां, छीतर श्रृंगी, देवेंद्र कुमार व लियाकत अली ने ज्ञापन देकर २०१४ में सेवानिवृत हुए कर्मचारियों का भुगतान करवाने, सातवें वेतन आयोग का लाभ देने व मेडिकल सुविधा देने की मांग की। राजस्थान शिक्षक महांसघ के जिलाध्यक्ष ओम प्रकाश सेन, सभाध्यक्ष रईस खान, उपाध्यक्ष मोहित जैन, संगठन मंत्री चेतन चौरसिया, प्रतिनिधी मुकेश सेन, भूपेंद्र वर्मा, ज्ञानेश पाटीदार, राकेश अरोड़ा, हेमराज गुर्जर व सुरेश मीणा की अगुवाई में ज्ञापन देकर पुरानी पेंशन योजना को बहाल करने की मांग की गई।

jitendra jakiy Photographer
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned