रथयात्रा महोत्सव में बहा भक्ति का रस

Jagdish Paraliya

Updated: 03 Dec 2019, 11:35:12 AM (IST)

Jhalawar, Jhalawar, Rajasthan, India

रथ को हाथों से खींचने की लगी रही होड़
पिड़ावा (झालावाड़). नगर में सकल दिगम्बर जैन समाज के तत्वधान में भव्य रथयात्रा महोत्सव में उमड़ा जन सेलाब । सकल दिगंबर जैन समाज के तत्वावधान में 150 साल से भी अधिक समय से निकल रही भव्य रथयात्रा में जन सैलाब उमड़ पड़ा।
20 साल पूर्व तक रथ को बैलों द्वारा खींचा जाता था, लेकिन जब पहली बार ब्रह्मानंद सागर महाराज के सानिध्य में रथयात्रा का आयोजन हुआ तो रथयात्रा को तब से लेकर वर्तमान में भी श्रावक अपने हाथों से खींचते हंै। समाज के बुजुर्गों ने बताया की भगवान का 4 माह चातुर्मास खत्म होने के बाद विहार करते हैं। भगवन को पूरे नगर में घुमाया जाता है। नगर भ्रमण के बाद जंगल जाकर कलश लिए जाते है। हजारंों की तादात में 1008 श्री पाश्र्वनाथ भगवान की भव्य रथयात्रा में श्रद्धालु शामिल हुए ।
सोमवार को सकल दिगम्बर जैन समाज पिड़ावा के तत्वाधान में शताब्दियों से चली आ रही परम्परानुसार इस वर्ष भी देवाधिदेव 1008 भगवान पारसनाथ स्वामी की भव्य रथ यात्रा मोहत्सव समाधि प्राप्त मुनि ब्रह्मानन्द सागर महाराज के पावन आशीर्वाद से हर्ष एंव उल्लास के साथ मिति अगहन सुदी सोमवार को धूमधाम से भव्य रथ यात्रा निकाली गयी । रथ यात्रा शेर मोहल्ले से सुबह 9 बजे विधि विधान के साथ जिनेद्र पूजन के बाद 11 बजे रथ यात्रा चल समारोह शुरू किया गया जो नगर के शेर मोहल्ले, सेठान मोहल्ला, भणभुजा चौराहे से खंडपुरा होते हुए नयापुरा पहुंचा । जहां उपाध्याय ज्ञेय सागर महाराज के प्रवचन हुए । रथ यात्रा में हजारों की संख्या में नगर सहित झालावाड़ जिले व अन्य राज्यों से श्रद्धालु शामिल हुए।


दुल्हन की सजाया नगर को
समाज द्वारा रथयात्रा महोत्सव में अनेक तैयारिया की गई। लोगों ने घरों की बालकनियों व बिल्डिंगों पर बड़े बड़े बैनर, जैन धर्म का पंचरंगी झंडे लगाए। रथयात्रा के मार्ग को युवकों की टोलियों ने झंडे, बैनर, स्वागत द्वार से सजाया गया । रथयात्रा महोत्सव के दौरान समाज के सभी प्रशिष्ठान बंद रहे। जिसके बाद भगवान का अभिषेक किया गया। जिसके बाद समाज द्वारा भोजन का आयोजन किया गया। जिसमे सभी समाज के लोगों ने भोजन किया। 6 बजे नयापुरा में आरती भक्ति एवं प्रवचन का आयोजन किया। रात्रि 8 बजे भक्तिमय नाटक का आयोजन किया। रथयात्रा महोत्सव पर सांप्रदायिक सौहाद्र की मिसाल भी देखने को मिली । दूर दराज से सैकड़ो जैन महिलाये व पुरुष रथयात्रा में शामिल होकर आनद की अनुभूति की ।


इन क्षेत्रों से आए श्रद्धालु
रथयात्रा महोत्सव में राजस्थान मध्यप्रदेश कर्नाटक व अन्य राज्यों से कई लोगों ने रथयात्रा का आनंद लिया । झालावाड़, बारां, श्यामपुरा, सोयत, सुसनेर, अमरकोट, नलखेड़ा, देवास, गुजरात उज्जैन , इंदौर, आगर, मोड़ी, सेमलखेड़ी, डोला, करोडिया, सुनेल, भवानीमंडी, रामगंजमंडी, कोटा, रायपुर, झालरापाटन, मिश्ररोली, श्यामगढ,़ बोलिया, गरोठ, भानपुरा, कानड,़ शाजापुर आदि क्षेत्रों के हजारों लोग रथयात्रा महोत्सव में शामिल हुए।
आकर्षण का केंद्र रहा बैंड
बडऩगर के सुमधुर संगीतमय प्रकाश बैण्ड ने अपने मधुर भजनों से युवक-युवतियों की टोली को खूब नृत्य कराया । नागपुर से आए कलाकारों द्वारा पूरे नगर में मनमोहक रंगोली बनाई गयी । वही पुरी रथ यात्रा वाले मार्ग पर हेलीकाप्टर द्वारा पुष्प वर्षा की गई। वहीं आ शिक्षा है ढोल ने भी युवकों को अपनी धुन पर खूब नृत्य करवाया । रथयात्रा प्रारम्भ होने से सभी युवाओ के पैर नृत्य करते हुए चलते रहे । वही युवतियां भी युवाओ से पीछे नही रही । वही समाज के सभी पुरूष सफ़ेद वस्त्र में व महिलाये केसरिया वस्त्र में नजर आई ।


ये रहे मौजूद
रथयात्रा महोत्सव में श्रद्धा एवं परम्परा के साथ समरसता का मिश्रण देखने को मिला। एक किलोमीटर से भी अधिक लम्बी रथयात्रा का सभी समाज के लोगों ने स्वागत किया । सकल दिगंबर जैन समाज के नवनियुक्त अध्यक्ष अजेश जैन, पूर्व अध्यक्ष शैलेन्द्र जैन, डॉ विकास जैन, त्रिलोक जैन, पालिका अध्यक्ष निर्मल शर्मा, हिन्दू समाज अध्यक्ष वीरेंद्र भगवान, राजू माली, पूर्व पालिका अध्यक्ष राजेन्द्र जैन, भारत भूषण प्रेमी, पालिका उपाध्यक्ष प्रमोद जैन आदि ने स्वागत किया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned