भूमाफिया ने रात में भंडारा स्थल पर की तोडफ़ोड़,प्रदर्शन

गिन्दौर विकास समिति ने जताई नाराजगी

By: arun tripathi

Updated: 03 Jan 2020, 04:18 PM IST

झालरापाटन. गिन्दौर विकास समिति ने बाबा रामदेव के भंडारे की भूमि पर तोडफ़ोड़ करने के विरोध में तहसील कार्यालय पर प्रदर्शन किया।
विकास समिति अध्यक्ष भवानीशंकर शर्मा, संजय राठौर, राजेश मेघवाल, कल्पेश, नरेन्द्र, विष्णु प्रसाद, राकेश भील, धीरज राठौर, राहुल राठौर, बंटी सोनी की अगुवाई में दो दर्जन से भी अधिक कार्यकर्ता दोपहर को तहसील कार्यालय पहुंचे और नारेबाजी की। प्रदर्शनकारियों ने बताया कि झालावाड़ मार्ग पर रेलवे अंडर पास के नजदीक समिति के तत्वावधान में हर वर्ष रामदेवरा जाने वाले पदयात्रियों के लिए एक माह तक भंडारा होता है। इस भूमि को भूमाफिया ने वन विभाग की बताकर रेलवे विभाग से अधिक अव्याप्त करा लिया था, इसे अब वनकर्मचारियों से मिलकर बेचने का प्रयास कर रहे हैं। जमीन पर भंडारा समिति ने पिछले दिनों अतिक्रमण नहीं करने का बोर्ड भी लगाया था, जिसे भी इन्होंने खराब कर दिया और चबूतरे पर तोडफ़ोड़ कर दी। इन्होंने बताया कि यहां से अवैध खनन करने वालों का रास्ता भी निकलता है, इसे लेकर वह बार बार समिति सदस्यों को परेशान करते हैं। प्रदर्शनकारियों ने बताया कि तत्काल कार्रवाई नहीं होने पर शुक्रवार सुबह १० बजे से एनएच ५२ पर ***** जाम किया जाएगा। प्रदर्शनकारियों ने बाद में तहसीलदार व थाना प्रभारी को ज्ञापन देकर सूचना दी।

सड़क पर ही छोड़ दिया मलवा
सीसी निर्माण पूरा, राहगीर परेशान
झालरापाटन. भवानीमंडी चौराहा से चौपाटी तक व डाकघर मार्ग पर बनाए सीसी रोड का सड़क पर पड़ा मलवा नहीं उठाने से यातायात में बाधा हो रही है।
सार्वजनिक निर्माण विभाग ठेकेदार ने पिछले दिनों भवानीमंडी चौराहा से चौपाटी तक व डाकघर मार्ग पर सीसी रोड का निर्माण कराया है, इसकी खुदाई के दौरान निकला मलवा ठेकेदार ने चौपाटी के पास मुख्य सड़क, मॉडल बस स्टैण्ड के रास्ते, प्राइवेट बस स्टैण्ड के रास्ते पर व पार्क के सामने डाल रखा है। जिससे पैदल निकलने वालों व वाहन चालकों को परेशानी आ रही है। पूरी सड़क पर टीले के रूप में यह मलवा पड़ा होने से वाहन चालकों को इसके ऊपर होकर वाहन निकालने पड़ रहे हंै। इससे हमेशा दुर्घटना का खतरा रहता है। यहां नियमित हवाखोरी पर व द्वारिकाधीश मंदिर के दर्शन के लिए आने जाने वाले लोगों के अलावा दिनभर आवागमन बना रहता है। इसी प्रकार डाकघर मार्ग पर भी वाहनों की दिनभर रेलमपेल रहती है। दोनों मार्ग पर ठेकेदार का कार्य लगभग हो चुका है। इसके साथ ही ठेकेदार ने इन मुख्य सड़क से निकलने वाले अन्य रास्तों के भी एप्रोच नहीं बनाए हैं, इससे लोगों को इन क्षेत्र में आने जाने के लिए लंबी दूरी तय कर निकलना पड़ रहा है।
मुख्य सड़क से मलवा हटाने के लिए ठेकेदार को पाबंद किया जाएगा।
अनिल पोरवाल, अध्यक्ष नगरपालिका, झालरापाटन

नागरिक संशोधन बिल के समर्थन में निकाली रैली
जन जागृति मंच का आयोजन
सुनेल. कस्बे में जन जागृति मंच की ओर से नागरिक संशोधन बिल के समर्थन में रैली पिड़ावा मार्ग स्थित लंकापति हनुमान मंदिर से शुरू हुई, इसमें युवा नारे लगाते चल रहे थे। रैली तहसील कार्यालय पहुंची। वक्ताओं ने कहा कि अफगानिस्तान, पाकिस्तान, बंाग्लादेश आदि देशों में अल्पसंख्यकों को लगातार मिल रही प्रताडऩा, महिलाओं से दुव्यवहार, जबरन धर्मान्तरण आदि मुद्दों को ध्यान में रखकर पीडि़तों को राहत देने के लिए सरकार बिल लाई है, लेकिन कुछ पार्टियां अपने स्वार्थ के चलते लोगों को भ्रमित कर रही हैं। इसके बाद तहसील कार्यालय में नायब तहसीलदार खेमेन्द्र कश्प को प्रधानमंत्री के नाम धन्यवाद पत्र दिया। इस दौरान सुनेल थानाधिकारी धर्माराम चौधरी, पिड़ावा और रायपुर थानाधिकारी सहित पुलिस जाप्ता मौजूद रहा।

अब तेल के बढ़े भाव ने बिगाड़ा रसोई का जायका
प्याज-लहसुन की कीमत पहले से तेज
भवानीमंडी. प्याज और लहसुन के आसमान छूते भावों ने उपभोक्ताओं की रसोई का जायका तो पहले ही बिगाड़ रखा था, अब एक और जरूरी सामग्री खाद्य तेल के बढ़े भाव ने परेशानी बढ़ा दी है। नगर में खाद्य सोयाबीन तेल थोक में 105 रुपए प्रति लीटर बिका। एक माह पहले यह 75 रुपए प्रति किलो बिक रहा था। थोक व्यापारी राजेश नाहर ने बताया कि इस साल एक तो सोयाबीन की फसल कम है। दूसरा, केंद्र सरकार पॉम आयल आयात पर प्रतिबंध लगाने जा रही है। इसके चलते भाव बढ़े हैं। मंूगफली तेल भाव में भी 20 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। ध्यान रहे कि प्याज और लहसुन के भाव पहले ही तेज चल रहे हैं। खुदरा प्याज 60 से 80 रुपए किलो और लहसुन 150 से 160 रुपए प्रति किलो बिक रहा है।

arun tripathi Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned