फर्जी अधिकारी चढ़ा पुलिस के हत्थे

फर्जी अधिकारी चढ़ा पुलिस के हत्थे

Jagdish Paraliya | Publish: Sep, 10 2018 03:24:40 PM (IST) Jhalawar, Rajasthan, India

स्वयं को बताया एडिशनल डायरेक्टर

एसडीएम को लाल बत्ती पर हुआ शक

झालावाड़. कोतवाली पुलिस ने रविवार को स्वयं को नागरिक उड्डयन मंत्रालय का एडिशनल डायरेक्टर (वीजिलेंस) बताने वाले गुडग़ांव के एक फर्जी अधिकारी को गिरफ्तार किया है।

उपखंड अधिकारी डॉ.राकेश मीणा ने बताया कि वह और पुलिस उपअधीक्षक जीवनङ्क्षसह राणावत झालरापाटन में सीएलजी सदस्यों की बैठक लेकर आ रहे थे। इसी दौरान एक व्यक्ति लाल बत्ती लगी हुई गाड़ी लेकर जा रहा था, जबकि लाल बत्ती लगाना बेन है। उसे खंडिया पर रुकवाकर पूछताछ की तो वह फर्जी निकला। उसकी पहचान गुडग़ांव निवासी यतिन ग्रोवर (४४) सेक्टर पांच पार्ट-३ गुडगांव के रुप में हुईहै। पुलिस फर्जी अधिकारी से अभी पूछताछ कर रही है। जो व्यक्ति जिस पद के लायक नहीं वह फर्जी तरीके से उसका उपयोग कर रहा है तो प्रथम दृष्टिया पद के दुरूपयोग का मामला तो ही है। पूछताछ में बताया कि वह मध्यप्रदेश के पचमडी से घूमकर आ रहा था।

पुलिस को गुमराह करने की कोशिश

जब फर्जी अधिकारी यतिन ग्रोवर से पहले पुलिस ने पूछताछ की तो उसने गुमराह करने की कोशिश की। पुलिस ने नाम पूछकर नेट पर उड्डयन मंत्रालय की साइड पर आरोपी का नाम सर्च किया तो सूची में कहीं नाम नहीं मिला। इससे पुलिस का शक और गहरा गया। फर्जी अधिकारी के कार्ड में पता साउथ ब्लॉक दिल्ली दे रखा है, लेकिन कार्यालय सफदरगंज में है। बाद में गहनता से पूछताछ की तो उसने गलती कबूल कर ली। पूछताछ में फर्जी अधिकारी ने बताया वह पहले कार्गों कंपनी में काम करता था। पुलिस ने आधार कार्ड, ड्राईविंग लाइसेंस आदि मांगे है,साथ ही गुडगांव की पुलिस से भी पते का सत्यापन किया जा रहा है।

लग्जरी गाड़ी में सवार था आरोपी

आरोपी लग्जरी गाड़ी में सवार था, उसने गाड़ी पर लाल बत्ती तथा आगे प्रेस भी लिखवा रखा है। पूछताछ में बताया कि दो साल पहले उसकी मां बीमार हुई थी, स्थानीय टोल से बचने के लिए उसने लालबत्ती का प्रयोग किया था। पुलिस इस दिशा में भी अनुसंधान कर रही है कि उसने लाल बत्ती का कहां-कहां दुरूपयोग किया। कार्रवाई करने वाली टीम में एसएचओ सदर संजय मीणा, नेनूराम, कांस्टेबल किशनलाल, भीमङ्क्षसह, महेन्द्र, नरेन्द्रसिंह, राजेश स्वामी आदि मौजूद थे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned