केन्द्रीय आपदा प्रबंधन दल ने लिया नुकसान का जायजा

Jagdish Paraliya

Updated: 05 Sep 2019, 11:28:21 AM (IST)

Jhalawar, Jhalawar, Rajasthan, India

बारिश से फसलोंं में व्यापक नुकसान हुआ
खानपुर (झालावाड़). केन्द्रीय आपदा प्रबन्धन दल ने मंगलवार को खानपुर पहुंचकर जनप्रतिनिधियों के साथ बैठक कर बाढ़ से हुए नुकसान का आकलन किया। इस दौरान केन्द्रीय जल आयोग के निदेशक एस.डी. शर्मा, आपदा प्रबंधन एवं नागरिक सुरक्षा विभाग के सहायक शासन सचिव चेतन चौहान तथा केन्द्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्रालय के अधिकारी देवांश नवाल ने पंचायत समिति सभागार में अधिकारियों व जनप्रतिनिधियों की बैठक ली।
विधायक नरेन्द्र नागर ने बताया कि लगातार बारिश से फसलोंं में व्यापक नुकसान हुआ है। सरकार व प्रशासन फसल खराबे का वास्तविक आकलन कर किसानों को शीघ्र मुआवजा दिलाने की पहल करे। कांग्रेस जिला महामंत्री शिवराज सिंह गुर्जर ने कहा कि ढहे मकानों का अब तक मुआवजा नहीं दिया गया। ऐसे मे सभी को हरसंभव मदद मिलनी चाहिए। पंचायत समिति सदस्य हेमन्तसिंह सोजपुर ने बताया कि बारिश से फसलों मे ५० से ७५ फीसदी तक खराबा हुआ है। ऐसे मे मौके पर जाकर फसलों के नुकसान का आकलन कर किसानों के खाते में राशि का भुगतान किया जाए। सरपंच ललित राठौर ने कहा कि सरकार बीमा कम्पनियों को पाबन्दकर किसानों को पूरा बीमा क्लेम दिलाया जाए। कांग्रेस नेता सिकन्दर खान ने कहा कि जिले मे सर्वाधिक नुकसान खानपुर क्षेत्र मे हुआ है। ऐसे मे सर्वे कर किसानों को विशेष पैकेज दिया जाए। सहायक शासन सचिव चेतन चौहान ने बताया कि किसानों की बात सीधी पीएमओ तक पहुंचाई जा रही है। बीमा योजना का हरसंभव लाभ किसानों को देने का प्रयास किया जाएगा। किसानों को शिकायतों को भी केन्द्र सरकार तक पहुंचाया जाएगा।

खेत को इकाई मानकर करें सर्वे
भारतीय किसान संघ के पदाधिकारियो केन्द्रीय दल को ज्ञापन देकर सर्वे की इकाई पटवार मंडल न मानकर खेत को ही इकाई मानने की मांग की। संघ के जिलाध्यक्ष रघुराजसिंह, जिला मंत्री राधेश्याम गुर्जर, प्रांतीय मण्डी प्रमुख सीताराम नागर, तहसील अध्यक्ष कृष्णमुरारी शर्मा सहित पदाधिकारियों ने ज्ञापन में बताया कि बीमा कम्पनियों व कृषि विभाग द्वारा खेत को इकाई नहंी मानकर पटवार मंडल को इकाई माना गया है। ऐसे मे नुकसान से वंचित १० प्रतिशत के चक्कर मे ९० फीसदी किसानों को नुकसान उठाना पड़ता है।

ढहे मकानों का किया सर्वे
केन्द्रीय आपदा प्रबन्धन दल ने कस्बे में बाढ़ से ढहे मकानों का भी सर्वे किया। अतिरिक्त जिला कलक्टर करतारसिंंह पूनिया, उपखंड अधिकारी प्रमोद कुमार सिंधव, तहसीलदार, राजेन्द्र कुमार मीणा, विकास अधिकारी सुधीर पाठक, सरपंच ललित राठौर, ग्राम विकास अधिकारी मोहरसिंह मीणा के साथ चांदखेड़ी व अटरू रोड पर ढहे मकानों का जायजा लिया।

सड़क पर कारें दौड़ाकर कर लिया नुकसान का आकलन
केन्द्रीय आपदा प्रबन्धन दल द्वारा खानपुर मे जनप्रतिनिधियों से वार्ता के बाद खानपुर, सूमर, कंवरपुरा, बोहरा, जोलपा, मेहन्दड़ी, खूंटखेड़ी, आलनपुर सहित गांवों मे जाकर क्षतिग्रस्त फसलों का जायजा लेना था लेकिन एक दर्जन से अधिक कारों का काफिला बीच रास्ते में कहीं नहीं रूका। कई गांवों में किसान व जनप्रतिनिधि टीम व अधिकारियों का इन्तजार करते रहे लेकिन अधिकारी कारों से भी नीचे नहीं उतरे। जोलपा सरपंच कविता नागर ने बताया कि कारों से उतरे बिना ही फसलों का आकलन कर चले गए।

फसले खराब का सर्वे करवाया
सुनेल. क्षेत्र के ढाबला खींची में मंगलवार को किसानों को मौके पर ले जाकर अतिवृष्टि से फसलों मेें हुए नुकसान का सर्वे कराया। सर्वे टीम द्वारा मौके पर बताया कि फसलों में बहुत नुकसान अतिवृष्टि के कारण जलभराव से हुआ है। सर्वे टीम में सहायक कृषि अधिकारी महावीर मीणा, कार्डिनेटर भगवानदास मीणा, पवन कुमार, भारतीय किसान संघ तहसील उपाध्यक्ष रामबिलास पाटीदार,लालचंद दंागी, अशोक कुमार माली, सत्यनारायण दंागी, सोनू बना, पूरीलाल दंागी, मोहनलाल, जगदीश दंागी, दिनेश कुमार, राधेश्याम, रामलाल आदि साथ थे। किसानों ने सर्वे में ६० प्रतिशत नुकसान होना बताकर सरकार से शीघ्र ही मुआवजा व बीमा दिलाने की मंाग की।

रायुपर. बारिश के बाद कई खेतो में अब भी पानी भरा रहने से फसलों को नुकसान हो रहा है। क्षेत्र के परासली, सोयला, कुटकी, सोयली, बजरंगपुरा सहित कई गांवों में भी फसलों में नुकसान हुआ है। भारतीय किसान संघ जिला प्रचार प्रमुख मुकेश मेहर, ग्राम समिति अध्यक्ष बजरंग लाल टेलर, प्रभारी नंदकिशोर पाटीदार बताया कि अतिवृष्टि से सोयाबीन, मक्का, उड़द की फसल में खराबा हो गया है। जिसके चलते किसान मायूस हो रहे है लेकिन अब तक प्रशासन का कोई भी नुमाइंदा किसानों के खेतों में नहीं पहुंचे हैं। नुकसान का शीघ्र सर्वे करवाने की मांग की है।

परवन डूब क्षेत्र के मुआवजे की मांग
सारोलाकलां. परवन डूब क्षेत्र के अकावदखुर्द के लोगों ने परवन परियोजना अधिकारियों को ज्ञापन देकर डूब क्षेत्र मकानों का मुआवजा देने की मांग की है। अकावदखुर्द के राजेन्द्र, पप्पू गौड़, देवकरण नागर ने ज्ञापन में बताया कि उन्हें डूब क्षेत्र मकानों का मुआवजा नहीं मिला हैं । इस मामले में कई बार उच्चधिकारियों का अवगत करा चुके हैं।

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned