scriptCity roads turned into potholes in one month's rain | एक माह की बारिश में गड्ढ़ों में तब्दील हुई शहर की सड़कें | Patrika News

एक माह की बारिश में गड्ढ़ों में तब्दील हुई शहर की सड़कें


- बारिश में निकलना हो रहा मुश्किल

झालावाड़

Published: August 01, 2022 09:48:50 pm

झालावाड़.शहर में अगर आप कहीं जा रहे है तो जरा संभल कर जाईये। शहर में एक माह की बारिश में ही सड़कें गड्ढें में तब्दील हो गई है। कहीं सीसी रोड पर गड्ढे होने से लोगों को निकलने में खासी परेशानी हो रही है तो कई जगह अधूरे पड़े कार्य के चलते भी लोगों की परेशानी बढ़ गई है। कई जगह मानसून आने से पहले न नालों की सफाई हुई न सडक़ों के बड़े-बड़े गड्ढों की मरम्मत। जरा सी बारिश में लोगों का चलना दूभर हो जाता है। मानसून से पूर्व तैयारियों के इंतजाम तक फेल साबित हो रहे हैं। कभी बजट की किल्लत तो कभी ठेका देने की कार्रवाई का हवाला देकर आमजन को दिलासा दी जाती है। पूरे शहर का हाल एक जैसा है, बड़ा बाजार,तबेला रोड, मामाभांजा से दुर्गपुरा रोड, संजय कॉलोनी, मास्टर कॉलोनी की सड़कें टूटी हुई है। शहर में टूटी सड़के, गड्ढ़े ही गड्ढे तो बारिश के पानी के निकास की कोई व्यवस्था नहीं है। धनवाड़ा रोड से लेकर मुक्तिधाम रोड पर भी पानी भरा रहता है। इतना ही नहीं कई भीतर की गलियों में सड़क में गहरे गड्ढ़े होने से बाइक सवार के तेज रफ्तार से निकलने पर लोगों को गंदे पानी से छिड़काते हुए जा रहे हैं।
City roads turned into potholes in one month's rain
एक माह की बारिश में गड्ढ़ों में तब्दील हुई शहर की सड़कें
नहीं की नप ने तैयारी-
शहर में कहीं सड़क नहीं बनी तो कहीं गड्डे नहीं भरे गए। और तो और मानसून से पूर्व नालों की सफार्ई व पानी की निकासी के इंतजाम भी फेल साबित हो रहे हैं। मंगलपुरा,पंचमुखी बालाजी रोड, पुरानी जेल, चंदामहाराज की पुलिया समेत कई इलाकों में जरा सी बारिश में हाल बेहाल से हो जाते हैं।
्रएनएच के अधिकारियों की इंजीनियरिंग फेल-
शहर के निकट नेशनल हाईवे 52 पर रेलवे ब्रीज के नीचे रोड पर बड़े-बड़े गड्ढ़े हो चुके है। यहां पानी भरा रहने से लोगों को पता नहीं चल पाता है। ऐसे में कई बार यहां हादसे हो चुके हैं। सूत्रों ने बताया कि यहां चार माह पहले एनएच अधिकारियों ने पांच-छह बड़े पाइप डाले हैं, लेकिन वो जहां डालने थे, वहां से थोड़ी आगे डाल दिए है। ऐसे में यहां लाखों रुपए खर्च करने के बाद भी समस्या का समाधान नहीं हुआ है। यहां प्रतिदिन निकलने वाले एडवोकेट प्रवीण पोसवाल व लालचन्द पाटीदार, राकेश कुमार आदि ने बताया कि जो पाइप डाले गए है वो सही जगह नहीं डाले अधिकारियों ने गंभीरता से काम नहीं किया है। इसकी वजह से फिर से आमजन को परेशानी हो रही है। यहां से निकलने में रात के समय काफी परेशानी आती है।
उखड़े जालों की नहीं ले रहे सूध-
शहर में जगह-जगह नालों के जाले उखड़े हुए है। लेकिन नगर परिषद के अधिकारियों का इस ओर कोई ध्यान नहीं है। शहर के पीजी कॉलेज के पास मूर्ति चौराहे पर कई दिनों से नाले पर लगा जला उखड़ा हुआ है, पास में एक गहरा गड्ढा हो रहा है, जिस पर लोगों ने पत्थर खड़ा कर रखा ताकि कोई उसमें गिरे नहीं। लेकिन जिम्मेदार अधिकारियों का इस ओर कोई ध्यान नहीं है।
यहां हो सकता है हादसा-
शहर के मिनी सचिवालय के सामने सर्विस लेन पर बड़ा गड्ढा हो रहा है। यहां बारिश के दौरान पानी भरा होने से कभी ये गड्ढ़ा नजर नहीं आने पर कभी कोई बड़ा हादसा हो सकता है। ऐसे में नगर परिषद को इसे सही करवाना चाहिए। इतना ही नहीं हाउसिंग बोर्ड मोड पर रोड पर ही गड्ढ़ा हो रहा है। तथा झिरनियां में सर्विलस लेन रोड ही नीचे धंस गया है, ऐसे में यहां भी लोगों को निकलने में खासी परेशानी उठानी पड़ रही है। ऐसे में जिम्मेदार अधिकारियों को लोगों की परेशानी की ओर ध्यान देना चाहिए।
यहां बनाया सीसी रोड अधूरा छोडा-
शहर के दुर्गपुरा रोड पर आधा किलोमीटर सीसी रोड बना दिया है। लेकिन तालाब के पास वाला कॉर्नर को अधूरा ही छोड़ दिया है। ऐसे में यहां पानी भरा रहता है। कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है।
सही करवाने के निर्देश -
शहर में जहां भी रोड खराब है या नालों के ढ़कान क्षतिग्रस्त हो रहे हैं। उन्हे एक सप्ताह में सही करवाने के निर्देश निर्माण शाखा को दिए है। मिनी सचिवालय व दुर्गपुरा रोड पर जहां भी रोड खराब है,सही करवा देंगे।
अशोक कुमार शर्मा, आयुक्त नगर परिषद, झालावाड़।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

BJP ने देश विभाजन पर वीडियो जारी कर जवाहर लाल नेहरू पर साधा निशाना, कांग्रेस ने किया पलटवारIndependent Day पर देशभर के 1082 पुलिस जवानों को मिलेगा पदक, सबसे ज्यादा 125 जम्मू कश्मीर पुलिस कोहरियाणा में निकली 6600 फीट लंबी तिरंगा यात्रा, मनाया जा रहा आजादी के अमृत महोत्सव का जश्नIndependence Day 2022: लालकिला छावनी में तब्दील, जमीन से आसमान तक काउंटर-ड्रोन सिस्टम से निगरानी14 अगस्त को 'विभाजन विभिषिका स्मृति दिवस' मनाने पर कांग्रेस का BJP पर हमला, कहा- नफरत फैलाने के लिए त्रासदी का दुरुपयोगOne MLA-One Pension: कैप्टन समेत पंजाब के इन बड़े नेताओं को लगेगा वित्तीय झटकाइसलिए नाम के पीछे झुनझुनवाला लगाते थे Rakesh Jhunjhunwala, अकूत दौलत के बावजूद अधूरी रह गई एक ख्वाहिशRakesh Jhunjhunwala Net Worth: परिवार के लिए इतने पैसे छोड़ गए राकेश झुनझुनवाला, एक दिन में कमाए थे 1061 करोड़
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.