कोरोना का कोहराम, परीक्षा स्थगित, खाली हुए छात्रावास


-कोराना के चलते कोटा विश्वविद्यालयव व आरबीएसई व सीबीएसई बोर्ड की परीक्षाएं स्थगित

- एन वक्त पर हटाया हाट

झालावाड़.कोराना ने आम-जन को अस्त-व्यस्त कर दिया है। चारों तरफ कोराना ने को-हराम मचा रखा है। स्कूल बंद हो गए है, तो रोडवेज में भी यात्रियों की संख्या कम हो चुकी है। कोराना के चलते लोग सर्तक हो चुके हैं, लोगों ने मास्क पहनना शुरू कर दिया है। कोराना की वजह से जिले में कोटा विश्वविद्यालय व राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की परीक्षाएं स्थगित हो चुकी है।

बोर्ड परीक्षाएं स्थगित-
राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड परीक्षाएं स्थगित कर दी गई है। एडीओ ओमप्रकाश चौधरी ने बताया कि बोर्ड सचिव मेघना चौधरी ने आदेश जारी कर बताया कि राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की 10 वीं व 12वीं बोर्ड की परीक्षाएं 31 मार्च तक स्थगित कर दी गई है। इन परीक्षाओं की नवीन तिथियां बाद में समाचार पत्रों में प्रकाशित की जाएगी। वहीं केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के 10 वीं व 12वीं की परीक्षाएं भी स्थगित कर दी गईहै। केन्द्रीय विद्यालय के प्रार्चाय जीआर मीणा ने बताया कि बोर्ड परीक्षाओं के लिए 31 मार्च बाद अलग से सूचना जारी की जाएगी। जब तक कोराना के चलते सभी परीक्षाएं स्थगित की जाती है। वहीं मीणा ने बताया कि केन्द्रीय विद्यालय के शैक्षणिक व गैर शैक्षणिक कर्मचारियों का भी अवकाश रहेगा। लेकिन उन्हें मुख्यालय पर ही रहने के निर्देश दिए गए है। वहीं पांचवी व 8 वीं कक्षाओं की परीक्षाएं भी स्थगित कर दी गई है।

कोटा विश्वविद्यालय की परीक्षाएं स्थगित-
जिले में संचालित सभी महाविद्यालयों में कोटा विश्वविद्यालय की चल रही परीक्षाएं स्थगित कर दी गई है। परीक्षा नियंत्रक प्रवीण भार्गव ने बतया कि विश्वविद्यालय द्वारा संचालित सभी परीक्षाएं 31 मार्च तक स्थगित कर दी गई है। 31 मार्च तक स्थिति सामान्य होने के बाद ही कॉलेज परीक्षाओं की तिथि की घोषणा की जाएगी। शुक्रवार को कई विद्यार्थियों का पेपर था,ऐसे में शुक्रवार से ही विषयों की परीक्षा निरस्त कर दी गई है।

बसों में 8 फीसदी यात्री भार हुआ कम-
कोराना के कहर के चलते बसों में यात्री भार में कमी आती जा रही है। चीफ मैनेजर अतुल यादव ने बताया कि तीन दिन में करीब 10 बसे निरस्त हो गई है। यात्री भार में गुरुवार को करीब 8 फीसदी की कमी आई है। मुख्यालय से हर हाल में बसे चलाने के निर्देश है, ताकि किसी भी प्रकार की परेशानी नहीं हो। हालांकि चालक व परिचालकों की कमी भी परेशानी बनी हुई है।

हाट में आए दुकानदारों को हटाया,फिर आ जमे दुकानदार-
कोराना के चलते गुरुवार को हाट निरस्त कर दिया है। जिला प्रशासन ने पुलिस की मौजूदगी में दुकानदारों को हटाया। लेकिन इसके थोड़ी देर बाद ही दुकानदार फिर से आ जमे उन्हें नगर परिषद प्रशासन नहीं हटा पाया।

कारागाह में किया स्प्रे-
गुरूवार को कोराना से बचाव के लिए कारागाह में सोडियम हाइपोक्लोराइड का स्प्रे किया गया है। तथा कारागाह में करीब 450 से कैदियों की गुरुवार को जांच करवाई गई है। जेल अधीक्षक राजपाल सिंह ने बताया कि बाहर से आने वाले कैदियों की आते ही जांच करवाई जा रही है। जुकाम,खांसी के मरीजों की जांच करवा रहे हैं, एक सप्ताह तक उसकी पूरी मॉनिटरिंग की जा रही है।

नर्सिंग स्टाफ ने समझाया-
एसआरजी चिकित्सालय में बाहर से चार विद्यार्थी कोराना की जांच करवाने के लिए आए थे। इनमें से एक उदयपुर व एक अमेरिका से आया था। ऐसे में एक विद्यार्थी को विडाल पॉजिटिव आने पर नर्सिंग स्टाफ इलाज दे रहा था, साथ में आए दो विद्यार्थी जांच करवाने से डर गए। ऐसे में एसआरजी चिकित्सालय के नर्सिंग स्टाफ व चिकित्सकों ने समझाइश की, इसके बाद विद्यार्थी जांच करवाने के लिए तैयार हुए।

खांसी-जुकाम,बुखार के अलग व्यवस्था-
एसरआरजी चिकित्सालय में खांसी-जुकाम व बुखार क ेलिए रूम नंबर 161 में अलग व्यवस्था की गई है। कांउटर नंबर 8 पर खांसी-जुकाम व बुखार के मरीजों के लिए रजिस्ट्रेशन की अलग व्यवस्था की गई है। वहीं आरआईसीयू में आईसोलेशन वार्ड बनाया गया है। तथा एमआईसीयू की तरफ जाने वाले रास्ते को बंद कर दिया गया है। चिकित्सा प्रशासन कोराना को लेकर सर्तक नजर आ रहा है।

harisingh gurjar Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned