अभियंता उमाशंकर शर्मा को एसीबी ने 8 हजार रूपए की रिश्वत के साथ रंगे हाथों किया गिरफ्तार

Hari Singh Gujar

Publish: Apr, 10 2019 03:02:17 PM (IST) | Updated: Apr, 10 2019 03:02:18 PM (IST)

Jhalawar, Jhalawar, Rajasthan, India

 

झालावाड़.जिले में एक सप्ताह में एसीबी की टीम ने दूसरी कार्रवाई की। टीम द्वारा समग्र शिक्षा अभियान के सहायक अभियंता उमाशंकर शर्मा को 8 हजार रूपए की रिश्वत के साथ रंगे हाथों गिरफ्तार किया। एसीबी के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक भवानीशंकर मीणा ने बताया कि परिवादी जगदीश लोधा ने 5 अप्रेल को प्रार्थना पत्र दिया था, इसका सत्यापन किया गया।

रनिंग बिल पर 2 फीसदी मांग रहा था कमिशन-
आरोपी द्वारा परिवादी के प्रथम व द्वितीय रनिंग बिल की राशि 769000 का 2 प्रतिशत कमिशन के रूपए में 15380 रूपए रिश्वत के मांग रहा था। इस पर आरोपी को 7 हजार दिए जाने के दौरान सत्यापन किया गया और शेष राशि देने के लिए कहा गया इस पर 8 अप्रेल को 8 हजार रूपए के साथ आरोपी अभियंता उमाशंकर शर्मा को उसके झालावाड़ कोतवाली के पीछे स्थित घर से रंगे हाथों ट्रेप किया।

दो कमरों के निर्माण की एवज में ले रहा था कमिशन-
मनोहरथाना के आंवलहेडा गांव के एक ठेकेदार की मैसर्स जगदीश सप्लायर्स के नाम से फर्म है, जिसने राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय मनोहरथाना में दो कमरों का निर्माण कराया था। जो पूर्ण हो गए है,इन कमरों को तत्कालीन जिला कलक्टर ने उद्घाटन भी कर दिया था। इसके बाद भी आरोपी अभियंता पैसे मांग रहा था।

जब तब 15 रूपए लेकर नहीं आएगा फाइनल बिल पास नहीं होने दूंगा-
आरोपी ने फर्म के ठेकेदार से कहा कि तेरा एक बिल पहले भी पास कर दिया था, उसका भी तू कुछ नहीं देकर गया है। जब दोनों बिलों के 15 हजार रूपए लेकर नहीं आएगा, तब तेरा अंतिम बिल पास नहीं होने दूंगा। इसपर सोमवार को आरोपी अभियंता को स्वयं के अग्रसेन स्थित मकान नंबर 40 से 8 हजार रूपए के साथ ट्रेप कर लिया है। रिश्वत की राशि पलंग के नीचे व कागजों के नीचे इधर-उधर छूपा रखी थी। जहां से एसीबी टीम ने बरामद कर ली।

कार्य की राशि-
स्कूल में हो रहे कार्य की राशि 12,25,229 रूपए है कार्य शुरू होने की तिथि 2 सितम्बर 2018 व कार्य समाप्ति की तिथि 24 अगस्त 2018 थी।
घर की तलाशी में मिले एक लाख से अधिक-
एसीबी की टीम ने आरोपी अभियंता के घर की तलाशी ली तो एक लाख 8 हजार रूपए नकद मिले है। तथा कुछ बैंक पास बुक,जमीन आदि के कागज मिले है, ये किस के नाम है खरीदने की क्षमता रखते है या नहीं आदि जांच करेंगे। बरामद पैसे इधर-उधर कई स्थानों से मिले हैं।


घर से चलाता है ऑफिस-
आरोपी अभियंता घर से ही ऑफिस चलाता है, घर पर ठेकेदारों को बुलाकर कमिशन लेता है,नहीं देने पर परेशान करता है। सोमवार को वर्किंग डे होने के बाद भी घर पर ही बैठा हुआ था। कार्रवाई करने वाली टीम में गोपाल, सूरज मीणा, मो. अशफाक, देवदानसिंह प्रमेश कुमार आदि टीम के सदस्य जांच अरोपी से जब्त रूपए आदि सील के साथ पैक करने में जुटे हुए थे।


क्या है समग्र शिक्षा-
ये राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान (समसा) और सर्व शिक्षा अभियान (एसएसए) का समन्वय कर राजस्थान स्कूल शिक्षा परिषद(समग्र शिक्षा)नाम किया गया है। जो स्कूलों में बनने वाले कमरे व कक्षा कक्षों का निर्माण करवाया है, साथ ही स्कूलों में होने वाले सभी प्रकार के विकास कार्य भी इसी के माध्यम से होता है। इसी में ये उमाशंकर शर्मा सहायक अभियंता थे। जो विकास कार्यों में 2 फीसदी कमिशन लेने का खेल कर रहे थे।
रिपोर्ट- हरिसिंह गुर्जर

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned