किसानों ने बैलगाडिय़ों व ट्रैक्टरों से निकाली रैली

Jagdish Paraliya

Updated: 20 Sep 2019, 10:56:15 AM (IST)

Jhalawar, Jhalawar, Rajasthan, India

किसान परिवार सहित उतरे सड़क पर
पिड़ावा. भारतीय किसान संघ के प्रांत और जिला पदाधिकारियों सहित हजारों महिला पुरुष किसानों ने गुरुवार को कृषि उपज मंडी परिसर से ट्रैक्टर-ट्रॉली से रैली निकाली । इससे पहले 10 सूत्री मांगों को लेकर जोरदार नारेबाजी की। रैली कृषि उपज मंडी से होते हुए 56 दरवाजा, मेला मैदान, नयापुरा, तलाई चौक, बस स्टैंड, कोठड़ी चौराहा, सात ड्रम चौराहा, नाका होते हुए पुन: कृषि मंडी में पहुंची। रैली समाप्त होने के बाद कृषि उपज मंडी परिसर में हजारों की तादाद में उपस्थित किसानों की आमसभा हुई।
इसमें जिला प्रचार प्रमुख मुकेश मेहर ने बताया की 10 सूत्री मांग को लेकर पिड़ावा, रायपुर, सुनेल तहसील के हजारों किसानों ने अतिवृष्टि से खराब हुई शत-प्रतिशत नुकसान को लेकर बैलगाड़ी व लगभग 150 ट्रैक्टर-ट्रॉली की संख्या में रैली निकाली। क्षेत्र की संपूर्ण फसल खराब हो गई है, इसके लिए शासन व प्रशासन को रैली के माध्यम से मुआवजा व प्रधानमंत्री बीमा क्लैम खेत इकाई को मानकर बीमा क्लेम दिलाने की मांग की।
भारतीय किसान संघ ने मांग की है कि सरकार समय रहते किसान हित में कदम उठाए नहीं तो किसान अनिश्चितकालीन रोड पर आकर प्रदर्शन करेंगे। इस दौरान प्रांत महामंत्री जगदीश कलमंड़ा, प्रांत प्रचार प्रमुख हेमराज यदुवंशी, प्रांत मंडी विपणन प्रमुख सीताराम नागर, जिलाध्यक्ष रघुनाथ सिह सवावत, जिलामंत्री राधेश्याम गुर्जर, युवा प्रमुख महेश मेहर,पिड़ावा तहसील अध्यक्ष धनसिंह गुर्जर, रायपुर तहसील अध्यक्ष मनोहर लाल दांगी, बालचंद दांगी, शोभाराम दांगी, राकेश कारपेन्टर, राजू दांगी, लालसिंह, कारूलाल दांगी, रामलाल दांगी सहित किसान संघ के अन्य पदाधिकारी मौजूद रहे। सभा के बाद एसडीएम को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा।
ये हैं मांगें
सरकार बनाने के उद्देश्य से किसानों को दिए वचन के अनुसार सभी किसानों को 2 लाख तक का कर्ज सभी बैंकों का माफ करें। बिना किसी शर्त के, वर्तमान में लगभग 90 प्रतिशत खराब हो चुकी फसलों का वास्तविक मूल्यांकन कर किसानों को मुआवजा दिया जाए। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत किसानों को बीमा कंपनी द्वारा फसल खराबे का शत प्रतिशत क्लैम दिया जाए। सहकारिता के क्षेत्र में किसानों को आ रही समस्या का समाधान किया जाए। वर्तमान में खरीफ की फसल अत्यधिक क्षेत्र में खराब हो चुकी है, ऐसी बदहाली में किसान को आने वाली रबी की फसल उत्पादन में आवश्यक विद्युत कृषि कनेक्शन बिल एवं घरेलू बिजली बिल देने की स्थिति में नहीं हैं, अत: 6 माह तक का बिजली बिल माफ किया जाए। आगामी समय में 6 मासिक बिल की व्यवस्था की जाए।
गागरिन, राजगढ़, रोशनबाड़ी, आहू चंवली लिंक केनाल परियोजनाओं से प्रभावित किसानों की जमीन का बकाया मुआवजा राशि किसानों को दी जाए, साथी विस्थापित परिवारों को दिए आवासी प्लॉट को रजिस्टर कर मालिकाना हक दिया जाए, साथी पुनर्वास की राशि भी दी जाए, ढ़ाबलाभोज से पंछावा माताजी गैलाना से राजगढ़, सलोतीया से बान्याखेड़ी सड़क का निर्माण कराया जाए तथा कड़ोदिया, माथनिया, हिम्मतगढ़ में निर्माणाधीन अस्पताल भवन निर्माण में आ रही अनियमितताओं को दूर किया जाए, खरीफ 2018 फसल बीमा में पोर्टल पर बैंकों द्वारा गलत जानकारी अपलोड करने की वजह से क्लेम सैकड़ों किसानों को बीमा कंपनी द्वारा दिया जाए।


उचित मुआवजा मिले
मनोहरथाना/अकलेरा. मनोहरथाना के शीतला माता मंदिर पर भारतीय किसान संघ के कार्यकर्ताओं की बैठक हुई। तहसील प्रचारक नेमीचंद लोधा ने बताया कि क्षेत्र में फसल 90 फसल खराब है। कार्यकर्ताओं ने एसडीएम उपखंड कार्यालय मनोहरथाना के नाम ज्ञापन देकर उचित मुआवजा दिलाने की मांग की। वहीं
24 सितंबर के पहले कार्रवाई नहीं होती है, तो भारतीय किसान संघ मनोहरथाना में महारैली करके धरना प्रदर्शन करेगा। जिला प्रभारी राजेंद्र वर्मा, पप्पू लाल तंवर, तहसील मंत्री मुकुट बिहारी लोधा, रवि शर्मा, ग्राम समिति अध्यक्ष अनार सिंह, प्रेमचंद कोली, कालू लाल लोधा और राजेंद्र कुमार लोधा आदि मौजूद थे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned