scriptरोजगार बढ़ाने पर दें ध्यान, परिवहन के साधन बढ़े तो बने बात | 10 जुलाई को वित्त वर्ष 2024-25 का बजट पेश किया जाएगा। | Patrika News
झालावाड़

रोजगार बढ़ाने पर दें ध्यान, परिवहन के साधन बढ़े तो बने बात

-प्री-बजट परिचर्चा

झालावाड़Jun 19, 2024 / 11:49 am

harisingh gurjar

-प्री-बजट परिचर्चा

.भजनलाल सरकार का 16वीं विधानसभा का दूसरा सत्र 3 जुलाई को शुरू हो रहा है। सत्र में 10 जुलाई को वित्त वर्ष 2024-25 का बजट पेश किया जाएगा। बजट सत्र करीब एक माह चल सकता है। इस बजट में जिलेवासियों को भी कई उम्मीदें है। जिलेवासियों से प्री-बजट परिचर्चा की तो कई मुद्दे सामने आए है। जिसमें रोजगार, सड़क, उद्योग, परिवहन के साधन, कृषि यंत्रों में छूट, ग्रामीण विकास सहित मुद्दों पर जिले के लोगों ने अपने विचार व्यक्त किए।
ऐसे बताई अपनी उम्मीदें-

01.राजस्थान सरकार के जुलाई में आने वाले बजट से युवाओं को बहुत उम्मीदें हैं, जल्द नई भर्तियां की जानी चाहिए। खासकर जिले में रोजगार के अवसर बिलकुल नहीं है। जिले के युवाओं के लिए यहां दो-तीन बड़े उद्योग लगाए जाने चाहिए, ताकि युवाओं को अन्य राज्यों में पलायन नहीं करना पड़े।
अरविंद भील, पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष।

02.जिले में परिवहन की गंभीर समस्या हैं,इसलिए जिले में रोडवेज की कम से कम 30 नई बसें मिलनी चाहिए। ताकि ग्रामीण लोगों को आवागमन में आसनी रहे।निजी साधनों के चक्कर में आर्थिक नुकसान नहीं हो व समय पर अपने गंतव्य तक पहुंच सके।
दुर्गालाल चौहान, एडवोकेट

03.आगामी बजट में किसान सम्मान निधि को बढ़ाए एवं खेती के उपकरण जिसमें ट्रैक्टर ट्रॉली, थ्रेसर मशीन, हल, बुबाई मशीन आदि में भी सब्सिडी दी जाए।कृषि यंत्रों पर दिए जाने वाले अनुदान को बढ़ाकर पंरम्परागत खेती पर जोर देना चाहिए। ताकि जहर मुक्त खेती हो सके।
गौपाल लाल,किसान

04.महंगाई को देखते हुए वृद्धावस्था, विधवा पेंशन में उचित की जानी चाहिए। अभी कई बुजुर्ग लोगों को जिनके कोई कमाने वाला नहीं है उन्हे भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। बजट में इसके लिए अलग से बजट का प्रावधान करना चाहिए।
दीपचंद मेघवाल,

05.युवाओं को रोजगार से जोडऩे के लिए कौशल संपन्न बनाना चाहिए। इसके लिए युवा विकास के नाम से बजट में अलग राशि जारी करें सरकार ताकि बेरोजगारी की भीड़ कम हो सकें।
कार्तिक ठाकुर

06.झालावाड़ जिले में आदिवासियों के लिए उदयपुर के आदिवासी क्षेत्र की तर्ज पर अलग से बजट देने की घोषणा करना चाहिए। अभी जिले में कोलाना, चंगेरी जैसे कई गांव है जो शहर के निकट होने के बाद भी वहां सुविधाएं नहीं मिल पा रही है। इनके लिए अलग से बजट जारी हो।
विशाल भील, गोपाल भील

07.जिले में बड़ी संख्या में बांध व नदियां है फिर भी यहां कृषि से जुड़ा कोई उद्योग नहीं लग पाया है। जिले में संतरा, लहसुन व धनियां प्रोसेसिंग इकाई लगनी चाहिए, ताकि हजारों युवाओं को रोजगार मिल सकेगा।
दीपचंद

08.झालावाड़ जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में अभी भी सड़कें नहीं है। ग्रामीणों की सामाजिक स्थिति सुधारने के लिए ग्रामीण विकास के लिए अलग से बजट दिया जाएं। मंडियों का विकास कर सुविधाएं बढ़ाई जाएं।
मुकेश व शंकर मेघवाल

Hindi News/ Jhalawar / रोजगार बढ़ाने पर दें ध्यान, परिवहन के साधन बढ़े तो बने बात

ट्रेंडिंग वीडियो