फिल्मी दुनिया के लिए हर विषय की लोकेशन है गागरोन-सीमा कपूर

फिल्मी दुनिया के लिए हर विषय की लोकेशन है गागरोन-सीमा कपूर

Jitendra Jaikey | Publish: Dec, 27 2018 05:48:38 PM (IST) Jhalawar, Jhalawar, Rajasthan, India

-निर्माता-निर्देशक पहुंची अगले धारावाहिक की शूटिंग के लिए
-महिलाओं की वास्तविक जिंदगी पर होगा चित्रण

फिल्मी दुनिया के लिए हर विषय की लोकेशन है गागरोन-सीमा कपूर
-निर्माता-निर्देशक पहुंची अगले धारावाहिक की शूटिंग के लिए
-महिलाओं की वास्तविक जिंदगी पर होगा चित्रण
-जितेंद्र जैकी-
झालावाड. प्रख्यात सिने अभिनेता ओम पुरी की पत्नी व अन्नूकपूर की बहन, फिल्म निर्माता निर्देशक सीमा कपूर अगले माह से जिले में अपने नए धारावाहिक एकलव्य की शूटिंग शुरुआत गागरोन से करेगी। इस दौरान फिल्म जगत की कई हस्तियोंं के भी यहां पहुंचने की सम्भावना है। उन्होने गागरोन सहित जिले के अन्य स्थल देखे। गुरुवार को शूङ्क्षटग की लोकेशन देखने के दौरान उन्होने राजस्थान पत्रिका संवाददाता जितेंद्र जैकी के साथ बातचीत करते हुए कहा कि वर्तमान में फिल्म व सीरियल में महिलाओं को सिर्फ विलेन या फिर दयनीय स्थिति में ही दिखाया जा रहा है जबकि महिलाओं की वास्तविक स्थिति पर फिल्मी दुनिया का ध्यान कम है इसलिए वह महिलाओं पर अपनी फिल्म व धारावाहिक केंद्रित करती है। इस कारण उन्होने ओम पुरी के मार्ग दर्शन में 'हाटÓ द विकली बाजार, मिस्टर कबाड़ी जैसी फिल्में बनाई व कई धारावाहिकों का निर्माण किया। उनके अगले धारावाहिक में भी महिलाओं की स्थिति को दर्शाया जा रहा है।
-धारावाहिक एकलव्य
सीमा कपूर निर्देशित धारावाहिक 'एकलव्यÓ की शूटिंग झालावाड़ जिले से फरवरी में शुरु होगी। उन्होने बताया कि महाभारत युग में एकलव्य एक महान धनुधारी योद्वा हुए है। लेकिन उनके धारावाहिक में एक ग्रामीण बालिका को तीर-धनुष के माध्यम से अपनी प्रतिभा को पूरे देश के सामने लाने का प्रयास होगा। उन्होने बालिका को एकलव्य जैसा पात्र प्रस्तुत किया है।
-'हाटÓ द विकली बाजार को मिली प्रसिद्वी
फिल्म निर्माता निर्देशक सीमा कपूर ने बताया कि ग्रामीण महिलाओं के उत्पीडऩ पर बनी उनकी फिल्म 'हाटÓ द विकली बाजार को बेस्ट स्क्रीन प्ले का पुरस्कार मिला है व अब उसका राष्ट्रपति पुरस्कार के लिए भी चयन हुआ है। इस फिल्म को लंदन टंग्स ऑफ फायर में नामिनेट किया गया। इसमें सिर्फ महिला प्रोड्यूसर, महिला निर्माता निर्देशक द्वारा महिलाओं पर बनाई विशेष फिल्मों को ही शामिल किया जाता है। एशियन फिल्म फेस्टिवल में यह तृतीय स्थान पर रही। गोवा फिल्म फेस्टिवल में भी इसको शामिल किया गया। इण्डियन पेनोरमा में शामिल कर इसे राष्ट्रपति पुरस्कार के लिए चयनित किया गया है। जागरण अंतरराष्ट्रीय फिल्म फेस्टिवल में इसे बेस्ट स्क्रीन प्ले का अवार्ड मिला। इस फिल्म में अर्चना पूरण सिंह, दिव्या दत्ता, मुकेश तिवारी, यशपाल शर्मा जैसे कलाकारों ने काम किया है।
-कई धारावाहिक भी बनाए
सीमा कपूर ने सबसे पहले १९८७ में 'किले का रहस्यÓ नामक धारावाहिक बनाया जो दूर दर्शन पर खूब चला। इसके बाद उन्होने 'बाबूजी का सर्कस, रिश्ते, आवाज दिल से दिल तक, पद चिंह व 'मेरा गांव मेरा देशÓ धारावाहिक बनाए। उन्होने छत्तीसगढ़ व उड़ीसा के बीच बहने वाली महानदी पर डोक्यूमेंट्री भी बनाई। वर्तमान में वह एक तवायफ की जिंदगी पर भी फिल्म शुरु करने जा रही है। उसकी भी अधिकांश शूटिंग झालावाड़ में की जाएगी। उन्होने कहा कि जिले में सबसे खूबसूरत लोकेशन विश्व धरोहर में शामिल जलदुर्ग गागरोन की है। इसके आसपास हर विषय की फिल्म की शूटिंग की जा सकती है।
-मैत्री संस्था की होगी शुरुआत
सीमा कपूर ने अपनी मां के नाम पर 'शबनम मैत्रीÓ संस्था बनाई है जो पूरे देश में ग्रामीण अंचल की उपेक्षित व शोषित महिलाओं व बच्चों की स्थिति को सुधारने का प्रयास करेगी।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned