scriptHolding the hand of the mother covered in blood, the innocent kept sho | Mega Highway Accident...खून से लथपथ मां का हाथ पकड़कर मासूम चिल्लाता रहा मंमी.. मंमी..., मां की वेंटिलेटर पर मौत | Patrika News

Mega Highway Accident...खून से लथपथ मां का हाथ पकड़कर मासूम चिल्लाता रहा मंमी.. मंमी..., मां की वेंटिलेटर पर मौत

दुर्घटना में घायल पूनम शर्मा की हालत सबसे ज्यादा गंभीर थी। अस्पताल के आपातकालीन वार्ड तक पहुंचते-पहुंचते उसके हृदय ने भी काम करना बंद कर दिया था, लेकिन यहां तैनात चिकित्सकों ने सीपीआर कर उसकी जान बचाई जिसके बाद उसे अस्पताल के आईसीयू वेंटीलेटर पर रखा गया था, लेकिन यहां मौत से जंग लड़ते हुए पूनम की सोमवार दोपहर को मृत्यु हो गई

झालावाड़

Updated: June 13, 2022 05:12:50 pm

झालरापाटन . भवानी मंडी मेगा हाइवे पर रविवार रात तीर्थयात्रियों की कार डिवाइडर से टकराकर पलट गई। इसमें महिला की उपचार के दौरान मृत्यु हो गई जबकि दो लोग गंभीर घायल हैं। कार में कुल 6 लोग सवार थे, जिनमें मृतका का 5 वर्षीय बच्चा भी शामिल है। कार सवार सभी लोग रिश्तेदार हैं। पुलिस ने बताया कि मध्य प्रदेश के भिंड मुरैना निवासी परिवार 11 जून की रात को इंदौर से खाटू श्याम दर्शन के लिए गया था, यहां से रविवार रात यह तीर्थयात्री वापस इंदौर के लिए जा रहे थे कि सिंघानिया टोल नाका के पास इनकी कार डिवाइडर से टकराकर दुर्घटनाग्रस्त हो गई।
जाको राखे साइयां मार सके ना कोई
Mega Highway Accident...खून से लथपथ मां का हाथ पकड़कर मासूम चिल्लाता रहा मंमी.. मंमी..., मां की वेंटिलेटर पर मौत
Mega Highway Accident...खून से लथपथ मां का हाथ पकड़कर मासूम चिल्लाता रहा मंमी.. मंमी..., मां की वेंटिलेटर पर मौत
दुर्घटना में घायल महिला पूनम शर्मा की झालावाड़ राजकीय जिला चिकित्सालय में सोमवार को उपचार के दौरान मृत्यु हो गई। उसका भाई विष्णु शर्मा गंभीर रूप से घायल है। उसका चिकित्सालय में उपचार चल रहा है। कार में मृतका का 5 वर्षीय पुत्र अर्थव भी मौजूद था। परिजनों ने बताया कि यह बालक उसकी मां के बिल्कुल पास चिपक कर बैठा था, लेकिन इतने बड़े हादसे में उसको एक खरोच तक नहीं आई। इसी तरह कार सवार आशिक व शुभम भी इस दुर्घटना में पूरी तरह से सुरक्षित बच गए, लेकिन कार चला रहा धर्मेंद्र गंभीर रूप से घायल हो गया।
राहगीरों ने पहुंचाया अस्पताल
कार पलटने के बाद मेगा हाइवे पर गुजर रहे राहगीरों ने सभी घायलों को जिला चिकित्सालय पहुंचाया। सूचना मिलने के बाद सदर थाना पुलिस अस्पताल पहुंची और घायलों के बयान लिए।
7 घंटे मौत से जंग लड़ी पूनम ने
दुर्घटना में घायल पूनम शर्मा की हालत सबसे ज्यादा गंभीर थी। अस्पताल के आपातकालीन वार्ड तक पहुंचते-पहुंचते उसके हृदय ने भी काम करना बंद कर दिया था, लेकिन यहां तैनात चिकित्सकों ने सीपीआर कर उसकी जान बचाई जिसके बाद उसे अस्पताल के आईसीयू वेंटीलेटर पर रखा गया था, लेकिन यहां मौत से जंग लड़ते हुए पूनम की सोमवार दोपहर को मृत्यु हो गई।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

मौसम अलर्ट: जल्द दस्तक देगा मानसून, राजस्थान के 7 जिलों में होगी बारिशइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलस्कूलों में तीन दिन की छुट्टी, जानिये क्यों बंद रहेंगे स्कूल, जारी हो गया आदेश1 जुलाई से बदल जाएगा इंदौरी खान-पान का तरीका, जानिये क्यों हो रहा है ये बड़ा बदलावNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयमोदी सरकार ने एलपीजी गैस सिलेण्डर पर दिया चुपके से तगड़ा झटकाजयपुर में रात 8 बजते ही घर में आ जाते है 40-50 सांप, कमरे में दुबक जाता है परिवार

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: आदित्य को छोड़ शिवसेना के सारे MLA Minister हुए बागी, उद्धव ठाकरे के साथ बचे सिर्फ MLC मंत्रीMaharashtra Political Crisis: महाराष्ट्र में क्या बन रहे हैं नए सियासी समीकरण? बागी एकनाथ शिंदे ने राज ठाकरे से की फोन पर बातचीतPunjab Budget LIVE Updates: वित्तमंत्री हरपाल चीमा ने कहा- सभी जिलों में बनाए जाएंगे साइबर अपराध क्राइम कंट्रोल रूममनी लॉन्ड्रिंग मामले में सत्येंद्र जैन को बड़ी राहत, कोर्ट ने हिरासत अवधि बढ़ाने से किया इनकार, जानिए क्या बताई वजहRajasthan Invest Summit : कांग्रेस शासित राजस्थान में 1.68 लाख करोड़ के निवेश की तैयारी में Rahul Gandhi के 'Double A'Ram Nath Kovind Vrindavan Visit : राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद वृंदावन पहुंचे, सीएम योगी ने किया स्वागत, जानें पूरा कार्यक्रमExclusive Interview: राष्ट्रपति उम्मीदवार यशवंत सिन्हा को किस आधार पर जीत की उम्मीद और क्या बोले आदिवासी महिला के खिलाफ उम्मीदवारी परकभी सीएम नीतीश कुमार के खास माने जाने वाले RCP सिंह ने क्यों कहा- 'मैं किसी का हनुमान नहीं'
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.